जच्चा-बच्चा अस्पताल में बनेगा रैनबसेरा

Kanpur Updated Thu, 20 Sep 2012 12:00 PM IST
कानपुर। मेडिकल कालेज प्रिंसिपल डा. नवनीत कुमार ने बुधवार को जच्चा-बच्चा अस्पताल का निरीक्षण कर अव्यवस्थाएं पकड़ीं। अस्पताल के आपरेशन थियेटर (ओटी) से पानी टपक रहा था। डाक्टरों के कमरों की हालत बहुत खराब होने के साथ ही तीमारदारों को मजबूरी में जमीन पर बैठना पड़ रहा था। प्रिंसिपल ने बताया कि लेबर रूम और एनआईसीयू के बाहर तीमारदारों के बैठने के लिए कुर्सियां पड़ेंगी। रैनबसेरा भी बनवाया जाएगा।
निरीक्षण के मद्देनजर अपर इंडिया को 2 दिन से चमाचम किया जा रहा था। वार्ड और बरामदे साफ कराने के साथ ही रास्तों में चूना छिड़कवाया गया था लेकिन प्रिंसिपल के पहुंचते ही असलियत सामने आ गई। निरीक्षण के दौरान यहां के 5 ओटी में एक ओटी की छत से पानी टपक रहा था। रेजीडेंट रूम (जूनियर डाक्टर) में जगह-जगह गंदगी समेत कई अव्यवस्थाएं मिलीं। इसके बाद वे एनआईसीयू (नियोनेट बेबी यूनिट) पहुंचे तो वहां दरवाजे के बाहर से गैलरी में दोनों तरफ तीमारदार फर्श पर चादर बिछाए बैठे थे। यही स्थिति लेबर रूम के सामने बरामदे में भी थी। तीमारदारों ने उन्हें बताया कि बैठने के लिए कुर्सियां ही नहीं हैं। इसके अलावा दूरदराज से आने वालों के रुकने की व्यवस्था भी नहीं है।



पानी की 8 टंकियों का निर्माण शुरू
कानपुर। जेएनएनयूआरएम योजना में रुकी पड़ीं शहर की 11 में से 8 टंकियों का निर्माण शुरू हो गया है। इन टंकियों के बनने में करीब डेढ़ साल से अड़चनें आ रही थीं। जगहें तय थीं पर लोगों के विरोध के कारण जल निगम काम शुरू नहीं करा पा रहा था। अधीक्षण अभियंता ने बताया कि शेष तीन जगहों का विवाद भी जल्द निपट जाएगा। टंकियां बनने के बाद करीब पांच लाख आबादी को पानी की कमी नहीं होगी।
वर्ष 2050 तक शहर को पर्याप्त पानी की आपूर्ति के लिए जेएनएनयूआरएम योजना के पहले चरण में शहर में 14 और दूसरे चरण में 28 टंकियां बननी थीं। टंकियां बनाने के लिए पार्कों की जगह तय की गई। कुछ जगह बगैर विरोध काम हो गया पर कई जगह जनता ने विरोध कर दिया। इससे पहले चरण में 5 और दूसरे चरण में 6 टंकियों का निर्माण फंस गया। काफी जद्दोजहद के बाद अब 11 में से 8 मामले सुलझ गए हैं। जल निगम के अधीक्षण अभियंता महेश चन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि 11 में से आठ जगह गांधी पार्क, नाजिर खां पार्क, फजलगंज, तकिया पार्क, हरजेंदर नगर, किदवई नगर, रविदासपुरम और छेदी सिंह का पुरवा में काम शुरू हो गया है। पार्वती बागला रोड, बर्रा पश्चिम कैलाश पार्क और चन्दारी में काम अभी फंसा है।

इनसेट
गुजैनी में नलों से आ रहा सीवर का पानी
कानपुर। जलकल विभाग की लापरवाही से जनता सीवर का पानी पीने को मजबूर है। घरों में सप्लाई होने वाले पानी में लगातार क्लोरीन शून्य मिल रही है। गुजैनी ए और सी ब्लाक के घरों में नलों से सीवर का पानी आने की शिकायत मिली है। जनता का कहना है कि समस्या करीब एक महीने से बनी हुई है। जलकल और स्थानीय पार्षद से शिकायत की गई लेकिन झूठे आश्वासन के सिवा कुछ नहीं मिला।
जलकल विभाग के नलकूपों, पानी की टंकियाें में क्लोरीन न मिलने का खुलासा खुद विभागीय जांच में हुआ है। नगर आयुक्त एनके सिंह चौहान ने जलकल महाप्रबंधक जवाहर राम को निर्देश दिए थे कि पानी की गुणवत्ता सुधारी जाए पर कुछ नहीं हुआ। वहीं जलकल महाप्रबंधक का कहना है कि पानी में गड़बड़ी की जांच होगी। मौके पर टीम भेजकर समस्या का निस्तारण कराया जाएगा।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी पुलिस के इस सिपाही ने किया खाकी को शर्मसार

फतेहपुर में एक बार फिर पुलिस का खौफनाक चेहरा सामने आया है। यूपी पुलिस के सिपाही ने एक युवक की बेरहमी से पिटाई कर दी। पुलिसवाले ने युवक की पिटाई इसलिए कर दी क्योंकि युवक की बाइक से सिपाही को टक्कर लग गई।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper