27 गांवों में यमुना की बाढ़ का कहर

Kanpur	 Bureau कानपुर ब्यूरो
Updated Sat, 07 Aug 2021 12:54 AM IST
कानपुर देहात के पुखरायां में पुल को छूने को बेताब यमुना नदी।  संवाद
कानपुर देहात के पुखरायां में पुल को छूने को बेताब यमुना नदी। संवाद - फोटो : PUKHRAYAN
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पुखरायां/मूसानगर। यमुना नदी का लगातार बढ़ रहा जलस्तर अब रौद्र रूप दिखा रहा है। शुक्रवार को नदी खतरे के निशान से साढ़े चार मीटर ऊपर पहुंच गई। इससे 27 गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। लगभग 40 हजार आबादी बाढ़ से प्रभावित है।
विज्ञापन

गांवों से निकलने के लिए सिर्फ नाव का ही सहारा है। क्षेत्र के करीब 170 घरों में पानी भर गया हैं। इसमें से अधिकांश घरों से लोग सामान नहीं निकाल पाए हैं। उधर दिलौलिया बांगर गांव के पास कुछ मवेशी बाढ़ के पानी में बहते दिखे। प्रशासनिक टीम लोगों को आश्रय स्थलों तक पहुंचाने में जुट गई है।

यमुना नदी और सेंगुर नदी का जलस्तर निरंतर बढ़ रहा है। यमुना का जलस्तर खतरे के निशान से साढ़े चार मीटर ऊपर हो जाने से 112.5 मीटर पर पानी पहुंच गया। भोगनीपुर क्षेत्र के ट्योगा के 17 घरों, क्योटरा के 12 मकानों सहित दिबैर की मडैया व रमपुरा गांव का रास्ता जलभराव से बंद हो गया। दौलतपुर घाट पूरा डूब गया है। पानी हाईवे की ओर बढ़ रहा है।
वहीं डिलौलिया बांगर गांव स्थित परिषदीय विद्यालय में बनाए गए आश्रय स्थल में भी पानी भरने लगा है। छतों पर लोगों ने डेरा जमा रखा है। ट्योगा गांव में जंगल के टीले पर तंबू लगाकर आश्रय स्थल बनाया गया है। डिलौलिया बांगर गांव में रेलवे पुल की ओर यमुना का पानी कटान कर रहा है। मूसानगर क्षेत्र में यमुना और सेंगुर नदी के दोआब क्षेत्र में लगातार बढ़ रहा जलस्तर गांवों में कहर बरपा रहा है।
लोग ऊंचे स्थानों, परिचितों समेत स्कूल में डेरा जमाए हैं। यहां पर प्रशासन की ओर से लंच पैकेट पहुंचाए जा रहे हैं। आढ़न के परशुराम, कैलाश, वीरन, पुत्तन, रामलाल आदि ने बताया की गांव के अंदर पानी भरा है। लोगों ने अपना सामान छत में रख लिया है।
विद्युत पोल डूबे होने के कारण विद्युत सप्लाई ठप है। मवेशियों के लिए चारे का संकट हो गया है। फसलें भी डूब चुकी हैं। एसडीएम दीपाली भार्गव ने बताया कि बाढ़ पीड़ित लोगों को लंच पैकेट बंटवाए जा रहे हैं। क्षेत्रीय लेखपाल बाढ़ पर नजर बनाए हुए हैं।
इन गांवों में भरा बाढ़ का पानी
पुखरायां। यमुना व सेंगुर नदी का जलस्तर बढ़ने से आढ़न, पथार, पड़ाव, चपरघटा, चतुरीपुरवा, रसूलपुर, भुंडा, भरतौली, कुम्हापुर, मुसरिया, नगीना बांगर, नयापुरवा, कट्टापुरवा, बम्हरौली घाट, अहरौली घाट, सिमरिया, हंसपुर, मौदन, जगदीशपुर का उमरिया, क्योटरा बांगर, ट्योगा, क्योटरा, दौलतपुर, डिलौलिया बांगर, दिवैर की मड़ैया, हलिया, चपरेहटा गांव में बाढ़ का पानी भर गया है।
वहीं आढ़न पथार, मुसरिया, नगीना बांगर, नयापुरवा, क्योटरा बांगर, चपरघटा में बना मुगल कालीन पुराना पुल, दिवैर की मड़ैया, मनकी घाट की पुलिया भी पानी में डूब गई है। इससे लोगों का आवागमन बंद है। (संवाद)
पांच नाव बढ़ाई गईं
मूसानगर। एसडीएम दीपाली भार्गव ने बताया अस्थाई आश्रय स्थल के रूप में मूसानगर में महात्मा गांधी इंटर कॉलेज, पूर्व माध्यमिक विद्यालय क्योटरा बांगर, पूर्व माध्यमिक विद्यालय मुसरिया समेत गांव के ऊंचाई वाले स्थानों को चिह्नित किया गया है। क्षेत्र में कुल 15 नाव चलाई जा रही हैं।
क्योटरा बांगर के 15 परिवारों को महात्मा गांधी इंटर कॉलेज में रोका गया है। लेखपाल अवधेश कुमार ने बताया मुसारिया में 40, नयापुरवा में 15, क्योटरा में 20, पथार में 15, आढ़न में 20, चपरघटा में दो घर बाढ़ की चपेट में ओ हैं। सर्वे लगातार किया जा रहा है। (संवाद)
केंद्रीय राज्यमंत्री के प्रतिनिधि व विधायक ने बांटे लंच पैकेट
पुखरायां। केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्य मंत्री के निजी सचिव के अलावा अलग-अलग गांवों में विधायक ने लंच पैकेट वितरित कराए। ट्योगा गांव के आश्रय स्थल में सांसद प्रतिनिधि ने पहुंच कर ग्रामीणों से हालचाल जाना। उनकी हर प्रकार की मदद करने का वादा किया।
केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति के निजी सचिव राजेंद्र निषाद ने क्योटरा बांगर, नयापुरवा, आढ़न, पथार गांवों में नाव से पहुंचकर बाढ़ पीड़ितों को 250 लंच पैकैट वितरित किए। वहीं संकट की घड़ी में सभी को मदद करने के लिए आवाहन किया। उन्होंने बताया कि शनिवार को केंद्रीय राज्य मंत्री स्वयं नाव से बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का भ्रमण कर जायजा लेंगी।
वहीं विधायक विनोद कटियार ने डिलौलिया बांगर गांव में नाव से पहुंच कर लंच पैकेट बांटे और हर संभव मदद का आश्वासन दिया। गरौठा जालौन सांसद केंद्रीय सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम राज्य मंत्री भानुप्रताप वर्मा के प्रतिनिधि श्याम सिंह सिसौदिया ने ट्योगा गांव में नाव से पहुंच कर पीड़ितों का हाल चाल लिया। कहा कि जिनके आवास क्षतिग्रस्त हो गए हैं उनको आवास दिलाए जाने की पहल की जाएगी। हर संभव मदद की जाएगी। (संवाद)

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00