विज्ञापन
विज्ञापन

सिपाही की बेहद घिनौनी हरकत, दरवाजा खोलने आई मकान मालिक की बेटी के हाथ-पैर बांधे, किया दुष्कर्म

क्राइम डेस्क, अमर उजाला, कानपुर देहात Updated Wed, 17 Jul 2019 07:57 PM IST
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर
ख़बर सुनें
कानपुर देहात के डेरापुर में कांधी चौकी में तैनात एक सिपाही ने कक्षा नौ की छात्रा के साथ दुष्कर्म किया। छात्रा की मां की तहरीर पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है। फरार सिपाही की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने कई स्थानों पर दबिश दी है।
विज्ञापन
छात्रा की मां ने पुलिस को बताया कि मंगलवार रात रात घर में सभी लोग सो रहे थे। तभी घर में किराये पर रह रहा सिपाही नीरज आया और दरवाजा खटखटाया। बेटी के दरवाजा खोलने पर आरोपी ने उसका मुंह दबा लिया और जबरन अपने कमरे में ले गया। इसके बाद हाथ और पैर बांधकर उसके साथ बलात्कार किया। बाद में बेहोशी हालत में घर के बाहर छोड़ गया।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

शेयर मार्केट, अब नहीं रहेगा गुत्थी
Invertis university

शेयर मार्केट, अब नहीं रहेगा गुत्थी

संतान के उज्ज्वल भविष्य व लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं संतान गोपाल पाठ व हवन - 24 अगस्त
Astrology Services

संतान के उज्ज्वल भविष्य व लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में कराएं संतान गोपाल पाठ व हवन - 24 अगस्त

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Kanpur

सीएसजेएमयू: 40 प्रतिशत छात्रों के 55 प्रतिशत से भी कम अंक, अधर में लटका सैकड़ों छात्रों का कॅरियर

कानपुर स्थित छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय (सीएसजेएमयू) के उलझे नियमों से सैकड़ों छात्रों का कॅरियर अधर में लटक गया है।

24 अगस्त 2019

विज्ञापन

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का निधन, राजनीतिक सफर पर एक नजर

भाजपा के वरिष्ठ नेता और मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में वित्त मंत्री का कार्यभार संभालने वाले अरुण जेटली का निधन हो गया है। उन्होंने दिल्ली एम्स में आखिरी सांस ली। जेटली एम्स में पिछले कई दिनों से भर्ती थे। यहां देखिए अरुण जेटली का राजनीतिक सफर।

24 अगस्त 2019

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree