जाओ यहां से, हम कुछ नहीं कर सकते

Kanpur Updated Wed, 19 Sep 2012 12:00 PM IST
कानपुर। दोपहर 12.40 बजे। केईएम फूलबाग में तहसील दिवस। दरवाजे से घुसते ही अफसरों पर नजर पड़ी तो अफसर बातचीत और पत्रिका के पन्ने उलटते दिखे। बी 18 आवास विकास कालोनी हंसपुरम नौबस्ता निवासी रफीक मुहम्मद ने अपनी अर्जी एसडीएम सदर इंद्रपाल गौतम को थमाते हुए शिकायत बताना शुरू किया। एसडीएम ने अर्जी पर एक नजर दौड़ाई और बोले यहां नहीं एडीएम एलए के पास जाइए। यह कहते ही एसडीएम का मोबाइल बज उठा तो उन्होंने बात शुरू कर दी। बात खत्म होने पर रफीक ने फिर एसडीएम की तरफ अर्जी बढ़ा दी। एसडीएम नाराजगी जताते हुए बोले, कहा..न एडीएम साहब के पास जाओ। ..यहां कुछ नहीं हो सकता। ..समझ में नहीं आता हम अपने अफसर के लिए अर्जी पर कुछ नहीं लिख सकते..जाओ।
यह तो एक बानगीभर है। तहसील दिवस में मंगलवार को कई फरियादियों के साथ यही हुआ। यह हाल तो तब है जब तहसील दिवस मुख्यमंत्री की प्राथमिकता में शामिल है। मुख्यमंत्री की मंशा है कि तहसील दिवस में आए लोगों की शिकायत का जल्द से जल्द निस्तारण किया जाए। दरअसल, सराय लंगर शकूराबाद फतेहपुर के मूल निवासी रफीक अपने ही नहीं 9 किसानों को हक दिलाने के लिए 1985 से दौड़भाग कर रहे हैं। 1985 में रिंद नदी अरौच भोगनीपुर-घाटमपुर बिंदकी मार्ग के लिए 9 किसानों की 20 बीघा जमीन का अधिग्रहण किया गया था। पीडब्लू ने मुआवजा राशि 2.40 लाख रुपए एडीएम भूमि अध्याप्ति दफ्तर को 31 मार्च 1986 को भेज दी गई थी। इसका खुलासा आरटीआई से हो चुका है। इसके बावजूद किसानों को अभी तक उनका हक नहीं मिला है। तहसील दिवस में एडीएम आपूर्ति आरएन वाजपेयी, एसपी मनोज सोनकर, तहसीलदार एआर फारुखी और सीओ सदर इंदुप्रभा मौजूद थीं।
इनसेट-
राहत तो दूर अर्जी नहीं ली
कृष्णा नगर नागरिक समिति के सचिव सतपाल भाटिया रामादेवी से टाटमिल तक बसों की संख्या बढ़ाने की मांग की अर्जी लेकर पहुंचे थे। उन्होंने शिकायत का पंजीकरण कराया और एडीएम आपूर्ति को थमाई। अर्जी कमिश्नर के नाम से थी। इसलिए लेने से इनकार कर दिया गया। सतपाल का कहना था कि तहसील दिवस में परिवहन विभाग से कोई अफसर भी नहीं आया है।
--
2 पोल के लिए 4 साल से चक्कर
देवी सहाय नगर कल्याणपुर निवासी छोटेलाल ने शिकायत दर्ज कराई कि उनके क्षेत्र में 2 पोल लगने हैं। पोल न लगने से बांस-बल्लियों पर केबिल लगी है। उन्होंने पहली अर्जी 2 अगस्त 2008 को दी थी। 2009 और 10 में केस्को से 2 बार इस्टीमेट भी बना पर पोल नहीं लगे। बताया गया कि पोल दूसरी जगह लगा दिए गए। वह अब चौथी बार तहसील दिवस में अर्जी देने आए थे।
---
नहीं मिल रहा मजदूरी का पैसा
बहलामऊ भौती निवासी इंद्रा देवी दूसरी बार तहसील दिवस में आईं थीं। उनका कहना था कि 3 साल पहले पति लालू सैनी की मौत हो गई थी। वह मनरेगा में काम करते थे। मजदूरी का 6 हजार रुपए बकाया है। ढाई साल से कई अर्जी दे चुकी हैं पर पैसा नहीं मिल सका। कोई अफसर ठीक से मामला सुनता तक नहीं है। वह सब काम छोड़कर तहसील दिवस आती है पर सुनवाई नहीं होती है।
---
107 शिकायतें आईं, 5 का निस्तारण
पुलिस-27, राजस्व-18, नगर निगम-14, समाज कल्याण विभाग-5, बिजली-8, जल संस्थान-3, जल निगम-2, डीएसओ-8, केडीए-7, शिक्षा की 5 और अन्य 10 शिकायतें आईं। इनमें से 5 का ही मौके पर निस्तारण हो सका।
---

Spotlight

Most Read

National

इलाहाबाद HC का निर्देश- CBI जांच में सहयोग करे लोक सेवा आयोग

कोर्ट ने लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष को जवाब दाखिल करने के लिए छह फरवरी तक की मोहलत दी है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

जिन्होंने मथुरा और गोरखपुर में काम रोक दिए वो हज सब्सिडी क्या देंगे: अखिलेश यादव

गुरुवार को औरैया पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार पर जमकर बरसे। पूर्व सीएम पार्टी कार्यकर्ता की मृत्यु पर शोक संवेदना व्यक्त करने आये थे।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper