मंगल को अमंगल

Kanpur Updated Wed, 26 Sep 2012 12:00 PM IST
कानपुर। बुढ़वा मंगल पर पनकी मंदिर में मंगलाचरण आरती में शामिल होने की होड़ मचाए श्रद्धालुओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। इसके बाद मची भगदड़ में श्रद्धालु परशुराम (27) की मौत हो गई, जबकि 36 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए। घायलों में तीन की हालत गंभीर है। जिलाधिकारी एमपी अग्रवाल ने हादसे की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए हैं। मंदिर प्रशासन और श्रद्धालुओं में पुलिस के प्रति बेहद आक्रोश है।
बुढ़वा मंगल पर पनकी मंदिर में श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला सोमवार शाम से ही शुरू हो गया था। रात होते-होते हजारों श्रद्धालु मंदिर पहुंच गए। सैकड़ों लोगों ने मंदिर की छत पर डेरा डाल लिया। महंत जितेंद्र दास ने बताया कि मंदिर के पट देर रात 3 बजे खुलने थे। पर, प्रशासन ने डेढ़ घंटे पहले ही पट खुलवा दिए। इससे मंदिर के भीतर भक्तों की भारी भीड़ जमा हो गई। बकौल महंत, 3 बजे पुजारी बाल किशन, महंत रमाकांत दास, भुनेश्वर दास के साथ वे खुद मंगलाचरण आरती के लिए अपने आवास से निकले। उनके पीछे छतों पर डेरा डाले करीब 50-60 लोग चल दिए। इनमें महिलाएं भी थीं। आरती शुरू होती इसके पहले ही सीओ कल्याणपुर राजेश यादव अपने मातहत पुलिसकर्मियों के साथ गर्भगृह में पहुंच गए। महंत जितेंद्र का आरोप है कि सीओ मंदिर में भीड़ देख आपे से बाहर हो गए। उन्होंने श्रद्धालुओं को हड़काया और एक लाठी जाली पर मार दी। जोरदार आवाज होने पर श्रद्धालु मुड़े तो सीओ और अन्य पुलिसकर्मियों ने लाठी चला दी। इससे भगदड़ मच गई। श्रद्धालु जान बचाने के लिए मंदिर से बाहर भागे। लाठीचार्ज की सूचना से मंदिर के मुख्य प्रवेशद्वार स्वामी विवेकानंद उत्तरीद्वार पर भी अफरातफरी मच गई। लेकिन वहां मौजूद पनकी थानाध्यक्ष अनिल कुमार शाही ने भी श्रद्धालुओं को सही स्थिति से अवगत कराने की बजाय लाठीचार्ज कर दिया। इसके बाद मची भगदड़ में कई श्रद्धालु सड़क पर गिर गए और भीड़ उन्हें रौंदते हुए निकल गई।
सूचना पाकर पीएसी और क्यूआरटी (क्वीक रिस्पांस टीम) के साथ एसपी ग्रामीण मनोज सोनकर वहां पहुंचे। एसपी ने श्रद्धालुओं को समझाने के साथ ही घायलों को हैलट और उर्सला भिजवाया। करीब एक घंटे बाद स्थिति सामान्य हो सकी। उर्सला में इलाज के दौरान दबौली निवासी परशुराम प्रजापति की मौत हो गई, जबकि इटावा के हरियापुर गांव के सलमान (18) और हैलट में भर्ती पनकी के गंगागंज भाग-एक निवासी विकास शर्मा (20) और 20 साल के एक अनजान युवक की हालत गंभीर है।
डीएम एमपी अग्रवाल और डीआईजी अमिताभ यश ने घटनास्थल का मुआयना किया। डीएम और डीआईजी का कहना है कि पहले दर्शन करने की होड़ में श्रद्धालुओं में हुई धक्कामुक्की के दौरान भगदड़ मची थी। डीएम ने बताया कि हादसे की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए गए हैं। जांच एसीएम-फोर पप्पू गुप्ता को सौंपी है। रिपोर्ट आने के बाद दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls