हर्षोल्लास के साथ मना दशहरा

Kushinagar Updated Fri, 26 Oct 2012 12:00 PM IST
पडरौना। असत्य पर सत्य की जीत का त्योहार दशहरा कुशीनगर जिले में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। पडरौना के रामलीला मैदान में हजारों लोगों ने रामलीला देखी और मेले का लुत्फ उठाया। उधर, तीन दिनों तक दुर्गा पूजा के बाद मां दुर्गा की तमाम मूर्तियां देर रात तक खिरकिया के झरही नदी में विसर्जित कर दी गईं।
पडरौना के राजदरबार के सामने रामलीला मैदान में हर साल की भांति इस वर्ष भी रावण का विशाल पुतला बनाया गया था। रामलीला मैदान में रामलीला हुई, जिसे देखने के लिए पडरौना शहर ही नहीं अगल-बगल गांवों के हजारों लोग एकत्र हुए थे। बच्चे, बूढ़े और नौजवानों से मेला खचाखच भरा हुआ था। रामलीला में कुम्भकर्ण और मेघनाद के संहार के बाद रामचंद्र ने रावण के विशाल पुतले में आग लगा दी। इसके बाद जोरदार आतिशबाजी के साथ रावण का पुतला जल उठा। करीब एक घंटे तक आकाश में आतिशबाजी होती रही। शाम को रावण के पुतला दहन के बाद लोगों ने मेले में जमकर खरीददारी की।
उधर, शारदीय नवरात्र की सप्तमी, अष्टमी और नवमी को मां दुर्गा की पूजा-अर्चना के बाद दशमी के दिन मूर्तियों की विधिवत विदाई हुई। महिलाओं ने मां दुर्गा और अन्य देवियों की खोइछा भराई की। आरती उतारी गई और इसके बाद मां दुर्गा की विदाई करने गांव-मुहल्ले के बाहर तक गीत गाते हुए गईं। मूर्तियों के साथ चल रहे युवक अबीर-गुलाल उड़ाते हुए तथा भक्ति गीतों पर नाचते हुए झरही नदी के घाट पर गए। पडरौना नगर के विभिन्न मुहल्लों, छावनी तथा अलग-बगल के गांवाें की तमाम मूर्तियां बुधवार को खिरकिया के झरही नदी में विसर्जित कर दी गईं। शाम के वक्त मूर्तियों के विसर्जन का जो सिलसिला शुरू हुआ वह देर रात तक जारी रहा। इस दौरान प्रशासन मुस्तैद दिखा।
तमकुहीरोड प्रतिनिधि के अनुसार बुधवार को तमकुहीरोड कस्बे के दुर्गा पंडालों में स्थापित प्रतिमाओं का विसर्जन बांसी नदी में धूमधाम से हुआ। मां थावे भवानी दुर्गा पूजन समिति स्वर्णनगर, मां जगराता दुर्गा पूजन समिति पटेलनगर, जय भवानी दुर्गा पूजन समिति सीसी रोड, नव दुर्गा पूजन समिति अम्बेडकर नगर, कालिका दुर्गा पूजन समिति पटेल नगर में स्थापित दुर्गा प्रतिमाआें के विसर्जन के दौरान इन कमेटियों के सदस्य अबीर-गुलाल उड़ाते तथा नाचते हुए बांसी नदी के घाट तक गए जहां मूर्तियों का विसर्जन किया गया।
रामकोला प्रतिनिधि के मुताबिक इलाके में विजयादशमी का त्योहार बड़े धूमधाम से मनाया गया। इसके साथ रामकोला कस्बे की मूर्तियां भी विसर्जित की गईं। कस्बे के बलुआ चौराहे पर ब्रह्मकुमारी संस्था ने एक पंडाल में मां दुर्गा सहित मां लक्ष्मी, मां सरस्वती, मां काली, शिवशंकर सहित महिषासुर मर्दिनी का सजीव मंचन किया। यह कार्यक्रम रामकोला नगर तथा अगल-बगल के गांवों में भी चर्चा का विषय रहा। नगर के युवा समाजसेवी हर्ष प्रताप सिंह ने अपने सहयोगियों के साथ रावण दहन का कार्यक्रम आयोजित किया। देर शाम रामकोला कस्बे से निकली झांकी रावण दहन के लिए पडरौना रोड स्थित खेतान चीनी मिल के गन्ना यार्ड तक गई और उसके बाद रावण के पुतले को आग लगा दी गई। उधर, ग्रामीण इलाकों में भी दशहरे की धूम रही। लोग एक-दूसरे के घर जाकर उन्हें प्रणाम करके आशीर्वाद लिए।
नेबुआ नौरंगिया प्रतिनिधि के अनुसार शारदीय नवरात्र के अवसर पर क्षेत्र में स्थापित मां दुर्गा तथा अन्य देवी-देवताओं की प्रतिमाएं शांतिपूर्ण माहौल में विसर्जित की गईं। क्षेत्र के श्री नव दुर्गा बाल युवा सेवा समिति नेबुआ रायगंज, मां दुर्गा पूजा सेवा समिति नौरंगिया तिराहा, देवगांव, खैरी, सेखुई, अमवा टोला, शिवदत्त छपरा, सिसवा गोइती, दल्लू चौक आदि स्थानों की प्रतिमाओं को युवाआें ने गाजे-बाजे के बीच पनियहवा घाट पर नारायणी नदी में विसर्जित कर दिया।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ब्राइटलैंड स्कूल का प्रिंसिपल गिरफ्तार, पक्ष में माहौल बनाने के लिए अपनाया ये तरीका

राजधानी के ब्राइटलैंड स्कूल में छात्र पर हुए जानलेवा हमले में पुलिस ने स्कूल की प्रिंसिपल को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया।

18 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी का रिश्वतखोर लेखपाल कैमरे में कैद

ये वीडियो एक लेखपाल का है जो किसान से उसकी एक रिपोर्ट के लिए पांच हजार रुपये की मांग कर रहा है। वीडियो कुशीनगर की खड्डा तहसील का बताया जा रहा है।

7 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper