बैंक से दगाबाजी की कोशिश में धरे गए 420

Lakhimpur Updated Sun, 06 May 2012 12:00 PM IST
फर्जी प्रपत्रों के सहारे 10 लाख का ऋण लेने का प्रयास किया था
पीड़ित किसान की निशानदेही पर तीन आरोपी धरे
सभी सीतापुर के रहने वाले, रिपोर्ट दर्ज
लखीमपुर खीरी। फर्जी प्रपत्रों के सहारे एचडीएफसी बैंक से 10 लाख रुपये का लोन कराने की कोशिश का भंडाफोड़ हुआ है। शनिवार को बैंक से रुपया निकालने आए तीन लोगों को पुलिस ने पीड़ित किसानों की निशानदेही पर गिरफ्तार किया है, ये सभी सीतापुर जिले के निवासी हैं। पुलिस ने एक वकील के कथित मुंशी समेत तीन लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।
फर्जीवाडे़ के सहारे बैंक से लोन लेने का तानाबाना जिला सीतापुर में बुना गया था। ठगों ने सीतापुर के थाना तंबौर के गांव हरकी बेहड़ निवासी किसान सुरेश चंद तथा शांति देवी को निशाना बनाया था। इनकी जमीनों के इंतखाब तहसील से निकलवाकर फर्जी आईडी व फोटो का इस्तेमाल किया गया। ठगों ने दोनों किसानों की जमीन पर लोन लेने के लिए लखीमपुर की एचडीएफसी बैंक को चुना था। सारी औपचारिकताएं पूर्ण होने के बाद भुगतान के लिए बैंक ने खाते खोलने के साथ ही चेकबुक व एटीएम कार्ड भी जारी कर दिया था। शनिवार को भुगतान लेने के लिए तीनों ठग बैंक आए थे, लेकिन असली किसानों के बैंक पहुंचने से पकड़े गए।
पकड़े गए लोगों की पहचान राजेश कुमार निवासी ढपरा थाना रेउसा जिला सीतापुर, लल्लन निवासी मिर्जापुर थाना तालगांव और आशीष कुमार निवासी उमरिया थाना भदफर जिला सीतापुर के तौर पर हुई है। इसमें आशीष एक वकील का मुंशी बताया जाता है, जिसकी कागजों को तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका मानी जा रही है।
0000
ऐसे हुआ खुलासा
पीड़ित किसान हरकीबेहड़ निवासी सुरेश चंद के मुताबिक करीब एक माह पूर्व बैंक के अधिकारी सर्वे करने उसके घर पहुंचे थे, लेकिन उस वक्त वह घर पर मौजूद नहीं था। लिहाजा लोन संबंधी औपचारिकता पूर्ण करने के लिए महिलाओं से पूछताछ कर बैंक अधिकारी वापस लौट गए। शाम को घर लौटने पर महिलाओं ने इस बात की जानकारी सुरेश को दी, जिससे माथ ठनका। वह बैंक अधिकारियों की तलाश में दौड़भाग करने लगा। उधर, इसी गांव की महिला किसान शांति देवी, जिनकी एक साल पूर्व मृत्यु हो चुकी है के घर भी बैंक अधिकारी सर्वे करने पहुंचे थे। इस बात की जानकारी उनके पुत्र सुरेश कुमार को हुई, तो उन्हें भी मामला गड़बड़ नजर आया। बैंक में संपर्क करने पर दोनों किसानों ने लोन के लिए आवेदन करने से इंकार किया, जिसके बाद बैंक अधिकारी भी सकते में आ गए। एहतियातन बैंक ने अपने स्तर से मामले की दुबारा पड़ताल की और असली किसानों की निशानदेही पर फर्जी किसानों व कथित मुंशी को गिरफ्तार करवाया।
000
10 लाख रुपये का था खेल
सुरेश चंद की जमीन 4.95 लाख रुपये का लोन पास हुआ था। जबकि शांति देवी की जमीन पर पांच लाख रुपये निकालने की सभी औपचारिकताएं पूर्ण हो चुकी थीं। असली किसानों का नाम व जमीन जरूर प्रयोग हुआ था, लेकिन फोटो नकली किसानों की थी।
0000
पकड़ा गया कथित मुंशी आशीष कुमार पहले भी इसी बैंक में कई लोन करा चुका था। बैंक अधिकारी भी उसकी मदद लेते थे। अब इस खुलासे के बाद बैंक अधिकारी भी सकते हैं। आशंका इस बात की भी जताई जा रही है कि पहले भी इस तरह फर्जी प्रपत्रों के सहारे लोन लिया जा चुका है। बैंक अधिकारी भी पूरे मामले की पड़ताल में जुट गए हैं।
0000
कस्टमर प्वाइंट वेरीफिकेशन के दौरान सब कुछ ओके मिला था, लिहाजा लोन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी। फर्जीवाड़े की जानकारी बीते गुरुवार को असली किसानों के संपर्क करने से हुई थी, जिसके बाद मामले की गहराई से छानबीन की गई। चेकबुक व एटीएम आरोपियों से ले लिया गया है।
संजय कुमार, आरएम, एग्रीकल्चर लोन डिपार्टमेंट

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

आप विधायकों को हाईकोर्ट ने भी नहीं दी राहत, अब सोमवार को होगी सुनवाई

लाभ के पद के मामले में चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित करने के मामले में अब सोमवार को होगी सुनवाई।

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में ‘एनकाउंटर अभियान’ के तहत एक लाख का इनामी ढेर

यूपी एसटीएफ ने एक कार्रवाई के तहत इनामी बदमाश बग्गा सिंह को ढेर किया। जानकारी के मुताबिक एसटीएफ ने कार्रवाई लखीमपुर-खीरी के पास नेपाल बॉर्डर पर की है। बात दें कि बग्गा सिंह कई मामलों में वांछित था और इसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper