अंबेडकर प्रतिमा खंडित, हाईवे जाम

Kanshiram Nagar Updated Fri, 10 Aug 2012 12:00 PM IST
अमर उजाला ब्यूरो
कासगंज। मथुरा-बरेली मार्ग पर स्थित कासगंज के गांव टीकमपुरा में संविधान शिल्पी डा. भीमराव अंबेडकर सामुदायिक केंद्र के समीप पार्क में लगी डा. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा को अराजक तत्वों ने खंडित कर दिया। गुरुवार सुबह जब प्रतिमा के खंडित होने की जानकारी ग्रामीणों को हुई तो आक्रोश भड़क गया। लोगों ने राजमार्ग पर जाम लगा दिया। आक्रोशितों ने मुख्यमंत्री का पुतला फूंक कर शासन के विरोध में नारेबाजी की। घटना की सूचना पर कासगंज का प्रशासन एवं एटा के मारहरा थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई। क्षतिग्रस्त प्रतिमा को बदले जाने और प्रतिमा को तोड़ने वाले लोगों को शिनाख्त कर कार्रवाई करने के आश्वासन के बाद मामला शांत हुआ। करीब तीन घंटे तक राजमार्ग बंद रहने से तमाम वाहन फंसे रहे।
टीकमपुरा गांव बरेली-मथुरा राजमार्ग पर मोहनपुरा के नजदीक का गांव हैं। डा. अंबेडकर की प्रतिमा काफी समय से यहां के पार्क में लगी हैं। इस प्रतिमा को करीब नौ वर्ष पहले भी खंडित किया गया था। उस समय प्रतिमा को मामुली क्षति पहुंचाई गई थी। लेकिन इस बार प्रतिमा को काफी क्षति पहुंचाई गई है। सुबह जब ग्रामीण शौच के लिए खेतों में जाने लगे तो उनकी नजर अंबेडकर प्रतिमा पर पड़ी। खंडित प्रतिमा की खबर टीकमपुरा गांव में जगंल की आग की तरह फैली। अंबेडकर अनुयाई लोग, महिलाएं बच्चे सभी पार्क की ओर दौड़ पड़े। आक्रोश जताते हुए लोगों ने राजमार्ग जाम कर दिया। जाम लगाने के बाद आक्रोशितों ने जमकर नारे बाजी की और सीएम अखिलेश यादव का पुतला फूंका। घटना की सूचना कासगंज में बसपा के नेताओं और पूर्व विधायक हसरत उल्ला शेरवानी को दी गई। सूचना पर बसपा के नेता भी मौके पर पहुंच गए। कासगंज के एसडीएम हरीशंकर मौके पर पहुंच गए। उन्होंने ग्रामीणों और बसपा नेताओं से बातचीत की। प्रशासन ने खंडित प्रतिमा को बदले जाने एवं आरोपियों की शिनाख्त कर कार्रवाई करने के भरोसा दिया। इस बात पर भी तमाम अंबेडकर अनुयाई मानने को राजी नहीं हुए। उन्होंने अंबेडकर पार्क की सुरक्षा का सवाल खड़ा किया। प्रशासन ने सुरक्षा का भी भरोसा दिया। पूर्व विधायक शेरवानी की प्रशासन से हुई वार्ता के बाद आक्रोशितों के बीच यह घोषणा की तब तीन घंटों की कवायद के बाद जाम खुल सका।
इस दौरान बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष कमल बौद्ध, राजकुमार जाटव, पूर्व उपाध्यक्ष राजीव शर्मा, विधान सभा अध्यक्ष बीपी राना, शीलप्रिय विद्यार्थी, केपी सिंह, ज्ञानेंद्र वर्मा सहित तमाम बसपा नेताओं ने प्रतिमा तोड़ने जाने की घटना आक्रोश व्यक्त किया।

सीमा विवाद में फंसी पुलिस
कासगंज (ब्यूरो)। टीकमपुरा में डा. अंबेडकर की प्रतिमा तोड़े जाने के मामले को लेकर पुलिस पसोपेश में फंसी रही। लोगों का कहना था कि घटना के बाद सवा घंटे बाद पुलिस पहुंची। पहले कासगंज पुलिस को मामले की जानकारी दी गई। उसके बाद मारहरा पुलिस को सूचना दी, जबकि टीकमपुरा गांव कासगंज तहसील में पड़ता है। इस गांव की पुलिस व्यवस्था एटा के थाना मारहरा के अधीन हैं।

फंसे रहे तीर्थ यात्री
कासगंज (ब्यूरो)। राजमार्ग जाम होने के कारण तमाम वाहन बरेली-मथुरा मार्ग में फंसे रहे। इन यात्रियों में जाहरवीर की जात को जाने वाले तीर्थ यात्री भी फंस गए। ये यात्री घंटो सड़क पर बैठे रहे।

पुतला फुंकने के दौरान पुलिस के तेवर तीखे
कासगंज (ब्यूरो)। टीकमपुरा में डा. अंबेडकर की प्रतिमा तोड़े जाने को लेकर आक्रोशित लोगों ने सीएम अखिलेश यादव का पुतला फूंका। मौके पर मौजूद पुलिस अचानक पुतले फूंके जाने को लेकर हतप्रभ थी। पुलिस ने इन लोगों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन लोग नहीं माने। जले हुए पुतले को पुलिस ने सड़क से हटा दिया।

‘हमैऊ मार डारौ’
कासगंज (ब्यूरो)। अंबेडकर अनुयायी डा. अंबेडकर की प्रतिमा तोड़े जाने से काफी आहत थे। महिलाओं में भी जबरदस्त रोष था। जब बसपा के पूर्व विधायक हसरत उल्ला शेरवानी धरने पर बैठीं महिलाओं से उठने को कह रहे थे तभी तमतमाती महिलाएं आक्रोशित होकर बोलीं, ‘हमैऊ मार डारौ, अब राहन थौरईं देओगे।’

प्रतिमा तोड़ने वालों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज
कासगंज (ब्यूरो)। टीकमपुरा में डा. अंबेडकर की प्रतिमा तोड़े जाने के मामले में मारहरा थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली है। प्रतिमा तोड़ने वाले आरोपी कौन हैं। यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है।

नई प्रतिमा प्लेटफार्म पर फिट नहीं आई
कासगंज (ब्यूरो)। कासगंज के समीपवर्ती गांव टीकमपुरा में प्रतिमा टूट जाने के बाद प्रशासन के द्वारा नई प्रतिमा को मंगवाया गया। लेकि न यह प्रतिमा पहले से बने प्लेटफार्म पर फिट नहीं हो सकी। क्योंकि जो फाउंडेशन पहले का बना हुआ था वह नई प्रतिमा के अनुसार अलग था। ऐसी स्थिति को लेकर पुलिस को प्रतिमा स्थापित कराए जाने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही थी।

Spotlight

Most Read

Dehradun

देहरादून: 24 जनवरी को कक्षा 1 से 12 तक बंद रहेंगे सभी स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र

मौसम विभाग की ओर से प्रदेश में बारिश की चेतावनी के चलते डीएम ने स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र बंद करने के निर्देश जारी किए हैं।

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: ये स्कूल है या तबेला?

यूपी में सरकार बदले बेशक काफी समय बीत चुका है, लेकिन ग्रामीण इलाकों में शायद ही कोई असर देखने को मिला हो। श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा के नौहझील ब्लॉक के गांव भैरई में पूर्व माध्यमिक विद्यालय में अधिकतर समय ताला लटका रहता है। यहां भैसें बांधी जाती हैं।

31 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper