सड़क के गुनहगारों पर रिपोर्ट पर अफसर बचे

Kanpur Updated Thu, 12 Jul 2012 12:00 PM IST
कानपुर। सड़क के गुनहगारों के खिलाफ आखिर बुधवार शाम काकादेव और नवाबगंज थाना में एफआईआर दर्ज हो ही गई। एफआईआर में अहमदाबाद की मेसर्स दोषियान लिमिटेड और इनके स्थानीय प्रतिनिधि आशुतोष पटेल व खरबेश का जिक्र है लेकिन जल निगम के किसी अफसर का नाम नहीं है।
बता दें कि शहर में पिछले हफ्ते पहली तेज बारिश ने नई बनाई गई सड़कों को ध्वस्त कर दिया था। जगह-जगह सड़कें धंस गईं और राहगीरों की जान पर बन आई। सड़क धंसने से कई हादसे हुए। ‘अमर उजाला’ ने शहर की इस समस्या को प्रमुखता से उठाया तो कैबिनेट मंत्री शिव कुमार बेरिया ने सोमवार को समीक्षा बैठक करके सड़क बनाने वाली ठेकेदार कंपनी और संबंधित अफसरों के खिलाफ रिपोर्ट लिखाने का आदेश दिया था। मंगलवार को जल निगम की तरफ से काकादेव और नवाबगंज थाना में प्रार्थनापत्र दिया गया। जल निगम की निर्माण इकाई के परियोजना अधिकारी शेरमल की तरफ से दिए गए प्रार्थनापत्र में ठेकेदार कंपनी मेसर्स दोषियान पर पाइप लाइनें बिछाने और सड़क निर्माण में मानकों का पालन न करने का आरोप लगाया गया है। बुधवार को पुलिस ने जांच के बाद आईपीसी की धारा 283, 288, 406, 409, 420 व 431 में रिपोर्ट लिख ली। काकादेव थाने में डबल पुलिया से विजय नगर तक की सड़क धंसने पर रिपोर्ट लिखाई गई है और नवाबगंज थाने में रावतपुर तिराहा से कंपनी बाग वाली रोड ध्वस्त होने पर एफआईआर दर्ज की गई है। नवाबगंज पुलिस के मुताबिक आशुतोष पटेल कंपनी के निदेशक हैं। पूछताछ के लिए पुलिस उनकी व खरबेश की तलाश कर रही है। हालांकि, जल निगम के अफसरों ने संबंधित क्षेत्र के अभियंताओं को साफ बचा लिया। पुलिस को दिए गए प्रार्थनापत्र में जल निगम के किसी अफसर-कर्मचारी का नाम नहीं है।

अफसरों और कर्मचारियों की भूमिका की जांच लोक निर्माण विभाग को सौंपी गई है। उनकी जांच रिपोर्ट के आधार पर ही कार्रवाई की जाएगी।
वाईके जैन, अधीक्षण अभियंता, जल निगम


जुर्म- सजा

धारा 283-सार्वजनिक रास्ते व दिशा मार्ग पर खतरा व बाधा पहुंचाना- सजा----अधिकतम 200 रुपए जुर्माना

धारा-288- भवन या अन्य मरम्मत कार्य के दौरान लापरवाही बरतना---सजा-अधिकतम 6 माह जेल या 1000 रुपए जुर्माना या दोनों

धारा-406-अमानत में खयानत करना----सजा-अधिकतम 3 साल की सजा, जुर्माना या दोनों

धारा-409-सरकारी कर्मचारी, बैंकर, व्यापारी या एजेंट द्वारा गबन करना----सजा-अधिकतम 10 साल की सजा या जुर्माना

धारा-420-धोखाधड़ी करना---------सजा-अधिकतम 7 साल की सजा या जुर्माना

धारा-431-सड़क, पुल, नदी या नहर में गड़बड़ी की वजह से घायल होना----सजा-अधिकतम 5 साल की सजा या जुर्माना या फिर दोनों



कंपनी ने काम समेटा, 6 करोड़ जुर्माना
-जल निगम करेगा ब्लैक लिस्टेड, अन्य पर भी होगी रिपोर्ट
स्टाफ रिपोर्टर
कानपुर। जेएनएनयूआरएम के तहत पानी की पाइप लाइन डालने और सड़क बनाने वाली ठेकेदार कंपनी मेसर्स दोषियान लिमिटेड ने शहर से अपना काम समेट लिया है। गुणवत्ताविहीन काम करने पर जल निगम ने दोषियान लिमिटेड को ब्लैक लिस्टेड करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। इसके साथ 6 करोड़ रुपए जुर्माना किया है। दोषियान के साथ ही अन्य ठेकेदार कंपनियों ने भी शहर की सड़कें बनाई थीं, जिनकी पोल पहली बारिश में खुल गई थी। इन ठेकेदार कंपनियों पर भी घटिया निर्माण के मामले में रिपोर्ट लिखाने की प्रक्रिया चल रही है।
दोषियान कंपनी के पास रावतपुर से कंपनीबाग, रेव मोती वाली सड़क, काकादेव थाना रोड और दीप टाकीज से बारोदेवी के दक्षिण द्वार तक की सड़क की खुदाई कर पाइप डालने से लेकर सड़क की मरम्मत करने का ठेका था। करीब 30 करोड़ के इस काम में कंपनी ने घोर लापरवाही बरती। पाइप लाइन बिछाने और सड़क बनाने में मानकों का पालन नहीं हुआ। कुछ माह पूर्व कंपनी पर 3 करोड़ रुपए जुर्माना भी किया गया था। जल निगम के प्रोजेक्ट मैनेजर डीएस पाण्डेय ने बताया एफआईआर के अलावा कंपनी को ब्लैकलिस्ट करने की कार्रवाई की जा रही है। कंपनी ने अपना सामान समेट लिया है। फिलहाल साइट पर कोई काम नहीं चल रहा है। उन्होंने बताया अन्य 15 सड़कों का निर्माण भी विभिन्न ठेकेदार कंपनियों से कराया गया था। इनके खिलाफ भी जल्द रिपोर्ट कराई जाएगी।


इन सड़कों का हुआ सत्यानाश

-कंपनीबाग से रावतपुर तक सड़क बर्बाद। कई हिस्सों में 150 मीटर सड़क धंसी।
-डबलपुलिया से विजयनगर की सड़क बर्बाद। जगह-जगह 190 मीटर सड़क क्षतिग्रस्त।
-दीप सिनेमा से बारादेवी के दक्षिण द्वार तक पांच-पांच मीटर के तीन गड्ढे हुए।
-रेवमोती के सामने सड़क के किनारे 13 मीटर लंबा व 4.5 मीटर चौड़ा हिस्सा क्षतिग्रस्त।
-तात्याटोपे नगर में 300 मीटर की सड़क ही ध्वस्त हो गई।
-अशोकनगर पेट्रोल पंप से सटी सड़क तीन जगह पर करीब 10 मीटर क्षतिग्रस्त हुई।
निर्माण इकाई (तृतीय)
-सोटे वाले बाबा हनुमान मंदिर से किदवईनगर पुलिस चौकी पर 40 मीटर सड़क धंसी।
-परेड से ग्रीनपार्क रोड पर पीडब्ल्यूडी मोड़ के पास दस मीटर का गड्ढा हुआ।
-नवीन मार्केट में पांच मीटर का गड्ढा हुआ।
-सनिगवां रोड पर पांच मीटर का गड्ढा हुआ।
बैराज इकाई
-पालिका स्टेडियम में इंटरलॉकिंग टाइल्स चार जगह धंसी। चार-चार वर्ग मीटर के गड्ढे हुए।
-बेनाझाबर जलकल प्रांगण में 5 वर्ग मीटर का गड्ढा हुआ।
-जीटी रोड पर मनोज इंटरनेशनल होटल के सामने 20 वर्ग मीटर सड़क क्षतिग्रस्त।
-श्यामनगर बाइपास ग्रीन बेल्ट पर 50 वर्ग मीटर सड़क बर्बाद हुई।

Spotlight

Most Read

Unnao

ट्रक में भिड़ी कार, एक की मौत

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर शाहपुर तोंदा गांव के सामने ट्रक के अचानक ब्रेक लेने से पीछे आ रही तेज रफ्तार कार पीछे घुस गई। हादसे में चालक की मौत हो गई। साथी गंभीर रूप से घायल हो गया।

21 जनवरी 2018

Related Videos

कानपुर में बड़ा हादसा, मिट्टी में दबने से दो मजदूरों की मौत

शनिवार का दिन कानपुर के इन मजदूरों के लिए काल बनकर आया। दो मजदूरों की मौत तब हो गई जब वे शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के बेसमेंट की खुदाई कर रहे थे। वहीं तीन मजदूर बुरी तरह घायल हैं।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper