अरे, यह क्या कह गए कोयला मंत्री जी....

Kanpur Updated Tue, 02 Oct 2012 12:00 PM IST
कानपुर। कोल ब्लॉक आवंटन घोटाले में विरोधियों का चौतरफा विरोध झेल रहे कोयला मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल फिर एक नए विवाद में घिर गए हैं। अपने जन्मदिन के मौके पर रविवार को यहां आयोजित कवि सम्मेलन में उन्होंने यह कह कर लोगों को भौचक्का कर दिया कि जैसे-जैसे समय बीतता है पत्नी पुरानी हो जाती है, क्यों अंबर जी-फिर वो मजा नहीं रहता है?
शायद मजाक में ही सही मगर सार्वजनिक मंच से कहे इस वाक्य ने महिलाओं को दिल पर गहरी चोट पहुंचाई है। मौके पर मौजूद श्रोताओं के मुंह से निकलकर सोमवार को शहर भर में यह बात क्या फैली, महिलाएं बिफर गईं। महिला संगठनों ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया जताते हुए कहा कि इतने बड़े पद पर बैठे श्रीप्रकाश के मुंह से ऐसी बातें शोभा नहीं देतीं। यह तो विवाह जैसी संस्था और विवाहिताओं पर भद्दा कटाक्ष है। उन्होंने सवाल उठाए कि मंत्री जी बताएं कि ‘मजा’ से उनका आशय क्या है? कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को उनसे इसका जवाब मांगना चाहिए, हम उनके इस आचरण की शिकायत सोनिया तक पहुंचाएंगे।
कवि सम्मेलन का आयोजन किदवई नगर स्थित केके गर्ल्स कॉलेज में हुआ था। सम्मेलन का विधिवत उद्घाटन करने के बाद अपने उद्बोधन में श्रीप्रकाश जायसवाल बोले-‘...चाहता था कि एक-दो घंटे का समय पास हो जाए, पास हो गया। और इसका नतीजा भी अच्छा रहा कि भारत जीत गया, और लोग उत्साहित हैं। कवि और शायर भी उत्साहित हैं। नई-नई जीत और नई-नई शादी, दोनों का अपना अलग-अलग महत्व होता है। जैसे-जैसे समय बीतता है, जीत पुरानी होती जाएगी। जैसे-जैसे समय बीतता है पत्नी पुरानी हो जाती है क्यों अंबर जी-फिर वो मजा नहीं रहता है।’ यह सुनकर एक बारगी तो वहां मौजूद श्रोता और कवि-शायर भी सन्नाटे में आ गए। कानाफूसी उसी वक्त शुरू हो गई कि मंत्री जी ये क्या कह गए? सार्वजनिक मंच से ऐसा कहना क्या उन्हें शोभा देता है?
इस संबंध में अंजलि श्रीवास्तव (गुलाबी गैंग कमांडर ) कहती हैं कि मेरे कुछ परिचित इस कवि सम्मेलन का हिस्सा थे। आज सुबह उन्होंने मुझे कवि सम्मेलन में श्रीप्रकाश के भाषण के बारे में बताया। इतनी घटिया ..क्या कहना चाहते थे मंत्री जी। सार्वजनिक मंच से ऐसा मजाक भी उनके स्तर के अनुकूल नहीं है। नेताओं को न जाने क्या हो गया है, जो मन में आया बोल दिया, इससे कौन कितना आहत होगा यह तक नहीं सोचते। हमारा संगठन इसमें आगे आकर इसका पुरजोर विरोध करेगा। इस मुद्दे पर नीलम चतुर्वेदी (महिला मंच की अध्यक्ष) कहती हैं कि श्रीप्रकाश जी की प्रतिक्रिया बेहद गैर जिम्मेदाराना है। गैर जिम्मेदार व्यक्ति की तरीके से दिया गया भाषण...लगता है उन्हें अंदाज ही नहीं कि वे क्या बोल गए...या महिलाओं की बस यही इज्जत है। जिस संगठन की मुखिया एक महिला हो, उसके नेताओं का महिला के बारे में ऐसी टिप्पणी...हम इसकी शिकायत आगे तक करेंगे।

कोट--

मैंने ऐसा कुूछ नहीं कहा-श्रीप्रकाश
मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा। पता नहीं लोग ऐसा क्यों कह रहे हैं ? अगर आपको किसी ने ऐसी कोई जानकारी दी है तो छापिये।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

14 साल के इस बच्चे ने कराई चार कैदियों की रिहाई, दान में दी प्राइज मनी

14 साल के आयुष किशोर ने चार कैदियों की रिहाई के लिए दान कर दी राष्ट्रपति से मिली प्राइज मनी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

आत्महत्या करने से पहले युवती ने फेसबुक पर अपलोड की VIDEO, देखिए

कानपुर के पांडुनगर से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। जिसमें एक महिला ने फेसबुक पर एक वीडियो जारी कर आत्महत्या कर ली। वजह जानने के लिए देखिए, ये रिपोर्ट।

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper