पनकी में मालगाड़ी के दो डिब्बे पलटे, संचालन ठप

Kanpur Updated Thu, 29 Nov 2012 12:00 PM IST
कानपुर। दिल्ली रूट पर स्थिति पनकी स्टेशन के पास आईओसी (पेट्रोलियम साइडिंग) के ट्रैक से शंटिंग करके लाई जा रही मालगाड़ी के दो डिब्बे बुधवार शाम को मेन लाइन पर आते ही पटरी से लुढ़क गए। इस कारण ओएचई लाइन का एक खंभा भी टूट गया। अप-डाउन लाइन की बिजली सप्लाई बंद होने से ट्रेनें खड़ी हो गईं। रेलवे अफसरों ने दुर्घटना की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए हैं। मौके पर राहत काम शुरू करा दिया गया। इंजीनियरिंग अमले का दावा था देर रात ही ट्रेनों का संचालन शुरू हो पाएगा। छह राजधानी, रिवर्स शताब्दी सहित 78 ट्रेनें फंसी थीं। हर ट्रेन एक से सात घंटे तक लेट हुई।
मंगलवार को मालगाड़ी का रैक बीपीसीएल साइडिंग से गया था। बुधवार शाम लगभग 6:50 बजे खाली रैक को डीजल इंजन से शंटिंग करके यार्ड में लाया जा रहा था। 10 मिनट बाद शाम 7 बजे जैसे ही मालगाड़ी का इंजन मेन लाइन पर आया तो दो खाली डिब्बे पटरी से लुढ़क गए। बिजली की मेन लाइन का खंभा टूटने से सप्लाई बंद हो गई। कंट्रोल के जरिए रेलवे अफसरों को सूचना दी गई। बिजली सप्लाई बंद होने से दिल्ली से आने वाली और हावड़ा से इटावा की ओर जाने वाली सभी ट्रेनें रास्ते में ही रोक दी गई। जबकि शिकोहाबाद इंटरसिटी को कानपुर सेंट्रल पर रोकना पड़ा। सूचना पर डीओएम आरएन सागर, इंजीनियरिंग अमला वैगन टावर (ओएचई ठीक करने वाला इंजन) के साथ मौके पर पहुंचा। रात लगभग 8 बजे राहत काम शुरू कराया गया। खबर लिखे जाने तक मंडलीय अफसर का दावा था कि ट्रैक देर रात तक चालू होगा।
------------
जांच के बिंदु
---------------
- ट्रैक का परीक्षण कब हुआ था।
- इंजन और वैगन के पहियों की परीक्षण अवधि तो नहीं खत्म हो चुकी थी।
- मालगाड़ी की स्पीड कितनी थी।
- ओवरस्पीड में तो इंजन मेन लाइन पर नहीं चढ़ा था।
-----------------
ये ट्रेनें फंसी
--------------------
- रिवर्स शताब्दी, सियालदाह राजधानी, कोलकाता राजधानी, भुवनेश्वर राजधानी, पटना राजधानी, पूर्वा एक्सप्रेस, गंगा-जमुना एक्सप्रेस, मरुधर एक्सप्रेस, अवध एक्सप्रेस, साबरमती एक्सप्रेस, लालकिला एक्सप्रेस, महाबोधि एक्सप्रेस, आम्रपाली एक्सप्रेस सहित 78 ट्रेनें।
-----------------
इनक्वायरी कक्ष में लगी रही लंबी लाइन
कानपुर। दिल्ली-हावड़ा रूट पर शाम 7 बजे से संचालन ठप होने का असर सेंट्रल स्टेशन के इनक्वायरी कक्ष पर पड़ा। सहायता कक्ष में जानकारी को लाइन लगी रही। पर ट्रेनें चलने का कोई सही जवाब नहीं दे पा रहा था। इसका प्रत्यक्ष प्रमाण यह था कि रात लगभग 8:30 बजे प्रसारण किया जा रहा था कि रिवर्स शताब्दी समय से एक घंटा तो पटना राजधानी समय से सवा घंटे विलंब से आने की संभावना है।
---------
समझ ही नहीं पाए और लुढ़के डिब्बे
कानपुर। डीजल इंजन से शंटिग करके मालगाड़ी के खाली वैगन ला रहे ट्रेन चालक वीरेंद्र यादव का कहना है कि कुछ समझ में ही नहीं आया और एकाएक खड़खड़ाहट की आवाज सुनाई दी। केबिन से झांककर देखा तो डिब्बे तिरछे दिखे। तत्काल आकस्मिक ब्रेक लगा ट्रेन रोक दी थी।

Spotlight

Most Read

Ballia

अभाविप ने फूंका केरल सरकार का पुतला

कार्यकर्ता की हत्‍या के विरोध में फूटा गुस्सा

21 जनवरी 2018

Related Videos

आत्महत्या करने से पहले युवती ने फेसबुक पर अपलोड की VIDEO, देखिए

कानपुर के पांडुनगर से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। जिसमें एक महिला ने फेसबुक पर एक वीडियो जारी कर आत्महत्या कर ली। वजह जानने के लिए देखिए, ये रिपोर्ट।

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper