विज्ञापन
विज्ञापन

186 ट्रेनों पर बिजली का ब्रेक

Kanpur Updated Wed, 01 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
कानपुर। करीब 35 घंटे के भीतर दोबारा ग्रिड फेल होने से कानपुर से गुजरने वाली 186 से अधिक ट्रेनें जहां की तहां खड़ी हो गई। दोपहर करीब 1 से 3 बजे के बीच बिजली सप्लाई पूरी तरह बंद होने से ट्रेन संचालन पूरी तरह से रुका रहा। इससे यात्रियों को खासी असुविधाओं का सामना करना पड़ा। सेंट्रल पर अफरातफरी मची रही। यहां मौके का फायदा उठाकर वेंडरों ने खानपान की वस्तुएं तिगुने दाम पर बेंची। पूछताछ काउंटरों पर यात्रियों की भीड़ उमड़ पड़ी लेकिन वहां से उन्हें कोई माकूल जवाब नहीं मिला। वहीं, यात्रियों की मदद के लिए शुरू किए गए रेलवे के यूनीक नंबर भी नहीं उठे। बताया गया कि पूरी व्यवस्था सामान्य होने में कम से कम 48 घंटे का वक्त लगेगा।
विज्ञापन
विज्ञापन
मंगलवार दोपहर करीब 12:57 बजे ग्रिड फेल होने के कारण बिजली सप्लाई बंद होते ही 2876 नीलांचल एक्सप्रेस लखनऊ फाटक तो उड़ीसा संपर्क क्रांति झकरकटी पुल के पास खड़ी हो गई। टूंडला इंटरसिटी और चौरीचौरा एक्सप्रेस सेंट्रल स्टेशन पर ही फंस गई। लखनऊ रूट बाधित होने के कारण उसे डीजल इंजन से बैक कराया गया। इसके बाद डीजल चलित मुंबई-एलटीटी एक्सप्रेस, रायबरेली पैसेंजर ट्रेनों को निकाला गया एक नंबर पर खड़ी चौरीचौरा एक्सप्रेस को डीजल इंजन से अनवरगंज भेजा गया। तब जाकर एक नंबर प्लेटफार्म क्लीयर हुआ। दिन में लगभग 15:05 बजे एनटीपीसी से सप्लाई लेकर शिकोहाबाद से मलवां स्टेशन के बीच ट्रेनों का संचालन शुरू हुआ। इलाहाबाद से फतेहपुर के बीच ट्रेन संचालन शाम 6:30 बजे तक बंद रहा। इस कारण जोगबनी, जोधपुर-हावड़ा, संगम सहित कई ट्रेनें तो इलाहाबाद से ही नहीं चल सकी। ट्रेन संचालन बंद होने से बौखलाए यात्रियों का हुजूम स्टेशन सुपरिटेंडेन्ट कक्ष पहुंचा और हंगामा करने लगा। सेंट्रल पर यात्रियों की खासी भीड़ जमा हो गई। हर तरफ अफरातफरी का नजारा था।

----------------
यूं लगा ट्रेनों की रफ्तार पर ब्रेक
--------------------
- दिन में 12:57 बिजली गुल, दिल्ली से मुगलसराय, लखनऊ रूटों पर ट्रेनें खड़ी हुईं।
- दिन में 15:04 बजे 200 मेगावाट बिजली एनटीपीसी से ली गई।
- दिन में 15:12 बजे मलवां से शिकोहाबाद के बीच ट्रेन संचालन शुरू हुआ।
- दिन में 15:40 बजे कनवार से दादरी के बीच ट्रेन संचालन चालू हुआ।
- शाम 16:40 से भरवारी से गाजियाबाद ट्रेन संचालन शुरू हुआ।
-----------------------------------------------------
कौन ट्रेन कहां फंसी
----------------
- नीलांचल लखनऊ फाटक, नार्थ ईस्ट सेंट्रल पर, टूंडला इंटरसिटी सेंट्रल पर, 2820 झकरक टी पुल के नीचे, 8102 पाता के पास, महानंदा डाउन एकदिल में, जोगबनी रूरा में, कालका कंचौसी के पास, मूरी अप करबिगवां, कालका अप रसूलाबाद, जोगबनी अप नैनी स्टेशन पर, गरीबरथ करछना में, जोधपुर-हावड़ा मांडा रोड, अजमेर सियालदाह छिलौली, पुरी बिगौही, एनई अप पालना में।
------------------------
4975 यात्रियों ने टिकट लौटाए
ट्रेन संचालन बंद होने और फंसी ट्रेनों के लेट होने के कारण शाम 6:30 बजे तक 4975 टिकट लौटाए गए। जबकि कनेक्ंिटग आरक्षण होने के कारण 6854 यात्रियों को दूसरी ट्रेनों में जाने की इजाजत दी गई।
-------------
डीजल इंजन से आई शताब्दी
कानपुर। लखनऊ से दिल्ली के बीच जाने वाली स्वर्ण शताब्दी एक्सप्रेस को लखनऊ से कानपुर तक डीजल इंजन से लाया गया। ट्रेन समय पर चलने के बावजूद सेंट्रल स्टेशन पर पौन घंटे बाद आ सकी। 15 मिनट इंजन बदलने के बाद दिल्ली को रवाना हो सकी।
--------------------
सेंट्रल पर 10 की 1 चाय बिकी
कानपुर। ट्रेन संचालन ठप होने का वेंडरों ने जमकर फायदा उठाया। जोगबनी एक्सप्रेस से कानपुर सेंट्रल पर शाम 5 बजे उतरे किदवईनगर निवासी एस दत्ता ने बताया कि रूरा स्टेशन पर तो ठंडे पानी की बोतल 15 रुपए में मिली। वहीं सेंट्रल के प्लेटफार्म नंबर 2 से 9 तक अधिकतर स्टालों पर 10 रुपए कप चाय मिली। वह भी 150 एमएल के बजाय 100 एमएल। कोल्ड ड्रिंक भी 30 के बजाय 40 रुपए में (600 एमएल) की बिकी।
--------
3 घंटे ठप रहा इंक्वायरी सिस्टम
कानपुर। स्थान -कैंट साइड स्टेशन के पोर्टिको के कोने में इंक्वायरी खिड़की। समय- दिन में 15:05 बजे। यात्रियों की लंबी लाइन लगी थी। तभी इटावा जाने की खातिर महिला श्यामा ने पूछा कि जोधपुर-हावड़ा कितने बजे आएगी, जवाब मिला कि अभी हमें नहीं पता तो तुम्हें कहां से बताएं। बोर्ड पर तो दिखा रहा है कि एक घंटे लेट। जवाब मिला कि वह संभावना है। हकीकत कुछ और है। स्टेशन अधीक्षक मेवालाल के कक्ष में कुछ यात्री पहुंचे तो वह ट्रेनों की लोकेशन लेने में जुटे दिखे। बाद में भीड़ से इंक्वायरी से पता करने को कहा गया। इससे भीड़ उत्तेजित हो गई। टेलीफोन लाइनें डेड होने से रेलवे का इंक्वायरी सिस्टम भी दिन में 2 से 5 बजे के बीच फेल रहा।
------------
यूनिक नंबर उठे ही नहीं
कानपुर। अमर उजाला संवाददाता ने मोबाइल से दिन में 2, 3 और 4 बजे रेलवे के यूनिक नंबर 0512-2323015, 0512-2323016 मिलाए। घंटी जाने के बाद भी फोन नहीं उठाए गए। जबकि 24 घंटे पहले ही एसीएम चिरंजी लाल ने बताया था कि दुर्घटना या फिर संचालन बंद होने पर इन यूनिक नंबरों पर किसी भी शहर का कोड लगा जानकारी कर सकते हैं। ये तब हुआ जब तमिलनाडु एक्सप्रेस में दुर्घटना के शिकार पलक (19) की मौत हो चुकी है। उनका शव अभी कानपुर नहीं आया है।
------------
यात्रियों से बातचीत फोटो भी शैलेंद्र
---------------------
न ट्रेन की व्यवस्था न दे रहे रिफंड
बिहार जाने को सेंट्रल स्टेशन पर खड़े प्रेमजीत ने बताया कि एक तो महाबोधि एक्सप्रेस के आने के बारे में कोई जानकारी नहीं दे रहे हैं। पैसा वापस मांगने गए तो कंफर्म टिकट में 50 फीसदी काटकर दे रहे हैं। ये तो सरासर अन्याय है।
--------------
काहे का इंतजाम
सहरसा, बिहार निवासी मो. मुन्ना 2 घंटे से महानंदा एक्सप्रेस के इंतजार में खड़े थे। उन्होंने बताया कि न तो एनाउंसमेंट हो रहा है और न ही कोई कुछ बताने वाला। प्रतीक्षालय में बैठने तक की सुविधा नहीं है।
--------
जानबूझकर दे रहे दिक्कतें
दिल्ली जाने को खड़े संजय सिंह का कहना है कि रेलवे अफसर जान बूझकर यात्रियों को परेशान करते हैं। इंक्वायरी में चार बाबू लगा दें तो दिक्कत कम होगी। एक बाबू सिटी साइड बैठा है वह जवाब दे कि जानकारी लेकर ट्रेनों का समय रजिस्टर में चढ़ाए।

-----------------------------

5 मिनट में फुल हुई दिल्ली की बसें
कानपुर। ट्रेन संचालन बंद होने और यात्रियों को चलने की सही जानकारी न होने से यात्रियों की भीड़ बस अड्डे की ओर मुड़ी। इस कारण दिन में 3 से शाम 6 बजे के बीच गोरखपुर और दिल्ली रूटों की बसें 5-5 मिनट में हाउसफुल हो जा रही थी। आगरा रूट की बसे आते ही चंद मिनट में फुल हो रही थी। शाम 4 से 5 बजे के बीच आगरा रूट पर छह बसें रवाना हुईं।
---------------------
सलाह काम की
----------------
घर से ही पता कर सफर पर निकलें
कानपुर। दूसरे दिन ग्रिड फेल होने से ट्रेन संचालन इस कदर प्रभावित हुआ कि अधिकारी भी ये तक नहीं बता पा रहे हैं कि कब तक संचालन पटरी पर आएगा। पर ये तय है कि ट्रेन संचालन को सुधरने में 48 घंटे अर्थात गुरुवार को दिन में 12 बजे के बाद ही ट्रेनें सामान्य होने का अनुमान है । पर ये तब है, जब कुछ सामान्य रहे। शाम 7 बजे तक दिल्ली और हावड़ा से ट्रेन संचालन सही तरीके से नहीं चालू हो सका है। इस कारण बुधवार और गुरूवार को सफर करने वाले यात्री रेलवे फोन से सही स्थिति पता करके ही स्टेशन पहुंचे।
----------------------------

Recommended

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से
Election 2019

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर
Election 2019

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Kanpur

एग्जिट पोल आने के बाद कहीं अखिलेश यादव को तो नहीं सता रहा हार का डर, इसलिए पूछा कितने वोट मिलेंगे

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शहीद जवान रोहित यादव के गांव जाते वक्त यहां जाजमऊ पुल पर सपाइयों से पूछा कि नगर सीट पर गठबंधन को कितने वोट मिलेंगे।

20 मई 2019

विज्ञापन

पीएम मोदी ने 142 रैलियों के जरिए बनाया माहौल, 1 लाख किमी की चुनावी यात्रा से हासिल हुई जीत

भाजपा का प्रचार अभियान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इर्द-गिर्द ही घूमा। पार्टी ने उन्हीं के नाम पर पूरा कैंपेन किया तो विपक्ष के निशाने पर भी मोदी ही रहे। मोदी ने चुनाव प्रचार के दौरान 1.05 लाख किलोमीटर की यात्रा के जरिए देश को खंगाला।

23 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election