डीएम ने दिए प्रधानों को टिप्स

Kushinagar Updated Thu, 27 Sep 2012 12:00 PM IST
पडरौना। समस्याओं को हल करने के लिए धन नहीं, मजबूत इरादों की जरूरत होती है। गांवों की अधिकतर समस्याओं का हल ग्राम प्रधानों के पास ही है। बस जरूरत है इनके लिए ठोस कार्ययोजना बनाकर उन पर अमल करने की। ये बातें बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में प्रधानों की बैठक में डीएम रिग्जियान सैंफिल ने कहीं।
डीएम ने कहा कि गांवों में विभिन्न योजनाओं के तहत धन भेजा जा रहा है लेकिन अभी तक वह वांछित सफलता नहीं मिल पाई है। इसकी एक बड़ी वजह कार्ययोजना और लगन का अभाव है। डीएम ने प्रधानों के समक्ष कई उदाहरण रखते हुए कहा कि अगर वे ठान लें तो गांव की बड़ी से बड़ी समस्या को चुटकी बजाते हल कर सकते हैं। स्वच्छता और पेजयल के मुद्दे को सामने रखते हुए डीएम ने कहा कि इस कार्य के लिए अलग से कोई व्यवस्था नहीं करनी पड़ेगी। ग्राम स्वच्छता समितियों को हर साल मिलने वाले दस हजार रुपये की चर्चा करते हुए डीएम ने कहा कि इस बार जो धन मिला है वह एकमुश्त नहीं निकाला जाएगा। इस धन के उपयोग के लिए गांधी जयंती के दिन जिले के सभी ग्राम प्रधान खुली बैठक बुलाएंगे, जिसमें ग्राम स्वास्थ्य योजना पर चर्चा होगी। मिले धन को इसी योजना के तहत खर्च किया जाएगा। इसके तहत गांव में सफाई अभियान के लिए दो से ढाई हजार रुपये, कीटनाशकों का क्रय, फागिंग और मजदूरी के लिए चार से पांच हजार रुपये, महामारी फैलने की स्थिति में तत्काल कार्रवाई के लिए एक हजार से पंद्रह सौ रुपये, ग्राम स्वास्थ्य योजना की बैठक के लिए एक हजार से बारह सौ रुपये और हुए व्यय के आडिट और खर्च का ब्योरा दीवार पर लिखवाने के लिए पांच सौ से आठ सौ रुपये तक ही खर्च किए जाएंगे।
एनआरएचएम के मंडलीय परियोजना प्रबंधक आनंद चौबे ने विभिन्न स्वास्थ्य योजनाओं के क्रियान्वयन में ग्राम प्रधानों की भूमिका पर प्रकाश डाला। बैठक में सीडीओ हृदयशंकर तिवारी, सीएमओ डा. एसके गुप्ता, डीपीआरओ प्रभाकर समेत कई अफसर और जनपद के अधिकतर ग्राम प्रधान मौजूद थे।
नियमित सफाई की दिलाई कसम
पडरौना। कलेक्ट्रेट सभागार में चल रही ग्राम प्रधानों की बैठक के दौरान अचानक डीएम के तेवर बदल गए। सीधे प्रधानों से मुखातिब डीएम ने कहा कि गांव में सफाई के लिए ही सफाईकर्मी रखे गए हैं। फिर भी गांव में गंदगी का अंबार लगा है। वजह यह कि प्रधान बिना काम कराए ही सफाईकर्मियों के मस्टररोल पर हस्ताक्षर कर देते हैं। उन्होंने सभी प्रधानों से हाथ उठवाकर कसम दिलाई कि आज से बिना सफाई कार्य किए वे लोग किसी भी सफाईकर्मी के मस्टररोल पर दस्तख्त नहीं करेंगे। डीएम के साथ सभी प्रधानों ने हाथ उठाकर कसम खाई।

Spotlight

Most Read

Shimla

कांग्रेस के ये तीन नेता अब नहीं लड़ेंगे चुनाव, चुनावी राजनीति से लिया संन्यास

पूर्व मंत्री एवं सांसद चंद्र कुमार, पूर्व विधायक हरभजन सिंह भज्जी और धर्मवीर धामी ने चुनाव लड़ने की सियासत को बाय-बाय कर दिया है।

17 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी का रिश्वतखोर लेखपाल कैमरे में कैद

ये वीडियो एक लेखपाल का है जो किसान से उसकी एक रिपोर्ट के लिए पांच हजार रुपये की मांग कर रहा है। वीडियो कुशीनगर की खड्डा तहसील का बताया जा रहा है।

7 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper