रुकेगा नकलचियों का रिजल्ट

Kanpur Updated Fri, 04 May 2012 12:00 PM IST
कानपुर। सीएसजेएमयू की संस्थागत परीक्षा 2012 में नकल में लिप्त पाए गए 504 नकलचियों के परीक्षा परिणाम रोके जाएंगे। ये नकलची परीक्षा के दौरान उड़नदस्तों ने पकड़े थे। उड़नदस्ते की रिपोर्ट के आधार नकल के कुछ मामलों की जांच भी कराई जाएगी। उधर नकलचियों के कई मामले ऐसे कालेजों से है जो पिछले भी नकल में लिप्त पाए गए थे। विवि की संस्थागत परीक्षाएं मई के तीसरे सप्ताह में खत्म होगी।
इस साल की संस्थागत परीक्षा में संस्थागत-व्यक्तिगत परीक्षा 2011 (दोनों एक साथ कराई गई थीं) में नकल के मामलों में सूचीबद्ध किए गए फतेहपुर, कन्नौज, इटावा, रमाबाई नगर, उन्नाव, इलाहाबाद, लखीमपुर खीरी, औरेया, कौशांबी, हरदोई, सीतापुर और रायबरेली के 47 कालेजों में से करीब 43 को संस्थागत परीक्षा में केंद्र बनाया गया था। पिछले साल इनमें से कई केंद्रों पर 50 हजार से एक लाख रुपए तक की आर्थिक पैनाल्टी ठोंकने की संस्तुति केसाथ कई केंद्रों को चेतावनी देते हुए केंद्र न बनाने की संस्तुति भी गई थी। इसमें उड़नदस्तों की मानें तो इन जनपदों के अधिकांश कालेज गांव की सीमा और दूरस्थ क्षेत्र में स्थापित हैं। नकल माफिया इसका पूरा फायदा उठाते हैं।
परीक्षा के दौरान पकड़े गये नकलचियों में भी रमाबाई नगर, कौशांबी, फतेहपुर, औरेया और उन्नाव के कई केस हैं। उधर, बताया गया कि इस बार संस्थागत परीक्षा में पकड़े गए 504 नकलचियों के रिजल्ट रोके जाएंगे। विवि. में परीक्षार्थियों की उत्तर पुस्तिकाएं अलग रखवा कर रिपोर्ट तैयार की जा रही है। बताया गया कि विश्वविद्यालय की व्यक्तिगत परीक्षा 2012 में अब तक 55 नकलची मिल चुके हैं।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018