चहारदीवारी के साढ़े तीन लाख हजम

Kaushambi Updated Fri, 28 Sep 2012 12:00 PM IST
मंझनपुर। सरसवां ब्लाक में तैनाती के दौरान कौशाम्बी बीडीओ को चहारदीवारी का पैसा हजम करना महंगा पड़ा है। एक्सईएन ग्रामीण अभियंत्रण सेवा (आरईएस) की अगुवाई में गठित तीन सदस्यीय टीम की जांच में नकली एमबी के जरिए पैसा डकारने का खुलासा हुआ है। इसमें सहायक विकास अधिकारी उद्योग सेवा एवं व्यापार (एडीओ आईएसबी), जेई आरईएस और तकनीकी सहायक भी दोषी मिले हैं। सीडीओ ने बीडीओ और एडीओ के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति सहित शासन को पत्र लिखा है।
कौशाम्बी बीडीओ मोहनलाल जैसवार किसी न किसी बात को लेकर चर्चा में रहते हैं। ताजा मामला उनके सरसवां ब्लाक की तैनाती के समय चहारदीवारी के पैसे में घोटाले का सामने आया है। कौशाम्बी बीडीओ मोहनलाल जैसवार के कार्यकाल में राज्य वित्त योजना के तहत सरसवां ब्लाक परिसर में चहारदीवारी निर्माण के लिए करीब 4.50 लाख भेजे गए थे। आरोप है कि यह रकम निर्माण कराए बगैर फर्जी मेजरमेंट बुक जरिए निकालकर हजम कर ली गई है। मुख्य विकास अधिकारी माला श्रीवास्तव के निर्देश पर अधिशासी अभियंता आरईएस रामचंद्र, तत्कालीन परियोजना निदेशक डीआरडीए प्रेम सागर जैन और समाज कल्याण अधिकारी सुधीर कुमार की तीन सदस्यीय टीम से इसकी जांच कराई थी। अफसरों की जांच रिपोर्ट के मुताबिक खाते से लगभग 3.50 हजार खाते से निकाल लिए गए हैं। सीडीओ ने बीडीओ, एडीओ आईएसबी के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति सहित शासन को पत्र और जेई आरईएस एवं तकनीकी सहायक के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश दिया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी के कौशांबी से सामने आया फोन पर तीन तलाक का मामला

सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद तीन तलाक के मामले खत्म होने का नाम नहीं ले रहे हैं। इस बार यूपी के कौशांबी से तीन तलाक का मामला सामने आया है।

10 जनवरी 2018