आवास में फर्जीवाड़े पर एफआईआर दर्ज

Kaushambi Updated Sun, 26 Jan 2014 05:43 AM IST
मंझनपुर। सरसवां ब्लाक क्षेत्र के शाहपुर गांव में फर्जीवाड़ा कर आवास की रकम का करीब साढ़े छह लाख रुपये डकार लिए गए। अफसर जालसाजों के खिलाफ कार्रवाई करने में आनाकानी कर रहे थे। अमर उजाला के 18 जनवरी के अंक में प्रमुखता से जालसाज अब आएंगे फंदे में शीर्षक से खबर छपी। शुक्रवार को पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज कर ली। पुलिस की विवेचना में जालसाजों का फंदे में आना तय है। मामले में थानाध्यक्ष महेवाघाट का कहना है कि बीडीओ की तहरीर पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है।
सरसवां ब्लाक क्षेत्र की ग्राम पंचायत शाहपुर में 50 व्यक्तियों को इंदिरा आवास आवंटित किया गया था। इनके खाते में पहली किश्त की रकम भेजी गई थी। मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) हरिशंकर उपाध्याय ने बताया कि 20 लाभार्थियों का नाम और खाता गलत होने के कारण उनके खाते में आवास की रकम ट्रांसफर नहीं हुई थी। इलाहाबाद बैंक शाखा महेवा के तत्कालीन प्रबंधक ने डाक के माध्यम से चेक परियोजना निदेशक (डीआरडीए) के नाम वापस भेजा था। बताया जा रहा है कि डाकघर से चेक हाईजैक कर लिया गया। साथ ही लाभार्थियों की दूसरी सूची तैयार की और सीडीओ, पीडी, लेखाधिकारी और पटल सहायक के हस्ताक्षर स्कैन कर चेक बैंक को वापस भेज दिया गया। बैंक प्रबंधक ने दूसरे ही दिन पात्रों के खाते में रकम भी ट्रांसफर कर दी। इसी दिन खाते से पैसा भी निकाल लिया गया। मुख्य विकास अधिकारी से मामले की शिकायत ग्रामीणों ने की। मामले को गंभीरता से लेते हुए सीडीओ ने पीडी को जांच और कार्रवाई का निर्देश दिया। उनकी जांच में फर्जीवाड़े का भंडाफोड़ हुआ। मुख्य विकास अधिकारी ने बीडीओ सरसवां इंद्रबली सिंह को जालसाजों के खिलाफ एफआईआर कराने का निर्देश दिया था। 17 जनवरी को खंड विकास अधिकारी ने जालसाजों के खिलाफ कार्रवाई के लिए थानाध्यक्ष महेवाघाट को तहरीर दी थी। 18 जनवरी के अंक में अमर उजाला में जालसाज अब आएंगे फंदे में शीर्षक से छपी खबर से हरकत में आए थानाध्यक्ष ने शुक्रवार को बीडीओ की तहरीर पर मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है। आवास की रकम फर्जीवाड़ा करने वाले जालसाजों का फंदे में आना लगभग तय है। मामले में थानाध्यक्ष डीके सिंह का कहना है कि बीडीओ की तहरीर पर मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई है। बताया कि एसएसआई को मामले की विवेचना दी गई है। विवेचना में जालसाजों का नाम सामने आ जाएगा। मामले में सीडीओ हरिशंकर उपाध्याय का कहना है कि किसी भी जालसाजों को बख्शा नहीं जाएगा।
सिराथू ब्लाक क्षेत्र के कैनी गांव में बीडीओ की जांच में लोहिया आवास में फर्जीवाड़े की पुष्टि हुई है। मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) हरिशंकर उपाध्याय ने प्रधान, बैंक प्रबंधक और लाभार्थी पर एफआईआर कराने के लिए खंड विकास अधिकारी को निर्देश दिया था। बताया जा रहा है कि 25 दिन बाद भी बीडीओ ने एफआईआर नहीं दर्ज कराई है। चर्चा है कि बीडीओ ने आरोपियों से साठगांठ कर ली है। बताया जा रहा है कि शनिवार को मनरेगा में गड़बड़ी के मामले में भी सीडीओ ने प्रधान और ग्राम विकास अधिकारी पर एफआईआर कराने का निर्देश दिया है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ताबड़तोड़ डकैतियों से हिली सरकार, प्रमुख सचिव ने अधिकारियों को किया तलब

राजधानी में एक हफ्ते के अंदर हुई ताबड़तोड़ डकैती की वारदातों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी के कौशांबी से सामने आया फोन पर तीन तलाक का मामला

सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद तीन तलाक के मामले खत्म होने का नाम नहीं ले रहे हैं। इस बार यूपी के कौशांबी से तीन तलाक का मामला सामने आया है।

10 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper