कलेक्ट्रेट में गुंडई

Kanpur Updated Fri, 21 Dec 2012 05:31 AM IST
कानपुर। कलेक्ट्रेट में कुछ महीने पहले फरियाद लेकर गई लक्ष्मी को डपटने से हालत बिगड़ने का मामला अभी शहरी भूले भी नहीं हैं कि गुरुवार को फिर हद पार हो गई। एडीएम फाइनेंस के स्टेनो नरेश वाजपेयी की आय से अधिक संपत्ति के मामले की शिकायत करने वाले वृद्ध को लेकर आए 2 ग्रामीणों को यहां बुरी तरह पीटा गया। आरोप है कि स्टेनो ने अपने 6-7 साथियों के साथ मिलकर अपने गांव के लोगों पर हमला किया और पीटा। यह वाक्या उस समय हुआ जब एसीएम 4 पप्पू गुप्ता वृद्ध के बयान दर्ज कर रहे थे। मारपीट से नए कलेक्ट्रेट भवन में अफरा-तफरी मच गई। सिटी मजिस्ट्ेट ने एसीएम कक्ष में पहुंचकर दोनों ग्रामीणों को सुरक्षा के लिहाज से अंदर बैठाया और अपने सुरक्षाकर्मी बाहर तैनात कर दिए। बाद में तीनों ग्रामीणों को सुरक्षित गांव तक भेजा गया।
गांव सराय दस्तम खां मजरा आकिन बिल्हौर निवासी 75 वर्षीय अहमद शेख ने राजस्व परिषद के आयुक्त और सचिव से स्टेनो नरेश वाजपेयी की शिकायत करते हुए आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगाया था। 2002 में कमिश्नर अनीता भटनागर जैन से शिकायत करने पर नरेश वाजपेयी का तबादला एसडीएम बिल्हौर कोर्ट में कर दिया गया था। इस मामले की जांच डीएम एमपी अग्रवाल के पास आई तो उन्होंने एसीएम 4 पप्पू गुप्ता को सौंप दी। गुरुवार को अहमद शेख को बयान के लिए नए कलेक्ट्रेट भवन में पहली मंजिल पर एसीएम 4 की कोर्ट में बुलाया गया था। चलने में लाचार शेख अहमद को गांव के राम आसरे और जितेंद्र कुमार लेकर आए थे। अंदर एसीएम अहमद के बयान ले रहे थे। दोनों ग्रामीण उनके कक्ष केबाहर बरामदे में खड़े थे। आरोप है कि तभी दोपहर करीब 2.15 बजे स्टेनो केसाथ आए 6-7 लोगों ने दोनों ग्रामीणों को जेबकतरा बताते हुए मारपीट कर दी। हल्ला होने पर एसीएम बाहर निकल आए। सिटी मजिस्ट्रेट भी फोर्स लेकर आ गए और दोनों ग्रामीणों को बचाया। अहमद शेख ने बताया कि स्टेनो उसी के गांव के रहने वाले हैं। वह उनकी जमीन 50 हजार रुपए में खरीदना चाहते थे। न देने पर खतौनी से नाम हटवा दिया था। नाम चढ़वाने के लिए उसे रेवन्यू बोर्ड लखनऊ केचक्कर लगाने पड़े थे। इसके बाद उसने भी स्टेनो की शिकायतें करना चालू कर दिया था। इससे वह रंजिश मानते हैं।


(किसने क्या कहा)

राजस्व परिषद में स्टेनो की आय से अधिक संपत्ति होने की शिकायत की थी। वे गांव के राम आसरे और जितेंद्र कुमार के साथ आए थे। इन लोगों को स्टेनो ने साथियों के साथ मिलकर पीटा है। स्टेनो पहले भी धमका चुके थे।
अहमद शेख, शिकायतकर्ता

दोपहर में मुझे एसीएम 4 ने दफ्तर बुलाया था। राम आसरे और जितेंद्र कुमार को वकीलों ने पीटा है। मेरा इस मामले से कोई लेना-देना नहीं है। अहमद शेख ने मुझे फंसाने के लिए यह आरोप मढ़ दिया है। मैं सिटी मजिस्ट्रेट को अपना पक्ष बता चुका हूं। हर तरह की जांच को तैयार हूं।
नरेश वाजपेयी, स्टेनो, एडीएम फाइनेंस


शिकायतकर्ता काफी डरा हुआ था। कहने के बावजूद वह रिपोर्ट दर्ज कराने को तैयार नहीं हुआ। स्टेनो के खिलाफ कार्रवाई के लिए पूरी रिपोर्ट तैयार कर जिलाधिकारी को देंगे।
पप्पू गुप्ता, एसीएम 4

मामला बहुत गंभीर है। स्टेनो ने अनुशासन तोड़ा है। जिलाधिकारी शहर से बाहर हैं। उन्हें मौखिक रूप से पूरी जानकारी दे दी है। एसीएम 4 डीएम को रिपोर्ट देंगे। इसके बाद डीएम कार्रवाई तय करेंगे।
-अविनाश सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट

सिटी मजिस्ट्रेट ने दोपहर में फोन किया था। स्टेनो दफ्तर में नहीं थे। मोबाइल पर पूछा तो कहा कि मंदिर जा रहे हैं। घटना के बारे में अफसरों से जानकारी मिली है। आश्चर्यजनक है कि स्टेनो ने यह कैसे किया।
-एसपी सिंह, एडीएम फाइनेंस

Spotlight

Most Read

Lucknow

ब्राइटलैंड स्कूल का प्रिंसिपल गिरफ्तार, पक्ष में माहौल बनाने के लिए अपनाया ये तरीका

राजधानी के ब्राइटलैंड स्कूल में छात्र पर हुए जानलेवा हमले में पुलिस ने स्कूल की प्रिंसिपल को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया।

18 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी पुलिस के इस सिपाही ने किया खाकी को शर्मसार

फतेहपुर में एक बार फिर पुलिस का खौफनाक चेहरा सामने आया है। यूपी पुलिस के सिपाही ने एक युवक की बेरहमी से पिटाई कर दी। पुलिसवाले ने युवक की पिटाई इसलिए कर दी क्योंकि युवक की बाइक से सिपाही को टक्कर लग गई।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper