वाहे गुरु जी दा खालसा, वाहे गुरु जी दी फतेह

Kanpur Updated Sat, 15 Dec 2012 05:30 AM IST
कानपुर। ‘धर्म की रक्षा के लिए गुरु तेग बहादुर सिंह जी ने अपना बलिदान दिया। इसलिए वह ‘हिंद की चादर’ कहलाए। आज के नौजवान गुरु की मर्यादाओं को बनाए रखें और अमृतपान कर गुरु वाले बनें’ यह संदेश शुक्रवार को सिखों के नौंवें गुरु गुरु तेग बहादुर सिंह जी के 337 वें शहीदी पर्व पर मोतीझील में आयोजित कार्यक्रम में अमृतसर से आए हेड ग्रंथी जसविंदर सिंह जी ने दिया। श्री गुरु सिंह सभा कानपुर महानगर द्वारा आयोजित कार्यक्रम में ‘वाहे गुरु जी दा का खालसा, वाहे गुरु जी दी फतेह’ का उद्घोष गूंजता रहा।
सुबह गोविंदनगर श्रीचंद गुरुद्वारे से नगर कीर्तन निकाला गया। सभा के चेयरमैन सरदार कुलदीप सिंह और सभा के प्रधान हरजीत सिंह डब्बू ने नगर कीर्तन को हरी झंडी दिखाकर किया। कई इलाकों में घूमते हुए नगर कीर्तन मोतीझील पहुंचा। यहां अमृतसर से आए हेड ग्रंथी जसविंदर सिंह जी ने लोगों को ज्ञान बांटा। नगर कीर्तन में सबसे आगे रंजीत अखाड़े के लोग शस्त्रों के साथ थे। उसके पीछे दस वैनों में दस गुरु के चित्रों को विराजमान किया गया था। इन पर लोगों ने फूलों की बारिश कर नमन किया। गुरु ग्रंथ साहिब जी पालकी पर विराजमान थे। पालकी के आगे पंज प्यारे शोभायमान थे। सरसैया घाट के दु:ख निवारण जत्था, गोविंद नगर सत्संग, जीटी रोड का कीर्तनी जत्था, भाई बन्नो साहिब, गुमटी का स्त्री सत्संग, लाल बंगला का राम गड़िया कीर्तनी जत्था ने भी नगर कीर्तन में भाग लिया। मोतीझील में सेवकों ने नगर कीर्तन में शामिल लोगों को जल-पान कराया। इस मौके पर मोहकम सिंह, रघुवीर सिंह, सरदार सिमरन जीत सिंह जगतार सिंह, इकबाल सिंह राजू, इकबाल सिंह दुआ, गुरु चरन सिंह वासु, अमरजीत सिंह, नीतू सिंह मौजूद थे।

शहीदों की झांकी निकाली
हिंदुत्व रक्षा की लड़ाई में शहीद हुए गुरु तेग बहादुर और उनके साथियों के बारे में जानकारी देते हुए झांकी भी निकाली गई। चित्रों के माध्यम से बताया गया कि हिंदू धर्म न छोड़ने के लिए भाई दयाला सिंह, भाई दीप सिंह, भाई तारू जी, भाई सतीदास, मति दास, मनि सिंह जी ने अपने प्राणों की आहुति दे दी।

रोशनी से नहाया गुमटी गुरुद्वारा
गुरु तेग बहादुर पर्व पर गुमटी गुरुद्वारा रोशनी से नहा उठा। सजे गुरुद्वारे के आसपास के इलाकों में भी रोशनी की गई। गोविंद नगर, चावला मार्केट चौराहे, फजलगंज, संत नगर चौराहे, गुरु गोविंद सिंह चौक, मोतीझील चौराहे को भी फूलों और विभिन्न लाइट्स से सजाया गया।

जगह जगह हुआ स्वागत
कानपुर। गोविंद नगर व्यापार मंडल ने नगर कीर्तन का स्वागत पुष्प वर्षा से किया। चावला मार्केट चौराहे पर अध्यक्ष वीर आर्य और चेयरमैन सरदार महेंदर सिंह ने भव्य स्वागत किया। बल्देव राज मल्होत्रा, अशोक आहूजा, सुरेंद्र गेरा मौजूद थे। फजलगंज में भी लोगों ने फूलों की बारिश की। जगह-जगह भक्तों ने पानी, शरबत, चाय और काफी के स्टाफ लगाए थे।

गतके ने दिखाए वीरता और शौर्य के करतब
नगर कीर्तन में गतका करके ऐसे करतब दिखाए गए कि देखने वाले दंग रह गए। गतके में चार साल की बच्ची अवनीत कौर और पांच साल के हरभजन सिंह आकर्षण का केंद्र रहे। तलवारबाजी, जंगी गोला, खंडा कृपाण से करतब दिखाए गए। तलवारबाजी का प्रदर्शन भी रोमांचकारी रहा।

पालकी में लेकर गए गुरुग्रंथ साहिब को
गुरुगोविंद सिंह चौक गुमटी से पालकी में गुरुग्रंथ साहिब को मोतीझील ले जाया गया। पालकी थामने की जहां श्रद्वालुओं में होड़ थी, वहीं गुरु ग्रंथ साहिब के दर्शन के लिए भी लोग पालकी के पीछे भागते नजर आए।

आज के कार्यक्रम
सुबह
6.15 बजे से 7 बजे तक नितनेम पाठ
7.00 बजे ये 7.30 बजे कीर्तन भाई सुरिंदर सिंह
7.45 से 8.20 तक कीर्तन भाई कुलदीप सिंह
8.30 से 9.15 तक कीर्तन प्रेमी जत्था
9.15 बजे से 10 बजे कीर्तन भाई महिंदर जीत सिंह
10 बजे से 10.45 बजे गुरु मत विचार हेड ग्रंथी जसविंदर सिंह
10.45 से 11.30 बजे तक कीर्तन भाई दविंदर सिंह
11.30 बजे से 12.30 बजे तक कथा ज्ञानी हरनाम सिंह जी द्वारा

शाम को
6.15 बजे से 7 बजे तक पाठ श्री रहिरास साहिब।
7 बजे से 7.30 बजे कीर्तन सनबीर सिंह जी
7.30 बजे से 8 बजे तक कीर्तन गुरुमत प्रचार जत्थे द्वारा
8 बजे से 8.30 बजे तक कीर्तन बीबी जसदीर कौर
8.30 बजे से 9.15 तक गुरूमत विचार ज्ञानी जसविंदर सिंह
9्.15 से 10 बजे तक बंगला साहिब दिल्ली गुरुद्वारे से हरनाम सिंह जी का विचार
10 से 10.45 तक कीर्तन भाई दविंदर सिंह
10.45 सचे 11 बजे तक कीर्तन भाई महिंदरजीत सिंह जी

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

दिल्ली-एनसीआर में दोपहर में हुआ अंधेरा, हल्की बार‌िश से गिरा पारा

पहले धुंध, उसके बाद उमस भरे मौसम और फिर हुई हल्की बारिश ने दिल्ली में हो रहे गणतंत्र दिवस के फुल ड्रेस रिहर्सल में विलेन की भूमिका निभाई।

23 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper