हाय रे बारिश : 24 घंटे में 70 परिवार बेघर

Kaushambi Updated Tue, 18 Sep 2012 12:00 PM IST
मंझनपुर/कड़ा/चायल/सरायअकिल (कौशाम्बी)। छह दिनों से हो रही बारिश का कहर जारी है। बरसात से 24 घंटे में करीब 80 घर गिर गए। मलबे में दबने से कौशाम्बी ब्लाक के कोरांव खास में बच्ची की मौत हो गई। सरायअकिल में दो महिलाएं गंभीररूप से जख्मी हो गईं। वहीं लाखों रुपये का समान नष्ट हो गया।
जिले में बुधवार से हो रही बरसात रुकने का नाम नहीं ले रही है। लगातार हो रही बारिश गरीबों का आशियाना ताश के पत्ते की तरह गिरा दे रही है। 24 घंटे में ही सिराथू क्षेत्र के निजाममई गांव में नूरजहां, अंबाई बुजुर्ग गांव में श्रीमती, बलवंत सिंह, राम बहादुर, जटाशंकर, विजय पाल, मुन्नालाल, कुसुमा देवी पत्नी इंद्रसेन, मानसिंह, चूहापीरन (सौरई बुजुर्ग) गांव के सूरजपाल, नत्थूपाल, मेड़ईलाल, भगवानदीन, प्रेमचंद्र साहू, राम दुलार साहू, निहोरेलाल, कुमारेलाल, चायल के लोधौर गांव के नरेश पाल, राजापासी, कुंदनलाल, सोनू, हबीउल्ला, गोविंदपुर सरायअकिल के छोटेलाल, सत्यनारायण, संजय कुमार, राम सुंदर, रामबाबू, काशीप्रसाद, श्यामलाल, बुधराम, बिगहरा गांव में मुरारीलाल, विनोद कुमार, झुरईलाल, हजारी का पुरा गांव के वेदप्रकाश, मनोज कुमार, हरिवंश, रामकेश, जवाहरगंज के दुजई, पंचमलाल, तूफानी, फुर्तीलाल, मोहनलाल, राम फकीर, रामगरीब, फूलचंद्र, मोहर मोंगला (सिराथू) के खलीम, पइंसा के मंसूर अहमद, राम खेलावन, अखिलेश, जोगापुर के रोशनपाल, फुर्तीलाल, बद्रीप्रसाद, सहरी पाल, लवकुश, हिसामबाद के बिन्देश्वरी प्रसाद, धीरज, रामचरन, कल्लू, महेश, राजेंद्र, नथनलाल, बृजमोहन, कोरांव खास के गनेशदीन, रोशनलाल, भुल्लन और करारी के इंदरियापर गांव के अमृतलाल, देशराज, गिरधारीलाल, मलखान, भवनी का पुरा गांव के दिलखुश, राममगन, सूबेदार, बैजनाथ, शिवपूजन, राम प्रसाद, सोनारन टोला के साकिर हुसैन, कृष्णनगर के गामा प्रसाद, अशोक नगर के लल्लन प्रसाद आदि के कच्चे आशियाने बारिश से भरभराकर गिर गए। इस दौरान कौशाम्बी के कोरांव खास में गिरे मकान के मलबे में दबने से सियाराम की करीब 10 दिन की बच्ची की मौत हो गई। जबकि गोविंदपुर गांव में गिरे मकान के मलबे में दबकर सत्य नारायण की पत्नी सतनी (50) और छोटेलाल की पत्नी रामपति (60) को गंभीर चोटें आई हैं। इन्हें ग्रामीणों ने किसी तरह बाहर निकालने के बाद स्थानीय अस्पताल में भरती कराया है। बरसात से सबसे ज्यादा दिक्कत पानी-कीचड़ से सड़कों के लबालब होने से है। मंझनपुर से लेकर भरवारी, मूरतगंज, चायल, अजुहा, सरायअकिल, सिराथू, शमसाबाद कस्बे और बाजारों के साथ गांवों के रास्ते भी कीचड़-पानी से भरे होने के कारण लोगों का आवागमन मुश्किल हुआ है।
वहीं बारिश के कारण दो दर्जन से ज्यादा प्राइमरी स्कूल परिसर और रास्ते तालाब बने हुए हैं। मंझनपुर के हजरतगंज, पाता, बबुरा, पूर्व माध्यमिक स्कूल समदा, कड़ा के प्राथमिक स्कूल सवावखत, चायल के पावन आदि प्राथमिक स्कूल परिसर पानी से लबालब है। रास्तों में भी घुटनेभर पानी भरा है। इससे बच्चों का स्कूल आना-जाना मुश्किल हुआ है। पावन स्कूल का हैंडपंप भी पानी भी डूबा हुआ है। वहीं पानी पीने के लिए भी उन्हें घुटनेभर पानी में खड़े होना पड़ता है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी कैबिनेट ने एक जिला एक उत्पाद नीति पर लगाई मुहर, लिए गए 12 फैसले

यूपी कैबिनेट ने कुल 12 फैसलों को मंजूरी दे दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई बैठक में एक जिला एक उत्पाद नीति पर मुहर लग गई।

23 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी के कौशांबी से सामने आया फोन पर तीन तलाक का मामला

सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद तीन तलाक के मामले खत्म होने का नाम नहीं ले रहे हैं। इस बार यूपी के कौशांबी से तीन तलाक का मामला सामने आया है।

10 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper