हैंडलूम के 10 अफसरों पर एफआईआर

Kanpur Updated Thu, 08 Nov 2012 12:00 PM IST
कानपुर। उत्तर प्रदेश हथकरघा निगम (यूपी हैंडलूम कॉरपोरेशन) के रिवाइवल प्लान में घपला करने के आरोप में 10 अफसरों के खिलाफ काकादेव पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है। आला अधिकारियों ने इस मामले की जांच आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) से करवाने की सिफारिश की है। एफआईआर के लिए दी गई तहरीर में पूर्व कमिश्नर की जांच रिपोर्ट भी संलग्न की गई है। इसमें खरीदारी में हुई तमाम गड़बड़ियों का खुलकर जिक्र किया गया है।
निगम की दुर्दशा को दूर करने के लिए वर्ष 2005 में रिवाइवल प्लान की 10 करोड़ की पहली किस्त में घपला किया गया था। इस मामले में पहले 6 अफसरों के खिलाफ ही तहरीर देने की बात सामने आई थी लेकिन रिपोर्ट 10 अफसरों के खिलाफ दर्ज कराई गई है। आरोप है कि इन अधिकारियों ने निर्धारित प्रक्रिया को ताक पर रखकर घटिया माल की खरीद की। इसके अलावा विभिन्न इकाइयों या समितियों से की गई खरीद में क्वालिटी जांच की ही नहीं गई। खरीदे गए वस्त्रों पर रेट स्टिकर व क्वालिटी जांच की मोहर भी नहीं लगी थीं। वहीं बंगलौर के केंद्र प्रभारियों को भेजे गए पत्र में यह भी लिखा गया था कि मेसर्स अंसार हथकरघा उद्योग सहकारी समिति मुजफ्फरनगर द्वारा वस्त्रों की आपूर्ति पानीपत व हरियाणा में की गई, जांच में यह बात पूरी तरह गलत पाई गई। 10 करोड़ की खरीद कानपुर केे अलावा लखनऊ, बरेली, वाराणसी और भुवनेश्वर, कोलकाता, दिल्ली, बंगलौर, देहरादून, मुंबई आदि शहरों से की गई। पूर्व कमिश्नर अमित घोष ने अपनी जांच रिपोर्ट में स्पष्ट कहा है कि खरीद कमेटी के अफसरों ने घटिया माल को कई गुना मूल्य पर खरीदा।

इन अफसरों पर दर्ज हुई रिपोर्ट

आरके मिश्रा - 16.86 लाख, 26.86 लाख रुपए की खरीद बिना क्वालिटी जांच के की गई। उपलब्ध धनराशि से 16.19 लाख रुपए ज्यादा की खरीद की।

पीएस पांडेय - उपलब्ध धनराशि से 20.02 लाख रुपए अधिक की खरीद की। इसके अलावा घटिया माल की खरीद सहित अन्य अनियमितताएं भी बरतीं।

वीडी दुबे (वीआरएस प्राप्त) - 7.20 लाख के वस्त्र बिना क्वालिटी जांच के खरीदे। उपलब्ध धनराशि से 4.41 लाख रुपए ज्यादा के कपड़े खरीदे।

आरबी सिंह (सेवानिवृत्त) - 4.22 लाख रुपए मूल्य के वस्त्र बिना क्वालिटी जांच के खरीदे गए। खरीद में बेहद घटिया माल को अधिक मूल्य पर लिया।

मो. सईद अंसारी - 10.75 लाख रुपए के वस्त्र बिना क्वालिटी जांच के खरीदे। उपलब्ध धनराशि से 2.10 लाख रुपए अधिक की खरीदारी कर ली।

अरुण शुक्ला - 16.86 लाख रुपए की खरीददारी बिना क्वालिटी जांच के कर ली। पूर्व कमिश्नर की जांच रिपोर्ट के मुताबिक खरीद में भारी गड़बड़ियां।

अरविंद वर्मा (सेवा समाप्त) - 3.04 लाख रुपए के वस्त्र बिना क्वालिटी जांच के खरीद लिए। न्यूनतम मूल्य पर खरीद के बजाए अधिकतम दाम पर खरीदारी।

जीपी अग्रवाल (वीआरएस प्राप्त) - 4.10 लाख रुपए के वस्त्र बिना क्वालिटी जांच के खरीदे। खरीदे गए माल पर रेट व जांच के स्टिकर भी नहीं लगे थे।

आरपी पाल (दिवंगत) - 16.86 लाख एवं 26.86 लाख रुपए के वस्त्र बिना क्वालिटी जांच के खरीदे। उपलब्ध धनराशि से 34.62 लाख रुपए का माल खरीदा।

देवाशीष बनर्जी (दिवंगत) - 18.01 लाख का माल बिना क्वालिटी जांच के खरीदा। इकाइयों-समितियों से बिना मांग पत्र के कपड़ों की खरीद की।

Spotlight

Most Read

Pratapgarh

अभी तक एक भी अपात्र से नहीं हुई रिकवरी

अभी तक एक भी अपात्र से नहीं हुई रिकवरी

20 जनवरी 2018

Related Videos

IIT-K के छात्रों ने बनाया हेलीकॉप्टर, 24 घंटे उड़ने की क्षमता

IIT कानपुर में पोस्ट ग्रैजुएट स्टूडेंट्स की टीम ने एक ऐसे हेलीकॉप्टर का निर्माण किया है जो 24 घंटे तक लगातार उड़ सकने में सक्षम है। इस टीम ने अपने हेलीकॉप्टर के डिजाइन को अमेरिकी हेलीकॉप्टर कॉन्टेस्ट में भेजा जहां उन्हें जीत भी हासिल हुई।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper