मेगा लेदर क्लस्टर और डीएमआईसी को पैकेज देगा केंद्र

Kanpur Updated Wed, 30 Jan 2013 05:30 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
कानपुर। प्रदेश में तीन जगहों पर बनने वाले मेगा लेदर क्लस्टर और दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर में केंद्र सरकार पैकेज देगी। आगरा में आयोजित इनवेस्टर समिट के अंतिम दिन केंद्रीय वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा ने इसका ऐलान किया। इस संबंध में यूपीएसआईडीसी द्वारा प्रोजेक्ट रिपोर्ट भेजी जाएगी, जिस पर पैकेज राशि का फैसला किया जाएगा। दिबियापुर में विकसित की जाने वाली प्लास्टिक सिटी को निवेशकों ने हाथोंहाथ लिया है।
विज्ञापन

कानपुर के रमईपुर, हरदोई के संडीला और आगरा में मौजूदा लेदर पार्क में मेगा लेदर क्लस्टर की स्थापना होनी है। संडीला को वाणिज्य मंत्रालय की समिति ने सैद्धांतिक समिति दे भी दी है। वहीं दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर योजना के तहत उत्तर प्रदेश में यूपीएसआईडीसी तमाम औद्योगिक क्षेत्र विकसित करेगा। मंगलवार को आगरा में संपन्न हुई इनवेस्टर समिट के अंतिम दिन केंद्रीय वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा ने डीएमआईसी और हरदोई में बनने वाले मेगा लेदर क्लस्टर को विकसित किए जाने के लिए पैकेज देने का ऐलान किया। यूपीएसआईडीसी के प्रबंध निदेशक मनोज सिंह ने बताया कि दोनों की प्रोजेक्ट रिपोर्ट देखने के बाद पैकेज की राशि तय की जाएगी। वहीं आगरा में स्थापित होने वाले मेगा लेदर क्लस्टर के मुद्दे पर बनाई गई एसपीवी के साथ यूपीएसआईडीसी को हिस्सेदार बनाकर क्लस्टर स्थापना की संभावना है। यदि ऐसा होता है तो निगम अपना एक निदेशक यहां नियुक्त करेगा। कानपुर के रमईपुर में क्लस्टर बनाने के लिए भू्मि पुनर्गहण किए जाने पर सहमति बनी है। यहां लगभग 200 एकड़ भूमि ग्राम समाज की है, जिसका पुनर्गहण किया जाएगा। एमडी ने बताया कि जिलाधिकारी के पास यह प्रस्ताव लंबित है। वहीं मलवां में बनने वाले टेक्सटाइल पार्क में सरकारी धन के उपयोग की देखरेख के लिए आरएम कानपुर को नियुक्त किया गया है। इसका प्रस्ताव निगम में मंगाया गया है, जिससे इसे औद्योगिक क्षेत्र के रूप में अधिसूचित किया जा सके। उन्होंने यह भी बताया कि निगम द्वारा विकसित की जा रही तमाम योजनाओं को निवेशकों ने खूब सराहा। इसमें खासकर प्लास्टिक सिटी में निवेशकों ने दिलचस्पी ली। प्लास्टिक सिटी में बेहतर संभावनाओं को परखने के बाद करीब 25 आवेदन मौके पर ही बिक गए। वहीं ट्रांसगंगा योजना का भी अच्छा रुझान रहा। इन दोनों प्रोजेक्ट का मॉडल यहां लगाया गया था। वहीं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने हस्त शिल्प पार्क बनाने के लिए भी कहा है। इसकी स्थापना की संभावनाएं मुरादाबाद के आसपास ज्यादा है। वहीं संभल में एक स्पाइस पार्क भी बनाया जाएगा।

-----------------------
रायबरेली, श्रावस्ती में औद्योगिक क्षेत्र की मांग
कानपुर। रायबरेली के लालगंज में रेल कोच फैक्ट्री की स्थापना को देखते हुए जिलाधिकारी डॉ. अख्तर रियाज ने जिले में एक औद्योगिक क्षेत्र स्थापित करने के लिए यूपीएसआईडीसी के एमडी मनोज सिंह को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा है कि निर्माणाधीन कोच फैक्ट्री में राजधानी और शताब्दी के कोच बनेंगे। इनके निर्माण में तमाम असेंबली और कंपोनेंट की आवश्यकता है। इसके चलते जनपद में एक औद्योगिक क्षेत्र की स्थापना का बेहतरीन अवसर है, जिसमें इन उत्पादों से संबंधित इकाइयों की बेहतर संभावनाएं हैं। वहीं श्रावस्ती के पटना-खरगौरा गांव में 45.67 एकड़ भूमि पर औद्योगिक क्षेत्र बनाए जाने से संबंधित एक पत्र देवीपाटन रेंज के कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार ने एमडी को लिखा है। वहीं काउंसिल फॉर लेदर एक्सपोर्ट के रीजनल चेयरमैन ताज आलम ने एक अन्य पत्र में एमडी से कानपुुर में शेडलरी पार्क की स्थापना से संबंधित जानकारियां मांगी हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X