महंगी हुई रसोई गैस तो टेंशन काहे की!

Kanpur Updated Mon, 17 Sep 2012 12:00 PM IST
कानपुर। इस महंगाई में आम आदमी के साथ खास भी बजट को लेकर परेशान हैं। सरकार ने साल में 6 सिलेंडर के बाद 7वें सिलेंडर से सब्सिडी जो खत्म कर दी है। हालांकि बाजार में मौजूद ब्रांडेड कंपनियों के इंडेक्शन चूल्हे अपनाकर खर्च पर कैंची चला सकते हैं। नवीन मार्केट स्थित किचन एपलायंस विक्रेता राजकुमार के अनुसार इंडेक्शन चूल्हे पर हर तरह का खाना पकाया जा सकता है। इसमें सब्सिडी वाले सिलेंडर की अपेक्षा 20 प्रतिशत कम खर्च आता है। एक अन्य विक्रेता राज ने बताया कि इंडक्शन चूल्हे पर 4-5 लोगों के परिवार का खाना-नाश्ता बनाने में रोज ढाई से तीन यूनिट बिजली खर्च होती है।

इंडक्शन कुकिंग के अन्य फायदे
120 से 2000 वाट की इंडक्शन चूल्हे बाजार में उपलब्ध हैं।
विशेष बर्तन न होने पर स्टील के समतल तली के बर्तन कर सकते हैं प्रयोग
5 मिनट में 5 लीटर दूध उबल जाता है, पंखे के नीचे भी पका सकते हैं खाना
इंडक्शन प्लेट का सेट 3600 रुपये का है। साथ में तीन नॉन स्टिक पैन मुफ्त
अगर पैन साथ में नहीं लेंगे तो 2200 रुपये में उपलबध है इंडक्शन प्लेट

ऐसे बचा सकते हैं गैस
गरम करने के लिए पानी, दूध रखने के बाद ही गैस जलाएं
हर छह माह में गैस की पाइप बदलें और चूल्हे की सर्विसिंग कराएं
तांबे की तली वाले बर्तन प्रयोग करने से 10 फीसदी तक ईंधन की बचत
नामचीन कंपनी का चूल्हे का प्रयोग बेहतर। मिलता है अच्छा फ्लेम
फ्रिज से निकले खाद्य पदार्थ को तापमान सामान्य होने पर गरम करें
नोट : इन उपायों से औसत बचत 20 प्रतिशत। 399 रुपये वाले सिलेंडर पर 80, 746 वाले सिलेंडर पर औसत बचत 150 रुपये।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018