हड़ताल की आड़ में दबा श्रमिकों का वेतन-बोनस

Kanpur Updated Fri, 17 Aug 2012 12:00 PM IST
कानपुर। जेके जूट मिल प्रबंधन ने बंदी की आड़ में श्रमिकों का वेतन और ईद का बोनस भी दबा लिया। इसकी शिकायत लेकर तीन सौ से ज्यादा श्रमिकों ने उपश्रमायुक्त से मुलाकात की। श्रमिकों की समस्या सुनने के बाद उन्होंने प्रबंधन से बातचीत की, मगर उनकी ओर से कोई ठोस जवाब नहीं दिया गया है। उधर जेके जूट मिल मजदूर पंचायत के पदाधिकारियों ने मंत्री अरुणा कोरी से अपनी समस्याएं बयान की।
जबरन सेवानिवृत्ति के मुद्दे पर जेके जूट मिल में हुई हड़ताल आज भी जारी है। करीब बीस दिन पूर्व हुई हड़ताल के चलते प्रबंधन श्रमिकों का वेतन और ईद का बोनस देने के मुद्दे पर हीलाहवाली कर रहा है। इससे श्रमिक भुखमरी की कगार पर आ गए हैं। इसी समस्या को लेकर करीब तीन सौ श्रमिक गुरुवार को उपश्रमायुक्त वीरेंद्र यादव से मिलने पहुंचे। उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत कराया गया जिस पर उन्होंने प्रबंधन पक्ष से बातचीत की। प्रबंधन पक्ष ने वेतन-बोनस के मुद्दे पर दो-तीन दिन में जवाब देने की बात उपश्रमायुक्त से कही है। श्रमिकों की मानें तो प्रबंधन इस मुद्दे पर ठोस आश्वासन देने से बचता रहा। उधर जेके जूट मिल मजदूर पंचायत के सभापति दौलत राम और संगठन मंत्री रामप्रकाश राय के साथ एक प्रतिनिधि मंडल बाल पुष्टाहार मंत्री अरुणा कोरी से मिले। उन्होंने मिल प्रबंधन द्वारा मनमानी की शिकायत उनसे की। इस संबंध में उन्हें एक ज्ञापन भी दिया गया है।
-------------------
गेट पर भिड़े यूनियन वाले
कानपुर। प्रबंधन का पक्ष लेने के मुद्दे पर जेके जूट मिल से संबद्ध यूनियनों में टकराव हो गया। राजू प्रसाद और माता प्रसाद तिवारी के बीच में शुरू हुई नोकझोंक हाथापाई में बदलती इससे पहले ही बीचबचाव किया गया। आरोप है कि एक यूनियन प्रबंधन के पक्ष में श्रमिकों को बरगला रही थी।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018