अठन्नी का सवाल है बाबा

Kanpur Updated Mon, 08 Oct 2012 12:00 PM IST
आशुतोष मिश्र
कानपुर। गैस एजेंसी संचालकों के दोनों हाथों में लड्डू हैं। सिलेंडर पर कमीशन बढ़ गया है साथ ही अब सब्सिडी वाला रसोई गैस सिलेंडर 416.50 रुपये में मिलने से 50 पैसे का झंझट भी उन्हीं के फायदे का है। अठन्नी अब चलती नहीं है ऐसे में एजेंसी वाले 416.50 रुपये के बदले 417 रुपये ही लेंगे। अठन्नी के चक्कर में रोज करीब 8 हजार रुपये एजेंसी वालों को अतिरिक्त मिलेंगे। होम डिलेवरी न लेकर गोदाम से सिलेंडर लेने वाले उपभोक्ताओं के 8 रुपये तो एजेंसी वाले पहले से ही मार रहे हैं। इस तरह शहर के उपभोक्ताओं से नियम-कानून ताक पर रखकर हर माह करीब 21,12,000 रुपये का चूना लगाया जा रहा है। हर एजेंसी संचालक इससे करीब 46,933 रुपये की ऊपरी कमाई कर रहा है।
शहर में रविवार से सब्सिडी वाला रसोई गैस सिलेंडर 416.50 रुपये में दिया जाने लगा है। अभी तक घरेलू सिलेंडर 405 रुपये का मिल रहा था। एजेंसी संचालकों को अभी तक 16 रुपये प्रति सिलेंडर कमीशन मिलता था। लेकिन अब यह बढ़कर 27.50 रुपये हो गया है। 11.50 पैसे कमीशन बढ़ने से ऊपरी कमाई का एक और जरिया मिल गया है। 50 पैसे वापस करने का कोई चक्कर नहीं है। रोजाना 16000 सिलेंडरों की आपूर्ति के 50 पैसे जोड़ दिए जाए तो एजेंसी संचालकों की जेब में 8 हजार रुपये और आ जाएंगे। रियायती दरों पर मिलने वाले रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में 8 रुपये होम डिलेवरी का चार्ज भी जुड़ा हुआ है। पर शहर में कुछ ही सिलेंडरों की होम डिलेवरी होती है। अधिकतर एजेंसी संचालक होम डिलीवरी न करके प्वाइंट (ट्रक खड़ा करके सिलेंडर वितरण) से सिलेंडर देते हैं। इसके बावजूद 8 रुपये उपभोक्ताओं से वसूलते हैं। अब गौर करें, शहर में रोजाना करीब 16 हजार सिलेंडरों की आपूर्ति होती है। इसमें से करीब 40 फीसदी ही सिलेंडरों की होम डिलीवरी होती है। लगभग 60 फीसदी यानी 8800 लोगों को प्वाइंट या गोदाम से सिलेंडर दिए जाते हैं। यानी उपभोक्ताओं से 72400 रुपये रोजाना वसूले जा रहे हैं। इस तरह हर माह गैस एजेंसी संचालकों की जेब में करीब 21,12,000 रुपये जा रहे हैं। शहर में आईओसी की 33, बीपीसी की 6 और एचपीसी की 6 मिलाकर कुल 45 एजेंसियां है। देखा जाए तो हर एजेंसी संचालक हर माह करीब 46933 रुपये की ऊपरी कमाई कर रहा है।

इनसेट-
क्या बोले जिम्मेदार
गोदाम से सिलेंडर लेने पर 8 रुपये कम लेने का नियम है। उपभोक्ता सिलेंडर गोदाम के बजाय नजदीकी प्वाइंट से लेता है। इसलिए 8 रुपये कम नहीं किए जाते हैं। गोदाम से प्वाइंट तक गाड़ी लाने में काफी खर्च आता है। अगर किसी उपभोक्ता को ऐतराज है तो वह होम डिलीवरी की सुविधा खत्म करके 8 रुपये कम पर सीधे गोदाम से सिलेंडर से ले सकता है।
-भारतीश मिश्र, महामंत्री एलपीजी वितरक संघ

मुझे जानकारी नहीं थी। अगर होम डिलीवरी के बजाय गोदाम से सिलेंडर लेने पर 8 रुपये कम नहीं किए जा रहे हैं। ये उपभोक्ता से धोखाधड़ी है इस मामले पर एजेंसी संचालकों को सोमवार को पत्र लिखा जाएगा। ऐसा होने पर कोई भी उपभोक्ता उनके दफ्तर में शिकायत कर सकता है।
-आरएन वाजपेयी, एडीएम आपूर्ति


उपभोक्ता फोरम जाएं
होम डिलीवरी नहीं देने के बावजूद 8 रुपये लिए जाने पर जिला उपभोक्ता फोरम में वाद दाखिल कराया जा सकता है। उपभोक्ता संरक्षण कल्याण समिति केसचिव पदममोहन मिश्र ने बताया कि यह मुद्दा उन्होंने कई बार उठाया। एडीएम आपूर्ति से भी शिकायत की थी। कोई कार्रवाई न होने पर लोगों को उपभोक्ता फोरम में वाद दाखिल करने की सलाह दी गई। इस समय कई मामले फोरम में विचाराधीन हैं।

Spotlight

Most Read

Meerut

राहुल काठा की सुरक्षा में पेशी

राहुल काठा की सुरक्षा में पेशी

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: कानपुर में गंगा बैराज में जा गिरी कार और फिर...

वो कहते हैं न जाको राखे साईंया मार सके न कोई। ऐसा ही कुछ कानपुर में सोमवार देखने को मिला। कोहरे कि वजह से एक कार गंगा बैराज में जा गिरी। वहीं मौके पर मौजूद गोताखोरों ने कार सवार सभी लोगों की जान बचा ली है।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper