वैन चालक और दूधिया को गोली से उड़ाया

Kaushambi Updated Mon, 03 Jun 2013 05:30 AM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
चायल/नेवादा (कौशाम्बी)। एक वैन चालक पर बाइक सवार युवकों ने गोलियां बरसाकर मौत के घाट उतार दिया। हत्या में मादपुर गांव के एक युवक और उसके दोस्त को आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने दो युवकों को हिरासत में ले लिया है। घरवालों का कहना है कि अवैध संबंध में रोड़ा बनने पर हत्या की गई। वहीं शनिवार रात सरायअकिल क्षेत्र में एक दूधिया की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई। इसमें तीन भाई नामजद किए गए हैं। वहीं दुधिया के परिजनों के साथ ग्रामीणों ने इलाहाबाद-सरायअकिल सड़क पर शव रखकर जाम लगा दिया था। अफसरों के मदद के आश्वासन देने पर यातायात सामान्य हुआ।
विज्ञापन

पुरामुफ्ती गांव के ओम नारायण पाठक (28) के पास वैन है। वह शनिवार रात वैन से फतेहपुर घाट से बारात लेकर सल्लाहपुर जा रहा था। बताया जाता है कि रात करीब 11.30 बजे सल्लाहपुर बाजार में बाराती कुछ खरीदने के लिए वैन से उतरे थे। ओम नारायण वैन में ही बैठा था। इसी बीच बाइक से दो युवक पहुंचे। पिस्टल से उस पर ताबड़तोड़ गोलियां दाग दीं। इससे वह मौके पर ही ढेर हो गया। हत्या से हड़कंप मच गया। सूचना पर मौके पर आए घरवाले उसे अस्पताल ले जाने की कोशिश भी की, लेकिन देर हो चुकी थी। दिवंगत के भाई राम नारायण की तहरीर पर पुलिस ने मादपुर के पंकज शुक्ला और उसके दोस्त के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को हिरासत में भी ले लिया है। दिवंगत के भाई का कहना है कि घर के बगल स्थित एक ठेकेदार के दफ्तर में पंकज का आना-जाना था। उसने परिवार की एक युवती से संबंध बना लिया था। इसी प्रेम संबंध का विरोध करने पर ओम की हत्या की गई है। परिजनों का कहना है कि मददगार बनकर पंकज ने युवती के साथ उन लोगों का भी सबकुछ बर्बाद कर दिया है। एसओ का भी कहना है कि प्रथम दृष्टया हत्या प्रेमसंबंध को लेकर ही हुई लग रही है। फिलहाल घटना की जांच की जा रही है।

वहीं सरायअकिल थाना क्षेत्र के तरनी गांव के दूधिया विनोद उर्फ मुन्ना पाल (35) की शनिवार रात जठिया गांव के समीप गोली मारकर हत्या कर दी गई। मृतक के भाई अजय पाल ने पुरामुफ्ती क्षेत्र के पैगम्बरपुर गांव के तीन भाइयों पर हत्या का आरोप लगाया है। अजय के मुताबिक मुन्ना का इन भाइयों से दूध के कारोबार को लेकर कई दिनों से विवाद चल रहा था। पुलिस हत्यारोपियों की तलाश में जुटी है।
वहीं मुआवजा, नौकरी दिलाए जाने की मांग को लेकर दुधिया के परिजनों के साथ ग्रामीणों ने रविवार शाम इलाहाबाद-सरायअकिल सड़क पर शव रखकर जाम लगा दिया। सूचना पर पहुंचे एसडीएम और क्षेत्राधिकारी ने मृतक के परिजनाें को 20 हजार रुपये का चेक, पत्नी को पेंशन, बच्चों को नि:शुल्क पढ़ाई, मुख्यमंत्री कोष से पांच लाख रुपये की मदद दिलाने का लिखित भरोसा देकर शांत कराया। साथ की खेती के लिए सोमवार को एक बीघा जमीन का पट्टा देने का भी आश्वासन दिया है। इसके बाद जाम हुआ। देर शाम परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार कर दिया। बता दें कि रविवार को पोस्टमार्टम के बाद शव आने के बाद मार्ग जाम किया गया था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00