पीएनजी लाइन में आग से मची भगदड़

Kanpur Updated Sun, 02 Dec 2012 05:30 AM IST
कानपुर। दादानगर इंडस्ट्रियल एरिया में अतिक्रमण हटाने के दौरान नगर निगम की जेसीबी की टक्कर से सीयूजीएल कंपनी की पीएनजी (पाइप्ड नेचुरल गैस) लाइन टूट गई और आग लग गई। लपटें देखते ही फैक्ट्री बाहुल्य इस इलाके में भगदड़ मच गई। आसपास खड़े ट्रक व टैंकर लेकर लोग भागने लगे। फैक्ट्रियों तक आग पहुंचने की आशंका से तमाम उद्यमी काम बंद कर बाहर आ गए। जेसीबी से मौरंग डालकर लपटों पर काबू पाने की कोशिश की गई लेकिन आग नहीं बुझी। बाद में एक युवक ने लाइन का वॉल्व बंद किया और दमकलें भी आ गईं तब लपटों पर काबू पाया जा सका। उधर हादसे से गुस्साए लोगों ने नगर निगम के दस्ते को घेर कर हंगामा किया। पुलिस ने लोगों को शांत किया। सीयूजीएल का टेक्निकल स्टाफ सप्लाई बंद कराकर टूटी लाइन की मरम्मत में जुटा रहा।
दादानगर में संजीव रायजादा का नारायन इलेक्ट्रानिक धर्मकांटा और अमित अग्रवाल का श्री जीण एवरी इलेक्ट्रानिक धर्मकांटा है। नगर निगम इसे अवैध कब्जा मानता है जबकि उद्यमियों के मुताबिक यह जमीन कोपे एस्टेट की है। जमीन को लेकर मामला कोर्ट में चल रहा है। बताते हैं कि अमित का स्टे पहले वैकेट हो चुका था जबकि बीती 29 नवंबर को संजीव का स्टे भी वैकेट हो गया। शनिवार दोपहर करीब ढाई बजे नगर निगम का अतिक्रमण विरोधी दस्ता सीपी शुक्ला की अगुवाई में धर्मकांटा हटवाने दादानगर पहुंच गया। यहां विरोध के बीच कार्रवाई शुरू हुई। जेसीबी धर्मकांटा का प्लेटफार्म नहीं तोड़ सकी लेकिन जेसीबी के ताबड़तोड़ वार से प्लेटफार्म के नीचे से गुजर रही पीएनजी लाइन जरूर टूट गई। निगम अफसरों को इसका पता नहीं लग सका। पीएनजी लाइन से धीरे-धीरे गैस रिसती रही। इसी बीच निगम अफसरों ने प्लेटफार्म काटने के लिये गैस कटर मंगाया तो चिंगारियों से पीएनजी ने आग पकड़ ली। लपटें देखते ही भगदड़ मच गई। फैक्ट्रियों से लेबर व कर्मचारी बाहर आ गये और दस्ते को घेर लिया। जेसीबी से मौरंग डालकर लपटों पर काबू पाने की असफल कोशिश की गई। आग की सूचना मिलते ही दो फायर ब्रिगेड, गोविंदनगर और फजलगंज थाने की फोर्स पहुंच गई। आग फैलने की आशंका से सड़क बंद कराकर ट्रैफिक गलियों में डायवर्ट कर दिया गया। इस बीच साइट नंबर पांच के राजेश पॉल ने समझदारी का परिचय देते हुए तत्काल नजदीकी वॉल्व बंद कर गैस की सप्लाई रोक दी। इस प्रयास में उसके सिर पर चोट भी लग गई। सप्लाई बंद होने से धीरे-धीरे लपटें शांत हो गईं। राजेश ने बताया वह गैस का मिस्त्री है इसलिये उसे पीएनजी लाइन के कनेक्शन का पता था। उधर, गुस्साए लोगों ने दस्ते को घेर लिया। इंडियन इंडस्ट्रीज एसोएिशन के अध्यक्ष सुनील वैश्य, राम जसनानी सहित कई पदाधिकारी भी आ गये। पुलिस ने लोगों को समझा-बुझाकर शांत किया। इसके बाद भी धर्मकंाटे की जमीन को लेकर करीब दो घंटे तक निगम अफसरों और धर्मकांटा मालिकों के बीच तर्क चलता रहा। जोन चार के प्रभारी उपनगर आयुक्त केएस अवस्थी ने संजीव से स्टे के कागजात मांगे लेकिन वह नहीं दिखा सके। बाद में श्री अवस्थी ने संजीव और अमित से खुद ही धर्मकांटा हटाने की बात लिखाकर ले ली। उधर संजीव ने निगम अफसरों पर दादागीरी दिखाने का आरोप लगाया है। श्री अवस्थी ने मामले की रिपोर्ट नगर आयुक्त एनकेएस चौहान को दी है।

इनसेट
लाइन टूटने से उद्यमियों को लाखों की चोट
पीएनजी लाइन टूटने से दादानगर के उद्यमियों को लाखों का चूना लगा है। सीयूजीएल के ऑपरेशंस हेड सुभाष ने बताया करीब एक दर्जन फैक्ट्रियों को पीएनजी सप्लाई होती है। इसमें कई फैक्ट्रियां बिस्कुट की हैं। लाइन टूटने से उत्पादन प्रभावित हुआ। पीएनजी से चलने वाली मशीनें बंद हो गयीं। जो माल मशीनों में फंसा था वह खराब हो गया। सुभाष ने बताया सप्लाई शुरू होने में एकाध दिन का वक्त लग सकता है।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

बवाना कांड पर सियासत शुरू, भाजपा मेयर बोलीं- सीएम केजरीवाल को मांगनी चाहिए माफी

दिल्ली के औद्योगिक इलाके बवाना में शनिवार देर शाम अवैध पटाखा गोदाम में आग लगने से 17 लोगों की मौत के बाद अब इस पर सियासत शुरू हो गई है।

21 जनवरी 2018

Related Videos

कानपुर में बड़ा हादसा, मिट्टी में दबने से दो मजदूरों की मौत

शनिवार का दिन कानपुर के इन मजदूरों के लिए काल बनकर आया। दो मजदूरों की मौत तब हो गई जब वे शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के बेसमेंट की खुदाई कर रहे थे। वहीं तीन मजदूर बुरी तरह घायल हैं।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper