बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

छावनी में बन सकेंगी ऊंची-ऊंची इमारतें

Kanpur Updated Sat, 13 Oct 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
कानपुर। छावनी क्षेत्र में अब 30 फुट से ऊंची इमारतें बनाई जा सकेंगी। इसके लिए बिल्डिंग बायलाज में संशोधन की कवायद की जा रही है। यह जानकारी जनरल आफीसर कमांडिंग इन चीफ (मध्य कमान) अनिल चेत ने शुक्रवार को कैंट बोर्ड की बैठक में दी। उन्होंने बताया कि प्रापर्टी नीति में संशोधित करने के लिए सैद्धांतिक रूप से सहमति बन गई है। मामला आलाकमान के पास भेज दिया गया है।
विज्ञापन

आर्मी के जनरल आफीसर कमांडिंग इन चीफ (मध्य कमान) अनिल चेत पूर्वाह्न कैंट बोर्ड की बैठक में पहुंचे। सभासदों ने कहा कि छावनी सार्वजनिक चिकित्सालय में सिर्फ ओपीडी चलती है। यहां मरीजों को भर्ती करने और आपरेशन थियेटर आदि बनवाने की मांग की गई। जनप्रतिनिधियों का कहना है कि छावनी क्षेत्र में एक भी मैरिज हाल नहीं है। शादी आदि समारोह स्कूलों में किए जाते हैं। इससे पढ़ाई भी प्रभावित होती है। इसलिए छावनी और सिविल क्षेत्र में एक - एक मैरिज हाल बनवाया जाए। पानी जल कल विभाग से आता है, यदि ओवरहैड टैंक बना दिया जाए तो राहत मिलेगी। अनित चेत ने इन तीनों मामलों में प्रोजेक्ट फाइल मांगी। कैंट में शमशान घाट न होने पर तय हुआ कि गोल्फ कोर्स के आगे ढबका नाले के पास शमशान घाट बनेगा। सभासदों ने जमीन संबंधी नीति बदलने की मांग की। इस पर सैद्धांतिक रूप से सहमति जताई गई। बताया गया कि बिल्डिंग बायलाज बदलने के लिए सिकंदरा, देवदाली समेत कई छावनी बोर्ड मॉडल तैयार कर रहे हैं। अनिल चेत ने यह भी बताया कि गोलाघाट, जयपुरिया और खपरामोहाल क्रासिंग पर रेलवे ओवरब्रिज बनाने के लिए एनओसी पास हो चुकी है। इसे स्वीकृति के लिए उच्च अफसरों के पास भेजा गया है।

बैठक में सभासदों ने कहा कि गरीब आदमी अवैध अतिक्रमण करता है तो उसे गिरा दिया जाता है। जबकि कानपुर क्लब में धड़ल्ले से अवैध निर्माण हो रहा है। इसे भी गिराया जाए। मुख्य अधिशाषी अधिकारी एनवी सत्यनारायण ने अधिकारों की बात कही तो अनिल चेत ने मेरठ में कार्रवाई होने का हवाला देते हुए एक्शन के लिए कहा। तय हुआ कि सीलिंग की कार्रवाई की जाएगी।
बैठक में सभासद लखन ओमर, अरविंद त्रिवेदी, महेश चंद्र, रामप्रकाश, सादिका बेगम, परवीन नवाब, बबिता सोनकर, बिग्रेडियर जेएस खेड़ा, डा.अंजलि आलम, गैरिसन इंजीनियर एसके सिंह शामिल रहे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X