मानदेय नहीं मिलने पर गरजे रोजगार सेवक

Kaushambi Updated Wed, 29 Jan 2014 05:43 AM IST
मूरतगंज (कौशाम्बी)। मानदेय नहीं मिलने से आक्रोशित मूरतगंज ब्लाक के ग्राम रोजगार सेवकों का मंगलवार को गुस्सा फूट गया। ग्राम रोजगार सेवकों (पंचायत मित्रों) ने ब्लाक में प्रदर्शन किया। ज्ञापन लेने से इंकार करने पर पंचायत मित्रों की एडीओ पंचायत से झड़प हुई। वरिष्ठ लिपिक ने ज्ञापन लेकर उन्हें शांत कराया। पंचायत मित्रों ने बुधवार से ब्लाक में तालाबंदी का ऐलान किया है।
मूरतगंज ब्लाक के ग्राम रोजगार सेवकों की मानें तो उन्हें करीब आठ महीने से मानदेय नहीं मिला है। मानदेय भुगतान और इसमें बढ़ोतरी की मांग को लेकर मंगलवार को ग्राम रोजगार सेवकों ने ब्लाक में प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने खंड विकास अधिकारी (बीडीओ) और एडीओ के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। बताया जाता है कि ज्ञापन लेने से इंकार करने पर एडीओ पंचायत से झड़प भी हुई। कहासुनी के बाद पंचायत मित्र खंड विकास अधिकारी कार्यालय के सामने धरने पर बैठ गए। मामला बिगड़ता देख ब्लाक के वरिष्ठ लिपिक सुनील कुमार श्रीवास्तव ने ज्ञापन लेकर प्रदर्शनकारी पंचायत मित्रों को शांत कराया। पंचायत मित्रों का कहना है कि सितंबर 2013 में ही मानदेय बढ़ोतरी का शासनादेश आया था। इसके बाद भी पंचायत मित्रों का मानदेय बढ़ाया नहीं जा सका है। वहीं करीब आठ महीने से मानदेय नहीं मिलने से उन्हें तमाम दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पंचायत मित्रों ने बुधवार से ब्लाक में तालाबंदी का ऐलान किया है। इस मौके पर संजय शर्मा, संतोष कुमार, विकास चंद्र, जीतेंद्र कुमार, मानसिंह, शिवबरन सिंह, नरेंद्र कुमार, मोहनलाल, बृजेश कुमार, मकसूद अहमद, राजेश कुमार, उदयभान, शहनाज रिजवी आदि मौजूद रहीं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी के कौशांबी से सामने आया फोन पर तीन तलाक का मामला

सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद तीन तलाक के मामले खत्म होने का नाम नहीं ले रहे हैं। इस बार यूपी के कौशांबी से तीन तलाक का मामला सामने आया है।

10 जनवरी 2018