बेटी हुई तो पति दहेज मांगने लगा

Kanpur Updated Mon, 20 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
रजा शास्त्री
कानपुर। ‘बेटी क्या पैदा हो गई, वह अब दहेज मांगने लगे हैं। मायके वाले मांगें पूरी न कर सके तो जुल्म ढा रहे हैं। सुबह-शाम पिटाई करते हैं। ऐसी चीजें मांगते हैं जो मायके वाले दे ही न पाएं। सरकार हमारी मदद करे। पिता की छोटी सब्जी की छोटी सी दुकान है। कहां से पैसे लाएं? साहब हमारी जिंदगी नरक हो गई है।’
यह दृश्य था नवीन मार्केट स्थित नगर-ग्रामीण जिला समाजवादी पार्टी कार्यालय में जनता दरबार का। रविवार को ज्योरा के रहने वाले जीतू की पत्नी स्वाति (19) तीन महीने की बच्ची को सीने से चिपकाए अपने पिता लल्लन, मां कमला देवी और चचेरी बहन द्रोपदी के साथ यहां अपनी आपबीती बताने पहुंची थी। स्वाति ने चेहरे की चोटें दिखाते हुए जब अपनी दास्तां बयान की तो विधायक मुनींद्र शुक्ल और वहां मौजूद हर एक शख्स शख्स जड़ रह गया। विधायक ने कार्रवाई के लिए एसओ नवाबगंज को फोन किया और महिला थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए कहा।
बता दें कि राज्य संसदीय बोर्ड के फैसले के हवाले से प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जनप्रतिनिधियों को जिला कार्यालय में बैठकर प्रतिदिन जनता की समस्याएं निस्तारित करने के निर्देश दिए थे। लेकिन दो महीने बीत जाने के बाद भी एक भी विधायक कार्यालय नहीं आए। इस पर ‘अमर उजाला’ ने मुद्दा उठाया था। इसके बाद जिलाध्यक्ष चौधरी नाहर सिंह यादव ने सत्ता पक्ष के सभी जनप्रतिनिधियों का दिन और समय जनसुनवाई के लिए नियत कर दिया था। उसी कड़ी में विधायक मुनींद्र शुक्ल रविवार को समस्याएं सुन रहे थे। यह रिपोर्टर पूरे समय जिला कार्यालय में मौजूद रहा, ‘जनता दरबार’ की पूरी कार्यवाही देखी। वैसे लिखित रूप से और फोन पर 34 समस्याएं आईं। कुछ मामलों को हू-ब-हू पाठकों के समक्ष प्रस्तुत किया है।
‘जनता दरबार’ में 38/156 गिलिस बाजार के रहने वाले जगदीश प्रसाद गुप्ता ने गुहार लगाई कि उनकी दुकान के बगल में एक बिल्डर ने प्लाट खरीदा है। वह उनकी दुकान पर कब्जा करना चाहता है। गुप्ता ने बताया कि बगल में प्लाट खुदवा दिया तो उनकी नींव तक खुल गई। मलबा दुकान की छत पर डलवा दिया। इससे दुकान भसकने का डर है। दुकान का मुकदमा चल रहा था। सिविल जज जूनियर के यहां से वह मुकदमा जीत चुके हैं। चौकी इंचार्ज बार-बार आकर कहता है कि दुकान खाली कर दो। विधायक ने सीओ कोतवाली को फोन करके कहा कि कौन दारोगा है जो दुकान खाली करवाने के लिए परेशान करता है। इसके बाद डीआईजी के लिए एक पत्र टाइप करवाया।
104/343 पुराना सीसामऊ की रहने वाली केतकी कुशवाहा ने शिकायती पत्र दिया कि सिंहपुर कछार में आराजी संख्या 720 भूमि पर दबंगों ने कब्जा कर लिया है। विधायक ने बिठूर थाना प्रभारी को फौरन मामले में हस्तक्षेप करके प्रगति रिपोर्ट सूचित करने के लिए कहा है। इसके अलावा पुलिस, थाना, तहसील, बीएसए तथा ठगी के मामले जनता दरबार में आए। कुछ मामलों में विधायक ने फोन किया और कुछ में डीआईजी, बीएसए और संबंधित अधिकारियों को पत्र लिखवाए। संयोजन वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुनील शुक्ल और जिला सचिव सचिन वोहरा ने किया।


नगर-ग्रामीण इकाई के अध्यक्ष चौधरी नाहर सिंह यादव ने जनप्रतिनिधियों के अलावा कार्यकारिणी के पदाधिकारियों के भी दिन ‘जनता दरबार’ में उपस्थित रहने के निश्चित कर दिए हैं। इससे जनसमस्याओं के निस्तारण में आसानी होगी।

सोमवार:- विनोद प्रजापति (महासचिव), मुकेश यादव (उपाध्यक्ष)
मंगलवार:-विवेक अवस्थी (मीडिया प्रभारी/प्रवक्ता), मनोरमा त्रिवेदी (अध्यक्ष महिला सभा), मोना गौतम (महासचिव महिला सभा)
बुधवार:-संतोष यादव (जिला सचिव), साहिर हुसैन जाफरी (अध्यक्ष अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ)
गुरुवार:-सुबोध कटियार (जिला सचिव), अशोक कटियार (जिला सचिव)
शुक्रवार:-यामीन खान (जिला सचिव), मगन सिंह भदौरिया (विशेष आमंत्रित सदस्य)
शनिवार:-जावेद अख्तर (जिला सचिव), हीरेंद्र सेंगर (अध्यक्ष अधिवक्ता सभा)
रविवार:-सुनील शुक्ल (वरिष्ठ उपाध्यक्ष), सचिन वोहरा (जिला सचिव)


अगर आपकी भी कोई समस्या है तो सत्ता पक्ष के इस जनता दरबार में जा सकते हैं। उम्मीद है कि समस्या का समाधान भी होगा।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

National

सरकार से हुई वार्ता के बाद राजस्थान में गुर्जर आंदोलन स्थगित

सरकार ने गुर्जर आरक्षण आंदोलन के अगुआ कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला की अध्यक्षता में जयपुर आए गुर्जर समाज के प्रतिनिधिमंडल से कहा कि केंद्र सरकार इस पर काम करेगी।

20 मई 2018

Related Videos

कानपुर चिड़ियाघर में जानवर ऐसा रहेंगे ‘ठंडे-ठंडे,कूल-कूल’

भीषड़ गर्मी के चलते कानपुर चिड़ियाघर में अधिकारियों ने पशु-पक्षियों को राहत देने के लिए खास इंतजाम किया है। जानवरों के लिए खास व्यवस्था की गई है। देखिए, ये रिपोर्ट

20 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen