पहले राउंड की रेस में हार गया था तरन

Kanpur Updated Wed, 26 Sep 2012 12:00 PM IST
कानपुर। रेस जीतने के नशे में छात्र अमित शर्मा की मौत का कारण बना रईसजादा आरोपी तरन सूरी, घटना से पहले एक रेस हार चुका था। अमर उजाला की पड़ताल में यह तथ्य सामने आया है। पता चला है कि कार रेस में कुल पांच दोस्त शामिल थे। हालात बताते हैं कि दूसरी रेस के दौरान हर हाल में बाजी जीतने के लिए अंधाधुंध चलाई गई इनोवा से तरन ने नियंत्रण खो दिया और सीधे सड़क किनारे खड़ी आल्टो कार को टक्कर मारी, जिससे कार में सो रहे अमित की मौत हो गई और उसके दो साथी घायल हो गए।
पीडि़त परिवार का आरोप है कि पुलिस इस पूरे मामले में शुरू से आरोपी पक्ष के साथ नजर आई। मुकदमे को कमजोर धारा (304ए आईपीसी) में लिखा और तफ्तीश के नाम पर लीपापोती चल रही है। मामले में जांच अधिकारी चौकी इंचार्ज स्वरूपनगर शिवकुमार सीेएम ड्यूटी में झांसी चले गए। थाना इंचार्ज विवेक सिंह कहते हैं कितफ्तीश जारी है, हम आरोपी का ड्राइविंग लाइसेंस तलाश रहे हैं, अभी मिला नहीं।
रईसजादों के प्रभाव में पुलिस का ढीला रुख देखकर अमर उजाला ने तय किया कि वह इस मामले में अपने स्तर पर पड़ताल करेगा और जो भी तथ्य उजागर होंगे पाठकों के सामने रखेगा। आरोपी ने घटना के वक्त शराब पी रखी थी या नहीं इस मामले को तो पुलिस ने देर से मेडिकल कराकर दफन कर दिया। अब अहम बिन्दु यह कि क्या रेस जीतने के लिए वाकई जानबूझकर अंधाधुंध कार चलाई गई जो घटना का कारण बनी ? रेस में शामिल तरन के साथी इस मामले में अहम गवाह हो सकते हैं। वो कौन थे, कहां से साथ निकले, रेस कैसे शुरू हुई? इन सारे सवालों के जवाब की पड़ताल में पता चला कि शनिवार की रात वीआईपी रोड के एक हाईप्रोफाइल क्लब में सुबह तीन बजे तक पार्टी चली। इसमें तमाम रईसजादों की फौज जुटी थी। सुबह तीन बजे तक शराब का दौर चला और उसके बाद सभी यहां से निकल गए।
जानकारी मिली है कि लेदर एक्सपोर्टर के बेटे तरन के अलावा जाजमऊ स्थित एक टेनरी संचालक का बेटा, एक सपा नेता का बेटा व दो अन्य युवक अपनी गाडि़यों से तिलक नगर की ओर बढ़े। अमर उजाला को इनके नाम और परिवार के बारे में पता चल चुका है, मगर लीगल कारणों से इनका खुलासा नहीं कर रहे हैं। पार्टी में शामिल कुछ युवकों के मुताबिक तरन और उनके साथियों ने पहली रेस तिलक नगर मोड़ से राजीव पेट्रोल पंप तक लगाई थी।रेस में तरन इनोवा और अन्य साथी ऑडी, बीएमडब्ल्यू जैसी लग्जरी कारों में थे। इस रेस में तरन हार गया था। इसके बाद राजीव पेट्रोल पंप से दाएं फिर बाएं मुड़ते ही दूसरी रेस की बाजी लग गई, जिसका उपसंहार गैस्ट्रो हॉस्पिटल के सामने हादसे के साथ हुआ। हादसे के बाद तरन के साथी वहां से भाग खड़े हुए। बताया जाता है कि आगे जाकर ने सभी वीआईपी रोड पर इकट्ठा हुए। वहां थोड़ी देर हादसे की चर्चा करके सब अपने-अपने घर लौट गए। वो कौन हैं और अब कहां है, पुलिस चाहे तो दो मिनट में पता कर सकती है।


वो काली रात
22 सितंबर की देर रात स्वरूपनगर में गैस्ट्रोलीवर अस्पताल के सामने खड़ी ऑल्टो कार में तेज रफ्तार इनोवा कार ने टक्कर मार दी। हादसे में ऑल्टो में सो रहे इटावा निवासी अमित शर्मा की मौत हो गई, जबकि उसके दो दोस्त घायल हो गए। अगले ही दिन अमित के बीमार पिता भी चल बसे। इनोवा कार तरन सूरी चला रहा था, जिसके पिता की लेदर फैक्ट्री है।

Spotlight

Most Read

Varanasi

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

22 जनवरी 2018

Related Videos

आत्महत्या करने से पहले युवती ने फेसबुक पर अपलोड की VIDEO, देखिए

कानपुर के पांडुनगर से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। जिसमें एक महिला ने फेसबुक पर एक वीडियो जारी कर आत्महत्या कर ली। वजह जानने के लिए देखिए, ये रिपोर्ट।

21 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper