6000 करोड़ की योजनाएं बनीं, मिला धेला नहीं

Kanpur Updated Wed, 24 Oct 2012 12:00 PM IST
कानपुर। शहर के विकास को लेकर बनी 6000 करोड़ रुपये की योजनाएं कब शुरू होंगी? अब इस पर सवाल उठने लगे हैं। शहर के अफसरों और शासन की बैठकों में तीन माह से अधिक का वक्त गुजर गया। कई फैसले पलट गये तो कई योजनाएं निरस्त हो गयीं। कुछ में संशोधन किया गया। लेकिन शासन ने अब तक काम के लिये एक फूटी कौड़ी तक नहीं जारी की है। ऐसे में शासन की योजनाओं को लेकर आम जनता के मन में सवाल उठने लगे हैं। आइये देखते हैं प्रमुख दस कार्यों की क्या स्थिति है।
विधायक जी के गांव थे इसलिये काम शुरू हो गया
कल्यानपुर के दस गांवों में विकास कार्यों का प्रस्ताव सत्ताधारी दल के विधायक सतीश निगम का था इसलिये केडीए ने अपने संसाधनों से यहां काम शुरू करा दिये हैं। एक गांव में डेढ़ करोड़ रुपये से काम होना है। हाल ही में विधायक ने मुख्यमंत्री से अपने विधानसभा क्षेत्र के नौ अन्य गांव की सूची भी स्वीकृत करा ली। नयी सूची मिलते ही केडीए के अफसर भी बजट के लिये शासन की तरफ देख रहे हैं।
मंधना-भौती बाइपास में अभी महीनों लगेंगे
मंधना-भौती बाइपास इतने पचड़े में फंस चुका है कि इसका काम शुरू होते-होते महीनों का वक्त लग सकता है। बाइपास बनाने के लिये केडीए को पहले एनएचएआई से एनओसी लेनी है। इसके लिये एनएचएआई को सर्वे और एलाइनमेंट रिपोर्ट देनी होगी। यह रिपोर्ट बनाने के लिये केडीए ने बीते दिन ही राइट्स कंपनी से ऑफर लेटर मांगा है। यानि काम काफी सुस्त गति से चल रहा है। ऑफर लेटर आने से सर्वे शुरू होने तक कई महीने लगने की संभावना है।
न्यू ट्रांसपोर्टनगर पर सिर्फ बैठकें और बातचीत
न्यू ट्रांसपोर्टनगर विकसित करने के लिये केडीए के अफसर साहस नहीं जुटा पा रहे हैं। अभी बैठकों और बातचीत का दौर चल रहा है। पनकी के भऊसिंह और जमोई गांव में योजना का खाका तैयार हो चुका है। यहां जमीन के मुआवजे को लेकर किसानों का केडीए से विवाद चल रहा है। मुख्यमंत्री जमीन अधिग्रहण पर सख्ती करने के संकेत दे रहे हैं लेकिन केडीए अफसर इसकी हिम्मत नहीं जुटा पा रहे। इसी चक्कर में महीनों से यह मामला लटका हुआ है।
रेडियो टैक्सी का रास्ता साफ
अत्याधुनिक और हाइटेक सुविधाओं से लैस रेडियो टैक्सी चलाने के लिये आरटीओ ने कार्रवाई शुरू कर दी है। ट्रैवल एजेंसियों से टेंडर मांगे गये हैं। इन टैक्सियों के संचालन से शहर में टेंपो को बाहर करने का रास्ता साफ हो गया है।
नो टेंपो जोन का काम शुरू
गोल चौराहा से नरोना चौराहा तक पांच करोड़ रुपये से नो टेंपो जोन के सुंदरीकरण का काम शुरू हो गया है। फाइल नियोजन विभाग से स्वीकृत होने के बाद काम में तेजी आ गयी है। यह काम मुख्यमंत्री की त्वरित आर्थिक विकास योजना से होना है।
शासन पीछे हटा, सड़क का प्रस्ताव सिमटा
शहर की 200 किलोमीटर सड़क बनाने के लिये नगर आयुक्त के प्रस्ताव से शासन पीछे हट गया है। मुख्यमंत्री ने खुद इस काम के लिये 235 करोड़ रुपये देने की बात कही थी लेकिन पिछली बैठक में मुख्य सचिव जावेद उस्मानी ने हाथ खड़े कर दिये। उन्होंने कहा दिसंबर तक जितना काम करा सकते हैं, उतने का प्रस्ताव बनाकर भेजें। अब नगर निगम नया प्रस्ताव बना रहा है। यह प्रस्ताव करीब 25 करोड़ रुपये का है। शेष सड़कों का प्रस्ताव अगले वर्ष बनाकर भेजा जायेगा।
एनओसी के चक्कर में फंसी रिंग रोड
शहर का ट्रैफिक सुधारने के लिये बनी रिंग रोड की योजना एनओसी के चक्कर में फंसी हुई है। इसका कुछ हिस्सा उन्नाव से गुजरना है जिसके लिये वहां के डीएम से एनओसी चाहिये। पहले उन्नाव के डीएम से संपर्क किया गया था लेकिन उन्होंने एनओसी नहीं दी। एक बार फिर से इसकी कोशिश की जा रही है।
डेड लाइन तय पर केस्को ढीला
शहर की बिजली व्यवस्था सुधारने के लिये मुख्य सचिव ने डेड लाइन तय कर दी है लेकिन केस्को के अफसर ढीले हैं। बिजली सुधारने के लिये मुख्यमंत्री ने करीब 700 करोड़ रुपये खर्च करने के संकेत दिये हैं। केस्को अभी प्रस्ताव ही तैयार कर रहा है जबकि मुख्य सचिव ने जून 2014 तक काम पूरा करने के निर्देश दिये हैं।
पुल बनाने के लिये ढूंढ़ रहे कंसलटेंट
गुरुदेव पैलेस से डीआईजी आवास तक फ्लाईओवर बनाने के लिये अभी कंसलटेंट ही ढूंढ़े जा रहे हैं। पिछली बैठक में मुख्य सचिव ने नयी दिल्ली से कंसलटेंट नियुक्त करने के लिये कहा था लेकिन अफसर अभी किसी से संपर्क नहीं कर सके हैं।
मंत्री जी राजी पर पैसा नहीं तो क्या करें अफसर
घंटाघर से जरीब चौकी, फजलगंज से विजयनगर चौराहा, पुराना गंगा पुल मार्ग, पूर्वी कैनाल मार्ग, पश्चिमी कैनाल मार्ग के निर्माण के लिये मुख्य सचिव जावेद उस्मानी ने संबंधित विभाग के मंत्री से चर्चा की थी। मंत्री ने हरी झंडी दे दी लेकिन पैसे के चक्कर में काम अटका हुआ है।
अफसर बोले.......
हमारी तरफ से जनता से जुड़ी सभी योजनाओं के प्रस्ताव पूरे हैं। सिर्फ बजट जारी होने का इंतजार है। जैसे ही पैसा आयेगा? काम तेजी से शुरू हो जायेंगे।
एनकेएस चौहान, नगर आयुक्त

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

14 साल के इस बच्चे ने कराई चार कैदियों की रिहाई, दान में दी प्राइज मनी

14 साल के आयुष किशोर ने चार कैदियों की रिहाई के लिए दान कर दी राष्ट्रपति से मिली प्राइज मनी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

आत्महत्या करने से पहले युवती ने फेसबुक पर अपलोड की VIDEO, देखिए

कानपुर के पांडुनगर से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। जिसमें एक महिला ने फेसबुक पर एक वीडियो जारी कर आत्महत्या कर ली। वजह जानने के लिए देखिए, ये रिपोर्ट।

21 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper