पान की दुकान पर माइक्रो एटीएम

Kanpur Updated Fri, 18 May 2012 12:00 PM IST
dlस्टाफ रिपोर्टर
कानपुर। कम्यूनिकेशन इतना सुलभ और तेज हो गया है कि देश के लोगों की पहचान ‘आधार कार्ड’ से कर पाना संभव हो गया है। आधार कार्ड का काम पूरा होने के बाद ‘माइक्रो एटीएम’ तकनीकी भी संभव होगी। यह तकनीकी पान और किराने की दुकान में भी उपलब्ध होगी। जहां छोटी सी मशीन के जरिये एक उंगली के निशान पर सत्यापन हो जाएगा। और लोग अपना पैसा निकाल सकेंगे। इस तकनीकी में पैसा स्थानांतरित होने के साथ कई सहूलियतें भी मिलेगी।
आईआईटी आउटरीच में गुरुवार को 44वें वर्ल्ड कम्यूनिकेशन एंड इनफारमेशन सोसाइटी डे के अ्वसर पर यह जानकारी मुख्य अतिथि यूनीक आईडेंटीफाइड अथारिटी आफ इंडिया (यूआईडीएआई) के डायरेक्टर जनरल एंड मिशन डायरेक्टर आरएस शर्मा ने दी।
दि इंस्टीट्यूट आफ इलेक्ट्रानिक्स एंड टेलीकम्यूनिकेशन इंजीनियर्स कानपुर सेंटर और दि इंस्टीट्यूट आईफ इंजीनियर्स (इंडिया) कानपुर सेंटर के तत्वावधान में ‘वूमेन एंड गर्ल्स इन टेलीकम्यूनिकेशन’ थीम पर चर्चा में आरएस शर्मा ने कहा कि नई तकनीकों पर काम लगातार जारी है। आरएस शर्मा ने बताया कि देश के 1.20 बिलियन नागरिकों को आधार कार्ड की सुविधा उपलब्ध कराई जानी हैं। पर इसके लिए और बढ़िया तकनीकी की जरुरत है। ताकि बायोमेट्रिक्स और डेमोग्राफिक इनफारमेशन का काम और आसानी से निपटाया जा सके। आधार कार्ड के आंकड़ों के अनुसार बताया गया कि पहले फेज में 20 करोड़ का लक्ष्य रखा गया है। इनमें तीन करोड़ का काम बाकी है। काम 2013 तक पूरा होना है। विषय विशेषज्ञ शरबानी भाटिया ने थीम केअनुसार टेलीकम्यूनिकेशन में महिलाओं और लड़कियों की दखल पर चर्चा की। कहा कि आज इनफारमेशन टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में महिलाएं और युवा लड़कियां अच्छा काम कर रही हैं। वहीं आईआईटी में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के एसोसिएट प्रोफेसर डा. अदरीष बैनर्जी ने 4जी वायरलेस कम्यूनिकेशन की जानकारी दी। कार्यक्रम का संयोजन चेयरपरसन आरके बंसल, ओएन मिश्रा और सचिव एके जैन ने किया।

Spotlight

Most Read

National

पुरुष के वेश में करती थी लूटपाट, गिरफ्तारी के बाद सुलझे नौ मामले

महिला लड़कों के ड्रेस में लूटपाट को अंजाम देती थी। अपने चेहरे को ढंकने के लिए वह मुंह पर कपड़ा बांधती थी और फिर गॉगल्स लगा लेती थी।

20 जनवरी 2018

Related Videos

IIT-K के छात्रों ने बनाया हेलीकॉप्टर, 24 घंटे उड़ने की क्षमता

IIT कानपुर में पोस्ट ग्रैजुएट स्टूडेंट्स की टीम ने एक ऐसे हेलीकॉप्टर का निर्माण किया है जो 24 घंटे तक लगातार उड़ सकने में सक्षम है। इस टीम ने अपने हेलीकॉप्टर के डिजाइन को अमेरिकी हेलीकॉप्टर कॉन्टेस्ट में भेजा जहां उन्हें जीत भी हासिल हुई।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper