मुन्नाभाई क्लास से सस्पेंड, परिसर में घुसने पर रोक

Kanpur Updated Tue, 01 May 2012 12:00 PM IST
कानपुर। अखिल भारतीय इंजीनियरिंग की संयुक्त प्रवेश परीक्षा (एआईईईई) 2012 मेें दूसरे की जगह परीक्षा देते रविवार को आगरा में गिरफ्तार किए गए एचबीटीआई के चारों छात्रों को सोमवार को कक्षा से निलंबित कर दिया गया है। यह फैसला प्रॉक्टोरियल बोर्ड की बैठक में लिया गया है। कहा है कि जांच पूरी होने तक संबंधित छात्रों के परिसर या कक्षा में घुसने पर पाबंदी रहेगी। नोटिस जारी करके छात्रों से जवाब तलब भी किया गया है।
2009-10 में बीटेक फूड टेक्नोलॉजी की पढ़ाई करके निकले बृजेश के बहकावे में आकर एचबीटीआई के चार अन्य छात्रों का भविष्य दांव पर लग गया है। सोमवार को हुई प्रॉक्टोरियल बोर्ड की बैठक में प्लास्टिक टेक्नोलॉजी द्वितीय वर्ष के छात्र बैजनाथ अग्रहरि, इलेक्ट्रानिक्स इंजीनियरिंग द्वितीय वर्ष के छात्र विक्रांत गंगवार, गजेंद्र सिंह, अपार भटनागर को कक्षा से निलंबित करके अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू कर दी गई है। बोर्ड के सदस्यों का कहना है कि फर्जी परीक्षार्थी के रूप में गिरफ्तार सभी छात्र अंतिम सत्र की परीक्षा से वंचित हो सकते हैं, जो 15 मई से प्रस्तावित है। निदेशक प्रोफेसर जेएसपी राय ने बताया कि गिरफ्तार छात्रों की रिपोर्ट मिल गई है। इसी आधार पर अनुशासनात्मक कार्रवाई हुई है। संबंधित छात्रों के परिजनों को भी मामले की जानकारी दे दी गई है। इसकी जांच प्रॉक्टोरियल बोर्ड ने शुरू कर दी है। उधर, सोमवार को भी छात्रावासों की तलाशी ली गई। छात्रों की उपस्थिति जांचकर भविष्य में गलती न दोहराने की हिदायत दी गई। कहा गया कि आगामी प्रतियोगी परीक्षाओं के दौरान छात्रावासों से बाहर जाने पर रोक रहेगी। इसे लेकर नोटिस भी जारी की जाएगी।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018