‘सुधर जाओ... गुस्से में है पब्लिक’

Kanpur Updated Wed, 12 Dec 2012 05:30 AM IST
कानपुर। रसोई गैस एजेंसियों को अपने आफिस में नए कनेक्शन रेट और कनेक्शन ट्रांसफर करने के नियम-कानून बोर्ड लगाकर डिस्पले करने होंगे। गोदाम से सिलेंडर देने पर दाम में 15 रुपये कटौती की जाएगी। कोई भी एजेंसी संचालक चाय की पत्ती, सोलर लाइट या अन्य उत्पाद उपभोक्ताओं को नए कनेक्शन और सिलेंडर लेने पर नहीं देगा। यह निर्देश एडीएम आपूर्ति आरएन वाजपेयी ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में एजेंसी संचालकों के साथ हुई बैठक में दिए। बैठक में कई अहम निर्णय लिए गए।
उन्होंने एजेंसी संचालकों से दो टूक कहा कि उनकी मनमानी से पब्लिक काफी गुस्से में है। इसलिए सुधर जाएं वर्ना कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बीते एक सप्ताह में ‘अमर उजाला’ ‘पब्लिक कॉल’ में प्रकाशित र्हुइं समस्याओं पर उपभोक्ताओं के कनेक्शन नंबर बताते हुए एजेंसी संचालकों से जवाब तलब किया। उन्होंने बैठक की शुरुआत में भागवत गैस एजेंसी संचालक के न पहुंचने पर नाराजगी जताते हुए संबंधित ऑयल कंपनी के सेल्स अफसर से कार्रवाई के लिए कहा लेकिन बाद में वह आ गए। चकेरी, जितेंद्र, गर्ग गैस एजेंसी संचालकों को उनकी शिकायतें ज्यादा होने पर सुधारने की चेतावनी दी। साथ ही ऑयल कंपनियों के सेल्स अफसरों से उपभोक्ताओं की समस्याएं गंभीरता से सुनने को कहा। एजेंसी संचालकों ने आश्वासन दिया है कि वह अपना रवैया सुधारेंगे। बैठक में डीएसओ ब्रजेंद्र यादव, आईओसी के सेल्स अफसर मानवेंद्र भटनागर, बीपीसी के सेल्स अफसर एसके गुप्ता, एलपीजी वितरक संघ के अध्यक्ष अनिल मित्तल और महामंत्री भारतीष मिश्र मौजूद थे।

नए कनेक्शन का शुल्क
डबल सिलेंडर के कनेक्शन पर 3050 रुपये में सिलेंडर सिक्योरिटी और रेगुलेटर
दोनों सिलेंडर की गैस भराई (पहली बार नॉन सब्सिडी, केवाईसी फार्म सत्यापित न होने तक) 1847 रुपये
ब्लू बुक और एडमिनिस्ट्रेशन चार्ज 90 रुपये मिलाकर कुल 5137 रुपये
नोट : अगर चूल्हा लेंगे तो 1857 रुपये और देने होंगे। चूल्हा न लेने पर चेकिंग के 250 रुपये देने होंगे। अगर एक सिलेंडर ही लेते हैं तो ऊपर बताई राशि में 1450 रुपये सिलेंडर सिक्योरिटी और 923.50 पैसे गैस भराई के कम हो जाएंगे।

इस तरह होगा कनेक्शन ट्रांसफार्मर
कोई भी अपना रसोई गैस कनेक्शन ट्रांसफर कर सकता है लेकिन जिस व्यक्ति के नाम कनेक्शन ट्रांसफर किया जा रहा है, उसके नाम पहले से कोई कनेक्शन नहीं होना चाहिए। अगर किसी के पास दूसरे नाम से कनेक्शन है तो वह अपने नाम कागज बनवा सकता है। इसके लिए कागजों में दर्ज और वर्तमान में सिलेंडर की सिक्योरिटी राशि में आने वाले अंतर की राशि जमा करनी होगी। खून के रिश्ते मां, पिता, भाई, बहन, बेटा और बेटी के नाम अगर कोई कनेक्शन ट्रांसफर होता है तो कोई भी अतिरिक्त राशि नहीं देनी होगी। अगर किसी कनेक्शनधारक का निधन हो गया है तो मृत्यु प्रमाणपत्र, हलफनामा और जिसके नाम कनेक्शन ट्रांसफर हो रहा है उससे संबंध का प्रमाण देना होगा।

...तो नॉन सब्सिडी के सिलेंडर ही मिलेंगे
नए कनेक्शन और कनेक्शन ट्रांसफर के मामले में तब तक नॉन सब्सिडी वाला सिलेंडर मिलेगा, जब तक कनेक्शन का सत्यापन नहीं हो जाता। इसके लिए हलफनामा नहीं देना होगा।

पीएनजी पर जताई चिंता
एलपीजी वितरक संघ के अध्यक्ष एके मित्तल ने बैठक में कहा कि शहर में बढ़ते पीएनजी कनेक्शनों ने एजेंसी संचालकों को चिंता में डाल दिया है। पीएनजी कनेक्शन पर पूरी तरह सब्सिडी वाली गैस मिलती है।

एडीएम बोले, हो रही कालाबाजारी
एडीएम आपूर्ति ने कामर्शियल सिलेंडर की कम खपत के आंकड़े देखकर ऑयल कंपनियों के सेल्स अफसरों से कहा कि इससे तो लगता है कि कालाबाजारी हो रही है। इस पर सेल्स अफसरों ने बताया कि इस बीच करीब 25 फीसदी खपत बढ़ी है।

Spotlight

Most Read

National

इलाहाबाद HC का निर्देश- CBI जांच में सहयोग करे लोक सेवा आयोग

कोर्ट ने लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष को जवाब दाखिल करने के लिए छह फरवरी तक की मोहलत दी है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

जिन्होंने मथुरा और गोरखपुर में काम रोक दिए वो हज सब्सिडी क्या देंगे: अखिलेश यादव

गुरुवार को औरैया पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार पर जमकर बरसे। पूर्व सीएम पार्टी कार्यकर्ता की मृत्यु पर शोक संवेदना व्यक्त करने आये थे।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper