लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Kanpur ›   Corona Update, UP will be safe even if corona cases increase, claims IIT Kanpur professor

Coronavirus: IIT कानपुर के प्रोफेसर का दावा- कोरोना केस बढ़े तो भी सुरक्षित रहेगा यूपी, जानें क्यों

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कानपुर Published by: हिमांशु अवस्थी Updated Fri, 24 Jun 2022 08:23 PM IST
सार

आईआईटी कानपुर के प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने अपनी रिपोर्ट जारी की  है। इसमें उन्होंने बताया कि कोरोना केस बढ़े तो भी यूपी सुरक्षित रहेगा। साथ ही, दिल्ली, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक और केरल में ही अधिक केस रहेंगे। 

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

कोरोना के बढ़ते केसों ने लोगों के माथे पर तनाव की लकीरें खींच दी हैं। आईआईटी प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने अपने गणितीय सूत्र मॉडल से भी यह कहा है कि कोरोना संक्रमण की रफ्तार जुलाई में बढ़ेगी। देश में 22 से25 हजार केस रोजाना आ सकते हैं। यह केस अधिकतर दिल्ली, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक और केरल राज्यों में बढ़ेंगे। 



लेकिन इन सबके मुकाबले यूपी सबसे सुरक्षित रहेगा। यहां केस की संख्या न के बराबर रहेगी।  प्रो. अग्रवाल ने राज्यवार निकाले गए आंकड़ों में यह स्थिति स्पष्ट की है। उनका कहना है कि इम्यूनिटी कम होने की वजह से कोरोना के केस बढ़ने लगे हैं। लेकिन इनसे घबराने की जरूरत नहीं है। 


प्रो. अग्रवाल कहते हैं कि गणितीय सूत्र मॉडल में कुछ राज्यों कोरोना के केस बढ़ते हुए दिखाई दे रहे हैं। इसका प्रभाव महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, दिल्ली व गुजरात में ही अधिक रहेगा। उप्र, बिहार, मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, झारखंड आदि प्रदेशों में सामान्य रूप से कोरोना संक्रमण न के बराबर रहेगा। 

प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने शुक्रवार को एक नई स्टडी जारी की है। जिसमें प्रदेशवार कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव का आकलन किया गया है। कोरोना केसों की संख्या रोजाना 25 हजार तक पहुंच सकती है लेकिन ये अधिकतर मरीज सिर्फ पांच प्रदेशों से ही आने की उम्मीद है। अन्य प्रदेशों में मरीजों की संख्या 500 से भी नीचे रहने की उम्मीद है। 

प्रो. अग्रवाल ने कहा कि जब तक कोई बदला हुआ म्यूटेंट नहीं आता तब तक घबराने की जरूरत नहीं है। यह एक फ्लू की तरह ही ऊपर नीचे जाएगा। जब-जब लोगों में इम्युनिटी कमजोर होगी, कोरोना संक्रमण लोगों को अपनी गिरफ्त में लेगा। उन्होंने कहा कि बढ़ते केसों को कोरोना की लहर कहना गलत होगा। लेकिन कोविड से संबंधित प्रोटोकॉल का पालन करना जरूरी है।

इन पांच राज्यों में केसों की संख्या
प्रदेश                  पीक (संभावित)          केस    
महाराष्ट्र                 22 जुलाई                9 से 10 हजार
केरल                   13 जुलाई                 6 से 7 हजार
कर्नाटक               31 जुलाई                2200 से 2500
दिल्ली                  दो जुलाई                 2000 से 2200
गुजरात               11 अगस्त                1200 से 1500
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00