पुरानी मरुधर एक्सप्रेस मांग रहे कासगंजवासी

Kasganj Updated Sun, 02 Dec 2012 05:30 AM IST
कासगंज। कासगंज में आगरा फोर्ट और मरुधर एक्सप्रेस के नाम से संचालित होने वाली जोधपुर लखनऊ के बीच चलने वाली ट्रेन इतनी लोकप्रिय थी कि आसपास के इलाके के लोग इस ट्रेन से यात्रा करने के लिए कासगंज पहुंचते थे। लेकिन पिछले दिनों आमान परिवर्तन का काम कासगंज कानपुर के बीच चालू होने पर इसे बंद कर दिया गया था। लोगों को उम्मीद थी कि आमान परिवर्तन का काम पूरा होने पर यह ट्रेन फिर से मिल जाएगी, लेकिन यह उम्मीद पूरी नहीं हुई।
कासगंज-कानपुर रेलमार्ग पर आमान परिवर्तन का काम पूरा हुए करीब पांच वर्ष हो चुके हैं। कई अन्य ट्रेनें भी यहां से संचालित हो रही हैं। लेकिन मरुधर एक्सप्रेस को फिर से यहां से होकर नहीं निकाला गया है। यह ट्रेन रूट डायवर्ट करके टूंडला होकर निकाली जा रही है। जोधपुर से बनारस के बीच चलने वाली इस ट्रेन का आज भी इलाकाई लोग इंतजार कर रहे हैं। पिछले समय में भी कई बार लोगों द्वारा रेल प्रशासन के सामने जोधपुर लखनऊ की इस ट्रेन को कासगंज होकर संचालित करने की मांग की गई। इन्वर्टर कारोबारी श्याम विजय का कहना है कि मरुधर ट्रेन का संचालन यहां 1955 से होता था, पहले यह ट्रेन आगरा फोर्ट के नाम से चलती थी, बाद में इसे मरुधर एक्सप्रेस का नाम मिला। इस ट्रेन का संचालन फिर से किया जाना जरूरी है। उन्होंने रेलमंत्री से मांग की कि इस ट्रेन का संचालन फिर से शुरू किया जाए। कारोबारी राकेश माहेश्वरी ने कहा कि जोधपुर लखनऊ के बीच चलने वाली मरुधर एक्सप्रेस काफी लोगों की लोकप्रिय गाड़ी थी, इसका संचालन बेहद जरूरी है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: ये स्कूल है या तबेला?

यूपी में सरकार बदले बेशक काफी समय बीत चुका है, लेकिन ग्रामीण इलाकों में शायद ही कोई असर देखने को मिला हो। श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा के नौहझील ब्लॉक के गांव भैरई में पूर्व माध्यमिक विद्यालय में अधिकतर समय ताला लटका रहता है। यहां भैसें बांधी जाती हैं।

31 दिसंबर 2017