मेला क्षेत्र में वर्जित रहेगी पॉलीथीन

Kasganj Updated Wed, 05 Dec 2012 05:30 AM IST
कासगंज। तीर्थनगरी में लगने वाले प्रसिद्ध मार्गशीष मेला को लेकर प्रशासन ने कमर कस ली है। श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की दिक्कत न हो इस पर प्रशासन का विशेष ध्यान है। मेला 20 दिसम्बर से 5 जनवरी तक लगाया जाएगा। जिसके मुख्य स्नान पर्व एकादशी 23 दिसम्बर व पूर्णिमा 28 दिसम्बर को होने हैं।
तीर्थनगरी में लगने वाला मेला मार्गशीष उत्तर भारत का प्रसिद्ध एवं प्राचीनतम मेला है। इस मेले में बड़े स्तर पर शिवराज पशु मेला भी लगता है, जहां दूर दूर से घोड़े बिक्री के लिए यहां आते हैं। मेले में पड़ने वाले स्नान पर्वों पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु गंगा स्नान के लिए तीर्थनगरी पहुंचते हैं। मंगलवार को मेला संबंधी व्यवस्थाओं को लेकर जिलाधिकारी ने बैठक ली। डीएम चैत्रा वी ने कहा कि मेला क्षेत्र एवं उसमें की गई व्यवस्थाओं को दर्शाने के लिये बड़े मानचित्र की फ्लैक्सी मुख्य स्थानों पर लगाई जाएं। मेला क्षेत्र पूरी तरह से पॉलीथीन वर्जित रहना चाहिये। यहां किसी भी प्रकार की प्लास्टिक एवं पोलिथीन के प्रयोग को कड़ाई से रोका जाये। मेले में बाहर आने वाले वाहनों के लिये समुचित पार्किंग व्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया जाए। मेले में पुलिस शिविर के साथ ही खोया-पाया शिविर भी लगाया जाए। सीएमओ मेला परिसर में बंदरों के काटने पर लगाने वाली वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रखें। पेयजल, शौचालय, ध्वनि -प्रकाश व्यवस्था, अग्निशमन व्यवस्था दुरुस्त रखी जाये। मेला क्षेत्र को सेक्टर में बांट कर यातायात एवं कानून व्यवस्था सुचारु रखी जाये। अधिशाषी अभियंता सिंचाई ने बताया कि हर की पैड़ी में पानी बदलने के लिये 12 से 15 दिसम्बर तक नहर में पानी छोड़ा जाएगा। बैठक में अपर पुलिस अधीक्षक एसएन शर्मा, एसडीएम कासगंज संतोष कुमार वैश्य, सहित विभिन्न विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

भव्य रूप से आयोजित किया जाए मेला
कासगंज। शूकर क्षेत्र सोरों के मार्गशीर्ष मेले को भव्य बनाने एवं शूकरक्षेत्र महोत्सव के रूप में मनाने की मांग सपाइयों ने की है। इस संबंध में एक ज्ञापन एसडीएम को सौंप सपाइयों ने मांग की कि महोत्सव को भव्यता प्रदान की जाए।
समाजवादी पार्टी के सोरों नगर अध्यक्ष भूपेश शर्मा ने कहा कि शूक र क्षेत्र में लगने वाला मार्गशीर्ष, पशुपति मेला काफी प्राचीन मेले हैं। इस मेले में कई प्रांतों से श्रद्धालु मार्गशीर्ष का स्नान करने के लिए आते हैं। मेले में पशु व्यापारी भी एकत्रित होते हैं। मेले को प्रशासनिक तौर पर मनाया जाए और महोत्सव में सांस्कृतिक व मनोरंजक कार्यक्रम भी शामिल किए जाएं। पानी और बिजली की अच्छी सप्लाई दी जाए। हर की पैड़ी में स्वच्छ जल की व्यवस्था की जाए और मेले की सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम रहें। इस मौके पर सचिन उपाध्याय, प्रशांत वशिष्ठ, कुंदन उपाध्याय, सौरभ तिवारी, माधव तिवारी, सचिन महेरे, सीटू, मनीष, आदेश, रामलखन, नंदकिशोर सहित अन्य मौजूद रहे।
चलाई जाएं अतिरिक्त बसें
सोरों । 20 दिसम्बर से शुरू हो रहे मेला मार्गशीर्ष महोत्सव को देखते हुए लोगों ने परिवहन राज्य मंत्री से तीर्थनगरी से अतिरिक्त बसों के संचालन की मांग की है। गोकुलेश तिवारी, आफाक राईन, विजय कुशवाह, शैलेष मित्तल, अतुल अग्रवाल आदि ने परिवहन राज्य मंत्री से मेले के दौरान अतिरिक्त बसों के संचालन की मांग की है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: ये स्कूल है या तबेला?

यूपी में सरकार बदले बेशक काफी समय बीत चुका है, लेकिन ग्रामीण इलाकों में शायद ही कोई असर देखने को मिला हो। श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा के नौहझील ब्लॉक के गांव भैरई में पूर्व माध्यमिक विद्यालय में अधिकतर समय ताला लटका रहता है। यहां भैसें बांधी जाती हैं।

31 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls