विज्ञापन
विज्ञापन

मंधना-भौती बाइपास का खाका तैयार

Kanpur Updated Wed, 29 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
कानपुर। केडीए ने मुख्यमंत्री की प्राथमिकता में शामिल मंधना-भौती बाइपास का खाका तैयार कर लिया है। बाइपास की विस्तृत रिपोर्ट बनाकर औद्योगिक विकास आयुक्त को भेज दी गई है। केडीए ने बाइपास निर्माण के लिए नोडल एजेंसी नियुक्त करने का निवेदन किया है। औद्योगिक विकास आयुक्त जल्द रिपोर्ट शासन के समक्ष रखेंगे। पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी मॉडल) पर बनने वाला यह फोरलेन बाइपास साढ़े 8 किलोमीटर लंबा होगा। इसकी वर्तमान अनुमानित लागत करीब 320 करोड़ रुपए है जिसमें दो रेलवे ओवर ब्रिज और छोटी-बड़ी नहर पर दो पुल का निर्माण शामिल है। मंधना-भौती बाइपास नेशनल हाइवे-91 पर आईआईटी से मंधना की ओर चलने पर करीब ढाई से तीन किलोमीटर की दूरी पर होरा कछार व बगदौधी कछार गांव की सीमा के पास से शुरू होगा। बाइपास के दोनों और साढ़े 12 मीटर चौड़ी ग्रीनबेल्ट बनेगी। मंधना से कानपुर-फर्रुखाबाद रेलवे लाइन पड़ेगी जहां पहला पुल बनेगा। इसके बाद पुरवा नानकारी गांव में छोटी व एक बड़ी नहर (लोअर गंगा कैनाल) है जहां पुल बनाए जाएंगे। इसके बाद यह बाइपास शिवली रोड से निकलकर बहेड़ा गांव होते हुए कपली गांव के पास निकलेगा। बाइपास के एलाइनमेंट में कानपुर-दिल्ली रेलवे लाइन पर भी एक पुल प्रस्तावित है। रेलवे पुलों के निर्माण में 80 करोड़ की लागत आएगी जबकि कैनाल पर पुल व पुलिया के लिए 50 करोड़ का बजट तय किया गया है। बाइपास के रास्ते में पड़ने वाले गांव के लोगों के आवागमन और कपली गांव के नाले पर निर्माण कार्य 5 करोड़ से कराया जाएगा। सड़क निर्माण का अनुमानित व्यय 67 करोड़ रुपए है।
विज्ञापन
विज्ञापन
बाइपास में यह 13 गांव आएंगे
पनकी गंगागंज, मकसूदाबाद, बगदौधी कछार, परगही बांगर, पनकी भऊसिंह, होरा बांगर, होरा कछार, चकरतनपुर, कपली, बहेड़ा, लौहधर, बारासिरोही और पुरवा नानकारी।


शहर में नहीं घुसेंगे लखनऊ-इलाहाबाद जाने वाले वाहन
मंधना-भौती बाइपास से शहर में ट्रैफिक की समस्या काफी हद तक हल हो जाएगी। दिल्ली से नेशनल हाइवे-91 पर आने वाले वो ट्रक, बसें व कारें जिन्हें हमीरपुर, लखनऊ अथवा इलाहाबाद जाना है, वह इस बाइपास से रामादेवी होते हुए शहर से बाहर निकल जाएंगे। इससे शहर की सड़कों पर यातायात लगभग आधा रह जाएगा।

आसमान पर पहुंचे जमीन के दाम
बाइपास के निर्माण की चर्चा से आसपास की जमीन के दाम आसमान पर पहुंच गए हैं। मंधना-भौती बाइपास केडीए के मास्टर प्लान में स्वीकृत आंतरिक रिंग रोड का एक हिस्सा है। इसके निर्माण से अब तक उपेक्षित पड़े साढ़े 8 किलोमीटर क्षेत्र में अभूतपूर्व विकास होगा। जिन गांवों के नजदीक से बाइपास गुजरेगा वहां की जमीन खरीदने की होड़ लगी है। शहर के बिल्डरों में यहां की जमीन पर नजर है।

सड़क में आएगी यह जमीन
ग्राम समाज की जमीन-41.72 हेक्टेयर
केडीए की अर्जित भूमि-13.17 हेक्टेयर
अधिग्रहण की जाने वाली निजी भूमि-47.28 हेक्टेयर

Recommended

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
HP Board 2019

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Kanpur

यूपीः भाजपा विधायक को लगा बड़ा झटका, न्यायालय ने इस मामले में सुनाई आजीवन कारावास की सजा

यूपी के हमीरपुर जिले से भाजपा विधायक अशोक सिंह चंदेल को बड़ा झटका लगा है। 1997 में हुए एक हत्याकांड के मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने विधायक अशोक सिंह चंदेल समेत पांच लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।

19 अप्रैल 2019

विज्ञापन

पूर्वा ट्रेन हादसा उजागर कर रहा रेलवे की लापरवाही या फिर है कोई और वजह

उत्तजर प्रदेश के कानपुर के निकट कल रात बड़ा रेल हादसा हो गया। रात करीब 1 बजे तेज धमाका हुआ। इस धमाके के साथ ट्रेन दो हिस्से में बंट गयी। तेज झटके के कारण रात के वक्त गहरी नींद में सो रहे लोगों में दहशत फैल गई।

20 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election