महापौर के लिए भाजपा और कांग्रेस में सीधी भिड़ंत

Kanpur Updated Thu, 28 Jun 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
कानपुर। निकाय चुनाव में सपा और बसपा के खेमे न लगने से महापौर के पद के लिए ‘चुनावी जंग’ सीधे कमल और पंजे के बीच हो गई। भाजपा और कांग्रेस के समर्थक आखिरी वक्त तक अपना पलड़ा भारी करने के लिए जूझे रहे। मतदान केंद्रों के पास लगे बस्तों पर मतदाताओं की भीड़ देखकर लोग चुनावी जंग के उतार-चढ़ाव का अंदाजा लगाते रहे। दोपहर के बाद मुसलिम मतदाताओं का रुझान कांग्रेस की तरफ होने से भाजपा प्रत्याशी जगतवीर सिंह द्रोण और कांग्रेस के पवन गुप्ता में कांटे की टक्कर हो गई। शाम तक महापौर के निर्दलीय प्रत्याशियों की भूमिका वोट कटवा की रही।
मतदान की शुरुआत से ही भाजपा और कांग्रेस के बस्तों को छोड़कर किसी निर्दलीय प्रत्याशी की टेबिल पर भीड़ नहीं थी। भाजपा और कांग्रेस के समर्थकों ने शुरू से ही मतदाताओं को घरों से ढोना शुरू कर दिया। निर्दलीय प्रत्याशी इस बीच नजर नहीं आए। भाजपा प्रत्याशी जगतवीर सिंह द्रोण की शुरुआत मजबूती से हुई। वार्ड 65 और वार्ड 101 पर भाजपा के बस्तों पर 10 लोग थे तो कांग्रेस के बस्तों पर 4-5 लोग दिख रहे थे। लेकिन जैसे ही डेढ़-दो घंटे के मतदान गुजरा सीसामऊ और आर्यनगर विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के बस्तों पर भीड़ बढ़ने लगी। भाजपा और कांग्रेस से परहेज की बात कर रहे सपाइयों का रुझान कांग्रेस की तरफ होने लगा।
शाम तक सपा नेताओं ने एकतरफा वोटरों को कांग्रेस के लिए समझाना शुरू कर दिया। मुसलिम बहुल क्षेत्रों के बसपा समर्थक भी कांग्रेस की ओर आए, जबकि मिश्रित आबादी वाले इलाकों के बसपा कार्यकर्ताओं का रुझान भाजपा की तरफ हो गया। इन दोनों विधानसभा क्षेत्रों में लगे बस्तों पर भाजपा और कांग्रेस की भीड़ बराबर हो गई। दिन 2.30 बहजे तक सीसामऊ के मुसलिम बहुल क्षेत्रों (चमनगंज, बेकनगंज, रजबी रोड, हीरामनपुरवा, तलाकमहल) में कांग्रेस के पक्ष में 70 फीसदी मतदाताओं का रुझान लगने लगा। कांग्रेसियों ने बसपा और सपा गढ़ से वोट निकालने शुरू कर दिए।
मुसलिम बहुल 35 वार्डों करीब 6 लाख मतदाताओं में 60 फीसदी कांग्रेस के पक्ष में बात करते रहे। किदवईनगर और गोविंदनगर में भाजपा का पलड़ा भारी नजर आया। सिंधी कालोनी, मतइया पुरवा, सरस्वती बालिका कालेज विजयनगर आदि स्थानों के बूथों पर भाजपा के बस्तों पर भीड़ रही। यही स्थिति काकादेव, शास्त्रीनगर तथा कल्याणपुर क्षेत्र के रावतपुर, मसवानपुर इलाके में रही। सैयदनगर, रहमतनगर आदि क्षेत्रों में कांग्रेस भारी नजर आई। यहां बस्तों पर शाम को भीड़ बढ़ गई। छावनी क्षेत्र के बस्तों पर पंजा और कमल बराबर से लड़ा। लेकिन केडीए कालोनी और दूसरे मुसलिम बहुल मोहल्लों में कांग्रेस समर्थकों की संख्या भारी रही।
निर्दलीय प्रत्याशी धीमे-धीमे ठंडे पड़ते गए। मतदान के आखिरी चरण में ये अपने-अपने क्षेत्रों में सिमटे नजर आए। विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों दिन 3 बजे तक इनके बस्ते खाली पड़े थे। कई के बस्ते सिमट गए। कुछ टेबिलें जो आखिर तक लगी थीं, एक-दो लोग बैठे गप्पिया रहे थे।
-----------
कुल मतदाता-20 लाख, 36 हजार 10
महापौर प्रत्याशियों की संख्या-56
वोटिंग प्रतिशत 41.08

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

National

दिल्ली: शैलजा हत्याकांड पर पुलिस का खुलासा, मेजर ने कैसे और क्यों किया मर्डर

भारतीय सेना में मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा के हत्याकांड में दिल्ली पुलिस ने रविवार को नया खुलासा किया है।

24 जून 2018

Related Videos

VIDEO: जब प्रधान के पति के डर से भागी यूपी पुलिस

यूपी के हमीरपुर जिले में एक बार फिर दबंगो के आगे पुलिस भी बौनी साबित हुई। यहां एक ग्राम प्रधानपति और उसके बेटे ने चुनावी रंजिश के चलते सरेआम विरोधियों की पिटाई कर दी। पीड़ित की शिकायत पर पहुंची पुलिस भी इन दबंगों के आगे बेबस नजर आई।

23 जून 2018

Recommended

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen