बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

जहां सीएम वहां चमाचम, बाकी रोएं हरदम

Kanpur Updated Sun, 15 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
‘वो आए हमारे घर में ये खुदा की कुदरत, कभी हम उनको, कभी अपने घर को देखते हैं’ मिर्जा गालिब का यह शेर शहरियों के जेहन में कौंध रहा है। मुख्यमंत्री आ रहे हैं तो मेहरबान सिंह का पुरवा में साहबों की मेहरबानी बरसी है पर बाकी शहर अपने हाल पर रो रहा है। कई इलाकों में 8 दिन से बारिश का पानी भरा है, बदबू के भभके उठ रहे हैं। सड़कें पापड़ की तरह टूटी हैं, धंसी हैं और कहीं तो हैं ही नहीं। कूड़ेदानों से निकलकर कूड़ा सड़क पर फैला है। मच्छरों की फौज घरों में घुसने लगी है, खुदा शहर सचमुच ‘खुदा’ के हवाले है। लेकिन, तस्वीर का एक दूसरा पहलू भी है, 7 दिन में मेहरबान सिंह का पुरवा में इतना काम हो गया जो 7 साल में भी नहीं हुआ होगा। वहां की जिन सड़कों पर ट्रक वाले भी चलने में सोचते थे, वहां कार में बैठकर पानी का ग्लास लेकर चलो तो एक बूंद भी नहीं छलकेगी। झाड़ी-झंखाड़ में छिपे फुटपाथ नीले-पीले होकर दूर से चमक रहे हैं। हाईवे से लेकर गांव तक 24 घंटे काम चल रहा है। बाकी शहरी सोच रहें हैं काश, सीएम हमारे इलाके में भी आते...
विज्ञापन

एकता पार्क के दिन बहुरे
शनिवार को कई साल बाद मेहरबान सिंह का पुरवा के एकता पार्क में बने फव्वारे गीले हुए। पार्क की झाड़ियां साफ की गई, बिजली की लाइनें ठीक हुईं। खंभों में रोशनी हुई और पत्थरों पर जमा काई साफ की गई। 2004 में सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने एकता पार्क का उद्घाटन किया गया था। आस-पास के गांवों के लोगों ने बताया कि मुलायम सिंह की सरकार जाने के बाद से यह पार्क बदहाल पड़ा था, अब उम्मीद है कि यहां फिर रौनक लौट आएगी।


गलियों में चमन
हाईवे से मेहरबान सिंह पुरवा तक का धक्का खाते होने वाला सफर अब खुशनुमा हो गया है। सड़कें चमाचम हैं, गड्ढों में दबा-दबा कर गिट्टी-तारकोल भरा गया है। किनारों से झाड़ियां साफ कर दी गई हैं औप फुटपाथ दिखने लगे हैं। पड़ोस का तात्याटोपे नगर भी चमक गया है। यहां भी सालों से उखड़ी पड़ीं सड़कें ठीक कर दी गई हैं। सीएम का काफिला तात्याटोपेनगर कालोनी होते हुए पुरवा पहुंचेगा। रास्तों को सजाया जा रहा है। दिनभर नगरनिगम कर्मी हाईवे पर नालियां और मिट्टी साफ करने में जुटे रहे। अवैध गुमटी, झोपड़ियां हटा दी गईं।


अब कार्यक्रम हॉल में
पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार विधि कालेज परिसर स्थित मैदान में मुख्यमंत्री का मंच तैयार किया गया था, लेकिन बरसात ने पानी फेर दिया। मैदान में पानी भरने से अब कार्यक्रम शिफ्ट करके हॉल में किया जाएगा। यहां से वह रिमोट से गांवों के विद्युतीकरण का और कालेज का उद्घाटन करेंगे और 1000 छात्रों को भाषण देंगे। जगह सीमित होने के कारण उन्हें देखने वालों की आस अधूरी रह जाएगी।


चुनिंदा लोग कर सकेंगे लंच
मुख्यमंत्री के साथ लंच करने के लिए लगभग प्रशासन ने 150 पास तैयार किए हैं। मंत्री, अधिकारियों के अलावा कुछ वरिष्ठ सपा नेता उनके साथ लंच में शामिल होंगे।


इन गांवों का होगा विद्य़ुतीकरण
मुख्यमंत्री विधि कालेज और सभागार का उद्घाटन करने के बाद फत्तेपुर, वनपुरवा, इमलीपुर, मर्दनपुर, पिपौरी, इकघरा, खरगपुर, कसीगवां गांव के विद्युतीकरण का शुभारंभ करेंगे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us