पीएचडी, एलएलबी का कोर्स अप्रूव

Kanpur Updated Fri, 21 Dec 2012 05:31 AM IST
कानपुर। छत्रपति शाहूजी महाराज यूनिवर्सिटी की एकेडमिक काउंसिल ने गुरुवार को पीएचडी के 6 महीने के प्रशिक्षण और सेमेस्टर कोर्स और 5 वर्षीय इंटीग्रेटेड एलएलबी का कोर्स (सेमेस्टर सिस्टम) अप्रूव कर दिया। एलएलबी की पढ़ाई सत्र 2013-14 से शुरू होगी। यह कोर्स यूनिवर्सिटी कैंपस में चलेगा, जिसमें इंटरमीडिएट पास स्टूडेंट एडमिशन ले सकेंगे। इसकी फीस जल्द तय कर ली जाएगी।
यूनिवर्सिटी की एकेडमिक काउंसिल की गुरुवार को महत्वपूर्ण बैठक हुई। कुलपति प्रो. अशोक कुमार की अध्यक्षता वाली बैठक में पीएचडी का कोर्स अप्रूव किया गया। पहला पेपर रिसर्च मैथडोलॉजी, आब्जेक्टिव, हाइपोथीसिस रिपोर्ट एंड थीसिस राइटिंग का होगा। इसमें फाउंडेशन रिसर्च, टाइप एंड मेथड आफ रिसर्च, रिव्यू आफ लिट्रेचर एंड प्राब्लम डिफिनेशन, प्लानिंग आफ रिसर्च, रिपोर्ट राइटिंग का कोर्स शामिल रहेगा। दूसरा पेपर कंप्यूटर अप्लीकेशन एंड क्वांटिटेटिव टेकनीक का रहेगा। हर पेपर 100-100 मार्क्स का होगा। 70 फीसदी मार्क्स थ्योरी, 30 फीसदी मार्क्स इंटरनल असेसमेंट के होंगे। हर पेपर में 50 फीसदी मार्क्स पाने के साथ 75 फीसदी अटेंडेंस की अनिवार्यता भी होगी। इसके बाद ही पीएचडी में रजिस्ट्रेशन मिलेगा। इस कोर्स की पढ़ाई संबंधित डिग्री कालेजों और यूनिवर्सिटी कैंपस में होगी। एक जनवरी 2013 तक पीएचडी की सीटों और सुपरवाइजर की सूची जारी की जाएगी।

ये फैसले भी हुए
- बीसीए 2006-2009 के स्टूडेंट अखिलेश कुमार को मार्कशीट और डिग्री दी जाएगी। काउंसिल ने कहा कि अखिलेश पहले सेमेस्टर के एग्जाम में फेल थे। फिर भी संबंधित कालेज ने उन्हें बाकी सेमेस्टर का एग्जाम में बैठने दिया। इसमें पास होने के बाद अखिलेश ने डिग्री का दावा किया, जिस पर कोर्ट की मुहर भी लगी है। हालांकि, इस पर संबंधित कालेज को नोटिस देने का फैसला किया गया है।
- बीए होम साइंस की आंसरशीट के इवैल्यूएशन में बदलाव का सुझाव आया है। कनवीनर ने कहा है कि थ्योरी में 60 और प्रैक्टिकल में 40 फीसदी मार्क्स होने चाहिए। जैसा कि कुछ साल पहले तक होता था। अभी 70 फीसदी थ्योरी और 30 फीसदी प्रैक्टिकल के मार्क्स हैं। इस मामले में एक समिति बनाई गई है।
- ओएमआर शीट पर पेपर कराने का प्रस्ताव पास।

इन पर फैसला नहीं
- नेट क्वालीफाई करने वालों को पीएचडी की संयुक्त प्रवेश परीक्षा में शामिल कराने पर फैसला नहीं हो सका। अगली बैठक में चर्चा संभव
- पीएचडी, नेट, स्लेट, एमफिल करने वालों को श्रेणी और अंक में सुधार का मौका नहीं
- रायबरेली के टीचर डा. पारितोष सिंह, डा. रवींद्र कुमार की 2009 तक पीएचडी करने वालों को नेट, स्लेट की अनिवार्यता से छूट देने की मांग पर अंतिम मुहर नहीं लग सकी, कमेटी करेगी अध्ययन

Spotlight

Most Read

Rohtak

सीएम को भेजा पत्र

सीएम को भेजा पत्र

23 जनवरी 2018

Rohtak

एमटीएफसी

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: कानपुर में गंगा बैराज में जा गिरी कार और फिर...

वो कहते हैं न जाको राखे साईंया मार सके न कोई। ऐसा ही कुछ कानपुर में सोमवार देखने को मिला। कोहरे कि वजह से एक कार गंगा बैराज में जा गिरी। वहीं मौके पर मौजूद गोताखोरों ने कार सवार सभी लोगों की जान बचा ली है।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper