बिल्डरों ने खोला केडीए के खिलाफ मोर्चा

Kanpur Updated Thu, 13 Dec 2012 05:30 AM IST
कानपुर। बार एसोसिएशन के बाद अब बिल्डरों ने भी केडीए के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। यशोदानगर के वृंदावन लॉन में बुधवार दोपहर करीब 400 बिल्डरों ने बैठक कर केडीए के जेई और अन्य अफसरों से लेकर सपा नेताओं पर लूट-खसोट के इल्जाम लगाए। बिल्डरों ने एसोसिएशन बनाकर सीएम से मिलने और केडीए में धरना-प्रदर्शन करने का भी निर्णय किया है।
शहर में अवैध निर्माण पर ‘अमर उजाला’ के अभियान ने हलचल पैदा कर दी है। दबाव पड़ने पर केडीए अफसरों ने कार्रवाई शुरू की तो बिल्डरों में खलबली मच गई और मन की पीड़ा भी फूट पड़ी। बिल्डरों का कहना है एक ईंट रखनी हो या स्लैब डालनी हो, हर काम के लिए केडीए प्रवर्तन दस्ते का रेट तय है। केडीए के जेई-एई और अफसरों को रुपया दिये बगैर कोई बिल्डर काम नहीं कर सकता। लेकिन रुपया देने के बाद भी उनके निर्माण सील कर दिए गए। बिल्डरों ने कहा केडीए के लोग ही हमसे गलत काम कराते हैं। वक्ताओं ने प्रवर्तन दस्ते के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग की। बैठक में कुछ सपा नेताओं द्वारा उत्पीड़न का मामला भी उठा। विजय प्रताप सिंह ने कहा, एक सपा नेता ने उनका निर्माण सील कराने की धमकी देकर पांच लाख रुपये वसूले। रुपया देने के बाद वह दो फ्लैट भी मांगने लगे, न देने पर सपा नेता ने केडीए की सांठ-गांठ से उनका निर्माण सील करा दिया। बैठक में बिल्डरों ने सपा नेता से रुपया वापस दिलाने का निर्णय लिया। केडीए और सपा नेताओं के वसूली और उत्पीड़न से बचने के लिये बिल्डरों ने एसोसिएशन बनाने का निर्णय किया है। इसके बाद केडीए व सपा नेताओं की वसूली और उत्पीड़न के विरोध में एसोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल लखनऊ जाकर सीएम से मिलेगा और केडीए में धरना-प्रदर्शन करेगा। बैठक में राजीव तनेजा, सुनील लालवानी, एसपी गुप्ता, अनादि तिवारी, भुवन अवस्थी, राहुल पोरवाल, तेजू गुप्ता, सोनू यादव, अजय प्रताप सिंह सहित अन्य बिल्डर थे।

बदले जाने चाहिए पुराने नियम
बैठक में कवर्ड एरिया पर एफएआर बढ़ाने की मांग की गई। बिल्डरों ने कहा भवन एवं विकास उपविधि 2008 के नियम पांच दशक पुराने हैं। जनसंख्या के मुताबिक शहर में जगह नहीं है इसलिये यह नियम बदलने चाहिये। बिल्डरों ने दिल्ली की तर्ज पर 225 वर्ग मीटर के भूखंडों पर पार्किंग प्लस फोर की व्यवस्था देने, यूनिट परचेज करने की मांग की।

सीलिंग पर उठाए सवाल
बिल्डरों ने सीलिंग की कार्रवाई पर भी सवाल उठाए। बोले, सीलिंग गलत तरीके से की जा रही है। पाण्डुनगर की एक बिल्डिंग के मामले में संबंधित बिल्डर को नोटिस भेजकर 18 तारीख तक जवाब मांगा गया था लेकिन उसे 11 को ही सील कर दिया गया।

केडीए के बोर्ड मेंबर खेल रहे खेल
अवैध निर्माण को लेकर वसूली के पीछे केडीए के एक बोर्ड मेंबर का नाम भी आ रहा है। सूत्रों ने बताया बोर्ड मेंबर के एक रिश्तेदार ने ही यह बैठक आयोजित की थी। एक बिल्डर ने बताया यह बोर्ड मेंबर अक्सर केडीए अफसरों के इर्द-गिर्द मिल जाएंगे। अफसरों से सांठ-गांठ कर बोर्ड मेंबर बिल्डरों से वसूली करने का खेल खेल रहे हैं।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

कानपुर में इतने ज्यादा मिले पुराने नोट, गिनते गिनते हो गया सवेरा

कानपुर में 80 करोड़ रुपये की पुरानी करेंसी बरामद हुई है। एक पुलिस अधिकारी ने जानकारी दी कि कानपुर पुलिस को एक बंद घर में बड़ी मात्रा में पुराने नोटों के होने के बारे में जानकारी मिली थी।

17 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper