बेटी हुई पराई, आंख भर आई

Kanpur Updated Mon, 20 Jan 2014 05:47 AM IST
कानपुर। ये घर दरो दीवार सब तरसेंगे, जब बर्तन खन खन खनकेंगे। सारे पकवान फीके पड़ जाएंगे, जब बेटी घर से विदा हो जाएगी। रविवार को मोतीझील लॉन में कुछ ऐसी ही कसक बेटियों के परिजनों के दिल में भी थी, क्योंकि नाजों से पाली गई बिटिया बाबुल का घर छोड़कर अपने पिया के घर जो जा रही थी। मौका था जय बाबा योगेश्वर सेवा समिति के 11वें सर्वजातीय सामूहिक विवाह समारोह का, जहां से 51 दुल्हनें ससुराल विदा की गईं। 51 घोड़ियों पर सवार होकर आए दूल्हों के साथ नाचते गाते बारातियों के स्वागत से लेकर पूरा आयोजन ही शानदार रहा। उधर, समारोह में ‘अमर उजाला-बेटी ही बचाएगी’ अभियान के तहत शपथ पत्र भरवा कर सभी जोड़ो, आयोजकों और लोगों को बेटी बचाओ की शपथ भी दिलाई गई।
समारोह का शुभारंभ भगवान भोले नाथ की पूजा अर्चना से किया गया। इसके बाद लॉन के गेट से भगवान श्री गणेश, भोले नाथ, मां काली, राधा कृष्ण और सीता-राम की सुंदर झांकियों और आरती के साथ 51 दूल्हों की बारात उठाई गई। समारोह स्थल पर द्वारचार के बाद जयमाल की रस्म पूरी हुई। इसमें शहर के कई गणमान्यों और संस्था के संरक्षक, संयोजक और सहयोगियों ने दूल्हा-दुल्हन को आशीष दिया। गणमान्यों को पगड़ी और प्रतीक चिह्न देकर सम्मानित किया गया। इसके बाद अलग-अलग 51 मंडपों में चढ़ावा, हल्दी, कन्यादान, बिछिया, सिंदूर दान, लावा परसाई और फेरे की रस्में पूरी कराई गईं। भोज के बाद विदाई की बेला आई तो सभी की आंखें नम हो गईं। बाद में सभी जोड़ों को घर गृहस्थी का सामान देकर विदा किया गया।


इनका हुआ विवाह-
सपना संग रामविलास, मोनी संग रवि, रंजीता संग राकेश, ज्योति संग गुड्डू, ममता संग विजय, प्रीती संग सरवन, ट्विंकल संग रंजीत, दीपिका संग मयंक, रोशनी संग आशीष, पूजा संग सतीश, तृप्ती संग योगेश, शशी संग अरविंद, मनीषा संग मनोज, अंजू संग अंकुर, पुष्पा संग संदीप, प्रेमलता संग विनोद, उपासना संग आकाश, पार्वती संग जयचंद्र, ज्ञानवती संग प्रेम नारायण, कीर्ती संग आलोक, रोली संग योगेश, नीलम संग राम, रीना संग शरद, अनीता संग अवधबिहारी, प्रियंका संग सोनू, सोनी संग रजनीश, निशा संग केशरी, दीक्षा संग योगेश, वर्षा संग अजय, नीलम संग अरुण, कोमल संग रवि, रजनी संग संजय, ज्योति संग राज, पूजा संग सनोज, ममता संग मनीष, वंदना संग महेश, पूनम संग संदीप, विमला संग राम गणेश, कीर्ति संग राजू, शिखा संग अभिलाष, पूजा संग पवन, निशा संग अनिल, लक्ष्मी संग रामू, खुशबू संग विक्रम, अनीता संग संजीव, प्रीती संग गौरव, आशा संग दिनेश, रूबी संग सुनील, रजनी संग आदेश, नेहा संग अंकुश, सुनीता संग सुनील।
--
ये हैं आयोजक
संस्था अध्यक्ष सुनील ब्रह्मचारी, उमेश शुक्ला (टिंकू भईया), रमापति झुनझुनवाला, नरेंद्र सिंह, राजू राठौर, देवेश त्रिपाठी, उमेश दीक्षित, स्वयं प्रकाश अग्निहोत्री, अजीत सिन्हा, राकेश ओक्षा, अशोक मिश्रा, उमेश पैन्थर, धीरज चौहान, स्वतंत्र शुक्ला, संतोष गुप्ता, संजय राठौर, विनीता गुप्ता, श्यात दीक्षित, कुसुम तिवारी, सोना द्विवेदी, पूनम राठौर, इंद्रा बाजपेयी, नीलम शुक्ला, नीलम सेंगर, मनीषा झुनझुनवाला, रीता दीक्षित, शिवश्री त्रिपाठी, नीशू ओझा, शालिनी सिन्हा, निशा अग्निहोत्री, सुनीता पेंथर, राधिका मिश्रा, जया गुप्ता, प्रीती अवस्थी, स्नेहलता गुप्ता, कुसुम मिश्रा, शालिनी राठौर, प्रीती राठौर, राखी राठौर आदि..।
--
ये रहे सहयोगी-
कालिन्द्री तिवारी, महेश मेहता, उमेश पैंथर, हाजी अरशद, विप्लव त्रिपाठी, स्वतंत्र गुप्ता, नरेश मिश्रा, स्वयं प्रकाश अग्निहोत्री, गुरजिन्दर सिंह, दिलीप गुप्ता, संतोष शर्मा, अशोक गुप्ता, छोटू पंडित, संतोष राठौर, लाल सिंह कछवाह, अजय श्रीवास्तव, पप्पू चौहान, सतेंद्र अग्निहोत्री, प्रवीण शुक्ला, रामधीरज जायसवाल, भैंरो प्रसाद, चारु गुप्ता, सूरज सिंह, लाला त्रिवेदी एवं लवकेश जैन।

अब तक 305 कन्याओं का कराया विवाह
जय बाबा योगेश्वर सेवा समिति के अध्यक्ष सुनील ब्रह्मचारी ने बताया कि समिति ने सन 2004 में पहली बार 11 कन्याओं का विवाह कराया था। तब से लेकर आज तक समिति 305 कन्याओं का विवाह करा चुकी है।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls