वादी-ए-जिन्न में न जाएं हज यात्री

Kanpur Updated Thu, 20 Sep 2012 12:00 PM IST
रजा शास्त्री
कानपुर। हज पर जाने वाले यात्री यह बात अपने जेहन में बैठा लें कि तफरीह करने के लिए वादी-ए-जिन्न में नहीं जाएंगे। खुद्दाम भी लोगों को यह बात समझाते हैं और सऊदी में भी लोग इस बावत हज यात्रियों को खबरदार कर रहे हैं। इतना समझाने पर भी लोग भूलवश वहां चले जाते हैं। बहुत से यात्री इस वक्त मदीना शरीफ में पहुंच चुके हैं। हालांकि हज प्रक्रिया अभी शुरू नहीं हुई, वक्त गुजारने के चक्कर में वे घूमने के लिए इस खतरनाक घाटी में चले जाते हैं।
राज्य से राज्य हज कमेटी को कोटे में कानपुर शहर से 1010 यात्री जाएंगे। जाने का सिलसिला 17 से शुरू हो चुका है, जो पांच अक्टूबर तक चलेगा। उसके बाद हजयात्री मदीने शरीफ में करीब सप्ताह भर रुकेंगे। इसके बाद मक्का शरीफ को प्रस्थान करेंगे। सऊदी एयरलाइंस की फ्लाइट हज यात्रियों को अमौसी एयरपोर्ट लखनऊ से सीधे मदीना शरीफ ले जा रही हैं। यात्रियों के वहां ठहरने का माकूल इंतजाम किया गया है। दिन में घूमने के चक्कर में लोग आसपास के स्थलों पर जा रहे हैं। राज्य हज समिति के पूर्व सदस्य डॉ सैयद सुल्तान हाशमी ने बताया कि मदीना शरीफ से 45 किमी की दूरी पर वादी-ए-जिन्न स्थित है। यह स्थान पहाड़ियों से घिरा हुआ है। आसपास कोई आबादी नहीं है। सैकड़ों साल पुराना एक कब्रिस्तान है। ड्राइवर कमाई के चक्कर में अक्सर यात्रियों को घुमाने के लिए वहां ले जाते हैं।
उन्होंने बताया कि हज यात्रियों से लगातार अपील की जाती है कि वहां न जाएं। उधर से गुजरने वाले वाहन अक्सर दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं। लगातार हादसे होने की वजह से सऊदी सरकार ने भी वहां जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। वहां बड़े-बड़े चेतावनी बोर्ड भी लगे हैं। अखिल भारतीय खुद्दाम हज कमेटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नईमुद्दीन सिद्दीकी ने बताया कि यात्रियों से अपील की जा रही है कि वादी-ए-जिन्न न जाएं। वक्त इबादत में गुजारें।


बहुत पहले से वादी-ए-जिन्न में जाने की मनाही है। यह मान्यता है कि यहां जिनों की बस्तियां आबाद है। यह पूरा इलाका निर्जन है। चारों तरफ पहाड़ियां हैं। लगातार हादसों से आजिज आकर अब सऊदी सरकार ने भी पाबंदी लगा दी है। यह मान्यता बहुत पुरानी है।
-मौलाना रियाज अहमद हशमती, काजी-ए-शहर

आज की फ्लाइट (सऊदी एयरलाइंस)-अमौसी एयरपोर्ट
पहली-सुबह 9.50 बजे
दूसरी-सुबह 11.50 बजे


आज शहर से दो सौ हजयात्री जाएंगे
कानपुर। शहर से गुरुवार को 200 यात्री हज यात्रा पर जाएंगे। अखिल भारतीय खुद्दाम हज कमेटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नईमुद्दीन सिद्दीकी ने बताया कि यात्री 6 घंटा पहले हज हाउस पहुंच जाएं तो आसानी रहेगी। काउंटरों पर यात्रियों की लंबी लाइन लगने के कारण देर हो जाती है। केंद्रीय हज कमेटी के काउंटर पर यात्रियों को वीजा, पासपोर्ट और शिनाख्ती कार्ड मिलेगा। यहां स्टेट बैंक की शाखा में प्रत्येक हज यात्री को 2100 रियाल अरब मुद्रा मिलेगी। उन्होंने बताया कि अगर देर हो गई तो हज यात्रियों की फ्लाइट छूट सकती है। बुधवार को शहर के अलग-अलग क्षेत्रों के 125 हज यात्री सऊदी एयरलाइंस से 125 मदीना शरीफ के लिए रवाना हो गए। जाते वक्त यात्रियों को परिजनों और मोहल्लों वालों ने उन्हें फूलमालाएं पहनाई।




वादी-ए-जिन्न खबर का जोड़----------


मदीना पहुंच कर यह करें
.नबी करीम सल्लल्लाहो अलैहवसल्लम के रौजा-ए-मुबारक जाने के बाद गुस्ल करें, इत्र और सुरमा लगाएं, साफ सुथरे कपड़े पहनें
.सरकार-ए-दो आलम के रौजे के परिसर में नजरें नीची रखें और धीमी से अदब के साथ सलाम अर्ज करें
.फिर हजरत अबूूबक्र सिद्दीक (रजितालाअन्हो) और हजरत उमर फारूक (रजितालाअन्हो) के आस्ताना के पास जाकर सलाम अर्ज करें
.इसके बाद जन्नतुल बकी की तरफ रुख करें
.यहां भी अदब के साथ दाखिल हों

Spotlight

Most Read

Lucknow

ओपी सिंह होंगे यूपी के नए डीजीपी, सोमवार को संभाल सकते हैं कार्यभार

सीआईएसएफ के डीजी ओपी सिंह यूपी के नए डीजीपी होंगे। शनिवार को केंद्र ने उन्हें रिलीव कर दिया।

20 जनवरी 2018

Related Videos

IIT-K के छात्रों ने बनाया हेलीकॉप्टर, 24 घंटे उड़ने की क्षमता

IIT कानपुर में पोस्ट ग्रैजुएट स्टूडेंट्स की टीम ने एक ऐसे हेलीकॉप्टर का निर्माण किया है जो 24 घंटे तक लगातार उड़ सकने में सक्षम है। इस टीम ने अपने हेलीकॉप्टर के डिजाइन को अमेरिकी हेलीकॉप्टर कॉन्टेस्ट में भेजा जहां उन्हें जीत भी हासिल हुई।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper