डेढ़ लाख की लकड़ी से दूर होगी कस्बाईयों की ठंड

Allahabad Bureau Updated Wed, 06 Dec 2017 07:21 PM IST
डेढ़ लाख की लकड़ी से दूर होगी कस्बाइयों की ठंड
एडीएम ने तीनों तहसीलों में अलाव के लिए जारी किया 50-50 हजार का फंड
रुपया पहुंचने के बाद एक भी कस्बों में नहीं जले अलाव
अमर उजाला ब्यूरो
मंझनपुर।
जिले की तीन तहसीलों की सात नगर पंचायतों के निवासियों को ठंड से बचाव का इंतजाम जिला प्रशासन ने कर दिया है। इसके लिए तहसील प्रशासन को 50-50 हजार रुपये का फंड सप्ताह भर पहले जारी हो चुका है। इधर बीच दो दिन से सुबह और शाम की ठंड बढ़ी पर एक भी नगर पंचायत में अलाव नहीं जलाया गया। इसे लेकर कस्बाइयों में नाराजगी है।
दिसंबर और जनवरी में पड़ने वाली कड़ाके की ठंड से कस्बे के लोगों को बचाने के लिए जिला प्रशासन अलर्ट है। तीनों तहसील प्रशासन को सप्ताह भर पहले 50-50 हजार रुपये अलाव जलाने के लिए जिला प्रशासन ने जारी कर दिया है। दिसंबर माह के पहला सप्ताह शुरू होते ही ठंड ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। इसके बाद भी अलाव की रकम पर तहसील प्रशासन कुंडली मारकर बैठा हुआ है। जिले की एक भी नगर पंचायत और तहसील मुख्यालय में सुबह और शाम की ठंड दूर करने के लिए अलाव का इंतजाम नहीं दिख रहा है। तहसील प्रशासन है कि रुपया मिलने के बाद लकड़ी की खरीद तक नहीं कर सका है। उसे अलाव जलाने के लिए शीतलहरी का इंतजार है। उधर सुबह-शाम बढ़ी ठंड के चलते कस्बों में रहने वाला गरीब तबका कागज व पालीथिन जलाकर बदन सेंकता नजर आ रहा है। मामले में एडीएम वित्त एवं राजस्व राकेश कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि नगर पंचायतों में अभी तक अलाव नहीं जले इसकी जानकारी है। तीनों एसडीएम को जरूरत वाले स्थानों पर अलाव जलवाने के लिए निर्देश देते हुए ठंड से बचाव के उपाय कराए जाएंगे।

एसबीआई चायल का खजाना खाली, उपभोक्ता हलाकान
डिमांड के 20 दिन बाद भी बैंक को नहीं फूटी कौड़ी
रुपयों के अभाव में बैंक से बैंरग लौट रहे उपभोक्ता
अमर उजाला ब्यूरो
चायल।
स्टेट बैंक की चायल शाखा का खजाना बीस दिन से खाली चल रहा है। डिमांड के बावजूद आरबीआई से कैश नहीं मिलने के कारण उपभोक्ताओं को बैरंग लौटना पड़ रहा है। बैंक में इन दिनों रोजाना जमा हो रहे रुपये से ही काम चलाया जा रहा है।
एसबीआई चायल शाखा में कस्बा समेत आसपास के दस हजार ग्रामीण उपभोक्ताओं ने खाता खुलवा रखा है। बैंक में लेन-देन आसानी से होने के कारण इस शाखा पर उपभोक्ताओं को कभी भी रुपया मिलने का भरोसा रहता है। नवंबर माह के दूसरे पखवारे से बैंक उपभोक्ताओं के भरोसे पर खरा नहीं उतर रहा है। बैंक शाखा को रिजर्व बैंक कानपुर ने 20 दिन से एक रुपया भी नहीं दिया। एसबीआई प्रबंधक रामबाबू कटियार ने उपभोक्ताओं की समस्या को देखते हुए 30 करोड़ रुपये की डिमांड भी रिजर्व बैंक को भेजी है। इसके बाद भी फूटी कौड़ी नहीं मिली। उधर बैंक में रुपया न होने पर उपभोक्ताओं द्वारा जमा की जा रही रकम से किसी तरह काम चलाया जा रहा है। सबसे बुरा हाल उन पेंशनरों का है जिन्हें मात्र इसी रकम का सहारा है। बहरहाल एसबीआई चायल में रुपया नहीं आने से इलाकाई उपभोक्ताओं के साथ-साथ बैंक प्रबंधक व कर्मचारी भी परेशान हैं। उन्हें उपभोक्ताओं से रोज नोक-झोंक करनी पड़ रही है।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

लालू की नई मुसीबत, चाईबासा कोषागार मामले में आज आएगा फैसला

चारा घोटाला मामले में रांची की स्पेशल सीबीआई कोर्ट बुधवार को सुनवाई करेगी। स्पेशल कोर्ट जज एस एस प्रसाद इस मामले में फैसला देंगे।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी के कौशांबी से सामने आया फोन पर तीन तलाक का मामला

सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद तीन तलाक के मामले खत्म होने का नाम नहीं ले रहे हैं। इस बार यूपी के कौशांबी से तीन तलाक का मामला सामने आया है।

10 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper