‘इलाज का बकाया भुगतान हो’

Kanpur Updated Mon, 08 Oct 2012 12:00 PM IST
कानपुर। जिला उपभोक्ता फोरम ने एक मामले की सुनवाई करते हुए डीएमएसआरडीई के डाइरेक्टर और सीजीएचएस के डिप्टी डाइरेक्टर को इलाज का बकाया 15150 रुपये का भुगतान करने का आदेश दिया है।
केडीए कालोनी देहली सुजानपुर निवासी राधा रमन ने मधुराज नर्सिंग होम स्वरूप नगर, डिफेंस मैटेरियल्स एंड स्टोर्स रिसर्च एंड डेवलपमेंट (डीएमएसआरडीई) के डाइरेक्टर, सेंट्रल गवर्नमेंट हेल्थ स्कीम (सीजीएचएस) के डिप्टी डाइरेक्टर और शाखा प्रबंधक न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी बेनाझाबर के खिलाफ वाद दाखिल किया था। इसमें कहा था कि वह सीजीएचएस का लाभ लेने का अधिकारी है। अचानक बीमार होने से वह 9 सितंबर से 9 अक्तूबर 2003 तक आईसीयू में भर्ती रहा। इस उसका बेटा दिलीप कुमार भी बीमार पड़ गया। वह 18 से 23 सितंबर 2003 तक भर्ती रहा। मधुराज नर्सिग होम ने उससे बिल संख्या 3877 पर 76138, बिल संख्या 4443 पर 15153 और पहले नकद 39422 रुपये, कुल 130713 रुपये लिए। उसने अपने बिल 130713 रुपये के भुगतान को अर्जी दी तो 27 जनवरी 2004 को 114872 रुपये अदा कर दिया गया। बेटे के इलाज का 15841 रुपये नहीं दिया गया। फोरम अध्यक्ष एलबी सिंह, सदस्य गनेश प्रसाद और सुमनलता शर्मा ने 5 अक्तूबर को फैसला सुनाया कि वादी का बेटा दिलीप कुमार सीजीएचएस द्वारा जारी योजना के अंतर्गत मेडिकल सुविधा पाने का अधिकारी है। इसलिए 60 दिन के अंदर 15150 रुपये का भुगतान किया जाए।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ताबड़तोड़ डकैतियों से हिली सरकार, प्रमुख सचिव ने अधिकारियों को किया तलब

राजधानी में एक हफ्ते के अंदर हुई ताबड़तोड़ डकैती की वारदातों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

थर्ड डिग्री से डरे युवक ने पुलिस कस्टडी में पिया तेजाब

एक लूट के मामले का जब उन्नाव पुलिस खुलासा नहीं कर पाई तो उसने एक शर्मनाक कृत्य को अंजाम दिया।

23 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper