ट्रेनें होती गईं लेट,लोग करते रहे वेट

Kanpur Updated Sun, 23 Dec 2012 05:30 AM IST
कानपुर। दादरी स्टेशन के पास शनिवार को मालगाड़ी के डिब्बे पटरी से उतरने केे कारण दिल्ली-हावड़ा रूट पर 10 घंटे ठप रहने से यात्रियाें का पूरा दिन ट्रेनों के इंतजार में ही बीत गया। रिवर्स शताब्दी और सीमांचल सहित 6 ट्रेनों के निरस्त होने और 9 ट्रेनों के बदले रूट से आने के कारण यात्री प्लेटफार्म से इंक्वायरी विंडो के बीच दिनभर भटकते रहे। वहीं, कोहरे के कारण पहले से लेट चल रही ट्रेनों की लेटलतीफी और बढ़ गई। शनिवार को 277 ट्रेनें देरी से सेंट्रल स्टेशन पहुंचीं। सुबह से शाम तक 8845 यात्रियों ने टिकट लौटाए जबकि 2565 यात्रियों को दूसरी ट्रेनों में जाने की छूट दी गई।
शनिवार को तड़के पौने 4 बजे दादरी यार्ड में हुए हादसे के कारण श्रमशक्ति, प्रयागराज सहित कई ट्रेनें फंस गईं। वहीं, 9 ट्रेनों को वाया हापुड़ और आगरा रूट से कानपुर लाया गया। हालत यह थी कि दिल्ली-हावड़ा रूट पर आउटर से लेकर बीच रास्ते में एक से दो घंटे तक ट्रेनें खड़ी रहीं। दिन में लगभग 13:35 बजे लाइन क्लियर होने पर ट्रेन संचालन शुरू हो सका। वहीं, मंडल रेल प्रबंधक हरेंद्र राव ने मौके पर जाकर दुर्घटना के बारे में पूछताछ की।

सेंट्रल पर व्यवस्था धवस्त
दिल्ली रूट पर संचालन ठप होने के कारण सेंट्रल स्टेशन के हर प्लेटफार्म पर इस कदर भीड़ थी कि लोगों को निकलने में दिक्कत हो रही थी। प्लेटफार्म पर ठंड से बचाव के इंतजाम न होने से यात्री ठिठुरते रहे। अन्य इंतजाम भी ध्वस्त दिखाई दिए। इंक्वायरी विंडो से न तो यात्रियों को ट्रेनों की सही लोकेशन मिल पा रही थी और न ही डारमेट्री में सिर छिपाने की जगह। इंक्वायरी कक्ष में यात्रियों को बस यही जवाब दिया जा रहा था कि बोर्ड देख लो। वहीं, प्लेटफार्म पर वेंडरों ने यात्रियों से जमकर ओवरचार्जिंग की। 9 यात्रियों ने सहायता कक्ष में इसकी शिकायत की।

ये आईं बदले रूटों से
स्वर्ण शताब्दी, महानंदा, पुरुषोत्तम, प्रयागराज, संपर्क क्रांति, कैफियत, पुरी एक्सप्रेस, गोरखधाम एक्सप्रेस।

ये ट्रेनें हुई निरस्त
- अप और डाउन गोमती, अप और डाउन रिवर्स शताब्दी, सीमांचल एक्सप्रेस और 2 इके पैसेंजर।

बुरा हाल रहा ट्रेनों का
- 2397 अनिश्चितकालीन, 2401 मगध 20 घंटे, 2505 पुरी एक्सप्रेस 14 घंटे, 2004 स्वर्ण शताब्दी साढ़े 4 घंटे, 2948 अजीमाबाद एक्सप्रेस 9 घंटे, 3007 तूफान 10 घंटे, 2561 स्वतंत्रता सेनानी 8 घंटे, 02394 स्पेशल ट्रेन 14 घंटे, 3040 जनता 11 घंटे सहित 277 ट्रेनें लेट रहीं।

यात्री बोले

दोपहर बाद 3 बजे इंक्वायरी विंडो पर आगरा की ट्रेन के बारे में पूछा तो जवाब मिला कि सुनाई नहीं पड़ रहा। दोबारा पूछने पर बाबू ने झल्लाकर कहा कि जाकर बोर्ड देख लो।
धर्मेंद्र, इटावा

मूरी एक्सप्रेस के बारे में 5 बार इंक्वायरी विंडो पर जानकारी ली और हर बार यही जवाब मिला कि ट्रेन 4 घंटे लेट है जबकि बोर्ड मेें 6 घंटे लेट लिखा था।
ए हसन, सोनभद्र

सुबह 8 बजे प्लेटफार्म नंबर 3 पर सीढ़ियों के पास खड़ी ठेली पर छोले-भठूरे के दाम पूछे तो जवाब मिला कि 30 रुपये प्लेट जबकि रेल लिस्ट में 20 रुपये लिखा था।
जमुना प्रसाद, गोविंद नगर

एक नंबर प्लेटफार्म पर दो घंटे तक घूमता रहा लेकिन न तो वहां कोई खाली बेंच मिली और न ही वेटिंग रूम में जगह। मजबूरी में प्लेटफार्म पर पड़े बोरे पर बैठकर घंटे गिनता रहा।
नौबत सिंह, आगरा

अगर मौसम ठीक रहा तो ट्रेन संचालन पटरी पर आने में 3 दिन का समय और लगने की उम्मीद है। एक बार संचालन बिगड़ने में दिक्कतें तो होती ही हैं।
संदीप माथुर, सीपीआरओ, एनसीआर

हेल्पलाइन नंबर-139

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

स्वास्थ्य कर्मचारियों को मिलेगा दोगुना वेतन, दिल्ली सरकार देने जा रही है तोहफा

सरकार ने इन कर्मचारियों का वेतन दोगुना करने के साथ-साथ हर साल चिकित्सीय अवकाश के तौर पर 15 दिन की छुट्टी देने का फैसला लिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: कानपुर में गंगा बैराज में जा गिरी कार और फिर...

वो कहते हैं न जाको राखे साईंया मार सके न कोई। ऐसा ही कुछ कानपुर में सोमवार देखने को मिला। कोहरे कि वजह से एक कार गंगा बैराज में जा गिरी। वहीं मौके पर मौजूद गोताखोरों ने कार सवार सभी लोगों की जान बचा ली है।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper