आयुर्वेदिक अस्पताल में चार साल से डॉक्टर नहीं

Kushinagar Updated Sat, 25 Jan 2014 05:45 AM IST
तुर्कपट्टी। स्थानीय बाजार स्थित आयुर्वेदिक चिकित्सालय में चार साल से डाक्टर नहीं हैं। यहां रोज औसतन 50 की संख्या में मरीज आते हैं। पर मरीजों का समुचित इलाज नहीं हो पा रहा। डॉक्टर की तैनाती के लिए लोग प्रशासन और जनप्रतिनिधियों तक आवाज उठा चुके। पर कही कोई सुनवाई नही है।
क्षेत्र के लोगों को चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के लिए दस साल पूर्व इस चिकित्सालय का निर्माण हुआ। शुरूआती वर्षों में स्थिति ठीक रही। रोजाना खिरिया, बलडीहा, चौबाइनपट्टी, सरिसवा, मठिया, झनकौल आदि दर्जनों गंावो से गरीब लोग इलाज के लिए आते थे। धीरे धीरे इस कें द्र की लोकप्रियता कम होती गई। अब मरीजों की संख्या भी घटती जा रही है। लोगों का कहना है कि बीते चार सालों से इस कें द्र पर कोई डॉक्टर आ ही नहीं रहा। केंद्र पर तैनात एक वार्डब्वाय का भी तबादला कही और हो गया। केंद्र पर परिचारक तैनात हैं। मरीज बताते है कि वह केंद्र पर कभी नही दिखता। फार्मासिस्ट सदनलाल गुप्ता अकेले केंद्र की साफ सफाई से लेकर मरीजों को देखने का काम करते है। केंद्र पर न हैंडपाइप है और न ही बिजली। मरीजों को पानी पीने काफी दूर जाना पड़ता है। केंद्र के सामने स्थित बड़े गड्ढे के कारण भी समस्या है। अक्सर गड्ढे में गिरकर लोग घायल होते रहते है। बीते बरसात में एक बालिका गड्ढे मेें लगे पानी में डूबते-डूबते बची। ग्राम प्रधान सुरेश जायसवाल और व्यापार मंडल के उपाध्यक्ष पुरूषोत्तम स्वर्णकार का कहना है कि कई बार प्रशासन के समक्ष मामला रखा गया। पर कोई समाधान नही हो रहा।

आयुर्वेद चिकित्सालय की व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिया जा रहा है। केंद्र पर चिकित्सक तैनात किया जाएगा।
रिग्जियान सैंफिल, जिलाधिकारी।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी का रिश्वतखोर लेखपाल कैमरे में कैद

ये वीडियो एक लेखपाल का है जो किसान से उसकी एक रिपोर्ट के लिए पांच हजार रुपये की मांग कर रहा है। वीडियो कुशीनगर की खड्डा तहसील का बताया जा रहा है।

7 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls