मौरंग माफिया ने बना रखे हैं घूस लेने के कोड वर्ड<br />

Kanpur Updated Sat, 08 Dec 2012 05:30 AM IST
कानपुर। खदान से 14000 में मौरंग खरीदकर लोगों को 26-27000 में बेचने के गोरखधंधे में बड़े-बड़े खेल हैं। इसमें होने वाली वसूली के लिए बाकायदा ‘कोड वर्ड’ बनाए गए हैं जो ट्रकों के आगे लिखे रहते हैं। मसलन अगर किसी ट्रक में ऊं नम: शिवाय लिखा है तो इसका मतलब है कि आरटीओ की इंट्री (वसूली) हो चुकी है। इसी तरह कई और कोडवर्ड हैं। हर महीने कोड वर्ड बदले भी जाते हैं। इस धंधे में महीने में करीब 4 करोड़ रुपए आरटीओ की इंट्री शुल्क के नाम पर दिए जाते हैं। रायल्टी के नाम पर होने वाली अवैध उगाही की रकम भी नीचे से ऊपर तक बंटती है। एक तरह से मौरंग माफिया की समानांतर ‘सत्ता’ चल रही है। वे सादे कागज पर रायल्टी फीस अंकित करके रसीद भी देते हैं ताकि ट्रक खान से मनचाहा वजन लोड करके निकल जाए। नवंबर में रायल्टी और इंट्री शुल्क में हुई बढ़ोत्तरी की रकम ही कम कर दी जाए तो मौरंग के रेट (800 फीट के) 14-15 हजार रुपए हो जाएंगे जो इस समय 26-27000 रुपए में मिल रही है। मौरंग माफिया के गोरखधंधे का सीधा असर जनता पर तो पड़ ही रहा है, इससे जुड़े ट्रक मालिक और कारोबारी भी प्रभावित हो रहे हैं क्योंकि वसूली चुकाने के बाद जब वे 17-18 टन मौरंग लादते हैं तो उनके वाहनों का चालान ओवरलोडिंग में भी हो जाता है। अगर रायल्टी और इंट्री शुल्क दोगुनी दें और माल निधार्रित 12 टन लादें तो ट्रक मालिकों की आमदनी तो दूर, डीजल और ट्रक खर्चा भी नहीं निकलेगा। इस गोरखधंधे की हकीकत को आरटीओ अफसर भी मानते हैं। तभी तो वह दबी जुबान से कहते हैं कि शासन के दबाव के चलते ही 9 टन के स्थान पर 12-15 भार लादने की छूट दिए हैं।


ये रहे प्रमुख इंट्री कोड जो ट्रकों के आगे लिखाए जाते हैं

- ऊं नम: शिवाय (मतलब आरटीओ की इंट्री चुका दी गई है)
- पीआर (पिंटू परिहार, आरटीओ के लिए वसूली करने वाले )
-ठाकुर साहब (आरटीओ के लिए वसूली करने वाले)
-मनन (राजू सरदार रोड लाइंस गाड़ियां पास कराने का ठेका लेने वाले )
- एचआरएल (हरजीत रोड लाइंस गाड़ियां पास कराने का ठेका लेने वाले )
- जय सियाराम (सब कुछ ओके)
-सीता राम (केवल 15 टन तक छूट)

नोट- ये कोड वर्ड नवंबर-2012 के हैं। कोड वर्ड हर महीने बदलते हैं। इन दिनों क्रास चेकिंग (3 से 17 दिसंबर) चलने के कारण नगर और देहात ने ट्रकों की इंट्री नहीं की है।

वसूली
- झांसी आरटीओ --------------- 4800 रुपए (2900-1900) दो इंट्री अलग-अलग
- नगर-देहात एक साथ------------ 3100 रुपए
- जालौन उरई-------------------3000 रुपए
- हमीरपुर---------------------- 2900 रुपए
नोट- मौरंग ढुलाई में लगे लगभग 3000 ट्रक। एक ट्रक पर इंट्री शुल्क हुआ हर महीने 13800 रुपए। कुल वसूली राशि महीने में--- 4.14 करोड़ रुपए। वसूली के ये रेट ट्रक चालकों और मालिकों के बताए अनुसार।

न पूछो भइया पग-पग पर लूट
कानपुर। ट्रक चालक मनीष शर्मा ने रायल्टी पर्ची दिखाते हुए बताया कि कुछ न पूछो भइया। खान तक पहुंचते ही सब कुछ पहले ही देना पड़ता है। कुछ कहो तो मौरंग ढुलाई का काम बंद कर दो। कहीं कोई सुनने वाला नहीं।

उम्मीदों पर फिरा पानी
कानपुर। ट्रक चालक मनमोहन उर्फ पप्पी का कहना है कि सब लोग सोच रहे थे कि नई सरकार आई है। पोंटी चड्ढा भी चले गए। अब कुछ राहत मिलेगी। पर सभी उम्मीदों पर पानी फिर गया और पहले से अधिक वसूली होने लगी।

यही हाल रहा तो बंद होंगी आढ़तें
कानपुर। नौबस्ता मौरंग मंडी के आढ़ती बब्लू पांडे का कहना है कि इसी तरह वसूली और उत्पीड़न जारी रहा तो वह दिन दूर नहीं जब मौरंग मंडी की आढ़तों पर सन्नाटा छाने लगेगा। वैसे भी ट्रक कम हो गए हैं। अब आवक रोजाना पांच सौ ट्रकों की बची है। वरना एक हजार से अधिक ट्रक दीवाली में आते थे।

आरोपों के ही चक्कर में क्रास चेकिंग
ट्रक आपरेटर्स चाहते हैं कि वह ओवरलोडिंग करके चलें पर उन्हें कोई चेक न करें। चेकिंग शुरू होते ही आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू होता है। इस कारण ही ओवरलोडिंग के खिलाफ क्रास चेकिंग का अभियान 17 दिसंबर तक चलाया जा रहा है। इसी का प्रतिफल है कि नवंबर-12 में डेढ़ करोड़ रुपए का राजस्व मिला। जबकि पिछले साल कोई 50 लाख रुपए ही आया था।
वीके सोनकिया-आरटीओ कानपुर



(कुछ कहना है, डायल करें 9675898213 )

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

दिल्ली-एनसीआर में दोपहर में हुआ अंधेरा, हल्की बार‌िश से गिरा पारा

पहले धुंध, उसके बाद उमस भरे मौसम और फिर हुई हल्की बारिश ने दिल्ली में हो रहे गणतंत्र दिवस के फुल ड्रेस रिहर्सल में विलेन की भूमिका निभाई।

23 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper