‘नेता जी आएं तो सवालों की माला पहनाएं’

Kanpur Updated Thu, 14 Jun 2012 12:00 PM IST
कानपुर। निकाय चुनाव के मद्देनजर कानपुर नागरिक मंच ने एबी विद्यालय में नागरिक सम्मेलन आयोजित कर ‘नागरिक मांग पत्र’ जारी किया। वक्ताओं ने नागरिकों को उनकी जिम्मेदारी समझाईं। विकास की योजना विकास के नाम पर भविष्य में होने वाले निर्माण आदि में सरकारी खर्च, गुणवत्ता संबंधी प्रश्न करने की अपील की।
कृष्णानगर नागरिक समिति की ओर से आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि साहित्यकार गिरिराज किशोर ने कहा अगर लोग प्रश्न करना शुरू कर दें तो काफी हद तक समस्याओं से निजात मिल जाएगी। पार्षद और महापौर के प्रत्याशी से उनका एजेंडा पूछें। चरमराई व्यवस्थाओं को सुधारने की उनकी क्या योजना है? आदि-आदि। प्रश्नों का यह सिलसिला सड़क, नाली के निर्माण से लेकर विकास कार्यों की गुणवत्ता तक बार-बार चलना चाहिए। नागरिक राजस्व देते हैं इसलिए सरकारी अफसर और जनप्रतिनिधि उनके प्रति जवाबदेह हैं। उन्होंने कहा कि मांग करने से पहले नागरिकों को अपनी जिम्मेदारियों का एहसास करना होगा। छोटे भाई नरौना ने नगर निगम के वर्ष 2008-09, 2009-10 के आंकड़े प्रस्तुत कर कहा निगम का राजस्व 65 प्रतिशत तक बढ़ा। वहीं, सड़क के मद में खर्च कुल खर्च का 1.7 प्रतिशत रह गया। यह नागरिकों के साथ खिलवाड़ है। रामकिशोर बाजपेई ने मांगपत्र प्रस्तुत किया। यह तय हुआ कि चुने जाने वाले महापौर के साथ ही अन्य जनप्रतिनिधियों को भी मांगपत्र सौंपा जाएगा। मांग पत्र में प्रदेश में 74 वां संशोधन पारित करने, केडीए को नगर निगम के अधीन करने, जीआईएस के आधार पर गृहकर वसूली रोक कर स्वकर (सरलकर) के आधार पर निर्धारित करने, कूड़ा उठाने के लिए एटूजेड द्वारा यूजर चार्ज वसूलना बंद करने को प्रमुखता से रखा गया। कहा गया कि जेएनएनयूआरएम योजनाओं के तहत होने वाली सड़क की खुदाई में पूरी सड़क क्षतिग्रस्त होती है। इसलिए उनसे भुगतान भी पूरी सड़क का वसूला जाना चाहिए। सईद नकवी, जगदंबा भाई, मनोज सेंगर ने भी विचार रखे। दीपक मालवीय, एससी त्रिपाठी आदि मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ब्राइटलैंड स्कूल दो दिन के लिए बंद, छात्रा हुई जुवेनाइल कोर्ट में पेश

राजधानी के ब्राइटलैंड स्कूल में छात्र को चाकू मारने की घटना के बाद बच्चों में बसे खौफ को दूर करने के लिए स्कूल को दो दिनों के लिए बंद कर दिया है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

जिन्होंने मथुरा और गोरखपुर में काम रोक दिए वो हज सब्सिडी क्या देंगे: अखिलेश यादव

गुरुवार को औरैया पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार पर जमकर बरसे। पूर्व सीएम पार्टी कार्यकर्ता की मृत्यु पर शोक संवेदना व्यक्त करने आये थे।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper