महापौर के लिए भाजपा और कांग्रेस में सीधी भिड़ंत

Kanpur Updated Thu, 28 Jun 2012 12:00 PM IST
कानपुर। निकाय चुनाव में सपा और बसपा के खेमे न लगने से महापौर के पद के लिए ‘चुनावी जंग’ सीधे कमल और पंजे के बीच हो गई। भाजपा और कांग्रेस के समर्थक आखिरी वक्त तक अपना पलड़ा भारी करने के लिए जूझे रहे। मतदान केंद्रों के पास लगे बस्तों पर मतदाताओं की भीड़ देखकर लोग चुनावी जंग के उतार-चढ़ाव का अंदाजा लगाते रहे। दोपहर के बाद मुसलिम मतदाताओं का रुझान कांग्रेस की तरफ होने से भाजपा प्रत्याशी जगतवीर सिंह द्रोण और कांग्रेस के पवन गुप्ता में कांटे की टक्कर हो गई। शाम तक महापौर के निर्दलीय प्रत्याशियों की भूमिका वोट कटवा की रही।
मतदान की शुरुआत से ही भाजपा और कांग्रेस के बस्तों को छोड़कर किसी निर्दलीय प्रत्याशी की टेबिल पर भीड़ नहीं थी। भाजपा और कांग्रेस के समर्थकों ने शुरू से ही मतदाताओं को घरों से ढोना शुरू कर दिया। निर्दलीय प्रत्याशी इस बीच नजर नहीं आए। भाजपा प्रत्याशी जगतवीर सिंह द्रोण की शुरुआत मजबूती से हुई। वार्ड 65 और वार्ड 101 पर भाजपा के बस्तों पर 10 लोग थे तो कांग्रेस के बस्तों पर 4-5 लोग दिख रहे थे। लेकिन जैसे ही डेढ़-दो घंटे के मतदान गुजरा सीसामऊ और आर्यनगर विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के बस्तों पर भीड़ बढ़ने लगी। भाजपा और कांग्रेस से परहेज की बात कर रहे सपाइयों का रुझान कांग्रेस की तरफ होने लगा।
शाम तक सपा नेताओं ने एकतरफा वोटरों को कांग्रेस के लिए समझाना शुरू कर दिया। मुसलिम बहुल क्षेत्रों के बसपा समर्थक भी कांग्रेस की ओर आए, जबकि मिश्रित आबादी वाले इलाकों के बसपा कार्यकर्ताओं का रुझान भाजपा की तरफ हो गया। इन दोनों विधानसभा क्षेत्रों में लगे बस्तों पर भाजपा और कांग्रेस की भीड़ बराबर हो गई। दिन 2.30 बहजे तक सीसामऊ के मुसलिम बहुल क्षेत्रों (चमनगंज, बेकनगंज, रजबी रोड, हीरामनपुरवा, तलाकमहल) में कांग्रेस के पक्ष में 70 फीसदी मतदाताओं का रुझान लगने लगा। कांग्रेसियों ने बसपा और सपा गढ़ से वोट निकालने शुरू कर दिए।
मुसलिम बहुल 35 वार्डों करीब 6 लाख मतदाताओं में 60 फीसदी कांग्रेस के पक्ष में बात करते रहे। किदवईनगर और गोविंदनगर में भाजपा का पलड़ा भारी नजर आया। सिंधी कालोनी, मतइया पुरवा, सरस्वती बालिका कालेज विजयनगर आदि स्थानों के बूथों पर भाजपा के बस्तों पर भीड़ रही। यही स्थिति काकादेव, शास्त्रीनगर तथा कल्याणपुर क्षेत्र के रावतपुर, मसवानपुर इलाके में रही। सैयदनगर, रहमतनगर आदि क्षेत्रों में कांग्रेस भारी नजर आई। यहां बस्तों पर शाम को भीड़ बढ़ गई। छावनी क्षेत्र के बस्तों पर पंजा और कमल बराबर से लड़ा। लेकिन केडीए कालोनी और दूसरे मुसलिम बहुल मोहल्लों में कांग्रेस समर्थकों की संख्या भारी रही।
निर्दलीय प्रत्याशी धीमे-धीमे ठंडे पड़ते गए। मतदान के आखिरी चरण में ये अपने-अपने क्षेत्रों में सिमटे नजर आए। विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों दिन 3 बजे तक इनके बस्ते खाली पड़े थे। कई के बस्ते सिमट गए। कुछ टेबिलें जो आखिर तक लगी थीं, एक-दो लोग बैठे गप्पिया रहे थे।
-----------
कुल मतदाता-20 लाख, 36 हजार 10
महापौर प्रत्याशियों की संख्या-56
वोटिंग प्रतिशत 41.08

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी कैबिनेट ने एक जिला एक उत्पाद नीति पर लगाई मुहर, लिए गए 12 फैसले

यूपी कैबिनेट ने कुल 12 फैसलों को मंजूरी दे दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई बैठक में एक जिला एक उत्पाद नीति पर मुहर लग गई।

23 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper